• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Government's Earnings Will Not Be Affected By Reducing Tax, Will Get Rs 2000 Crore More Than Last Year

पेट्रोल 5 तो डीजल 6 माह में सबसे सस्ता:टैक्स घटाने से सरकार की कमाई पर असर नहीं, पिछले साल से 2000 करोड़ रुपए ज्यादा मिलेंगे

भोपाल24 दिन पहलेलेखक: गुरुदत्त तिवारी
  • कॉपी लिंक
तेल कंपनियों का अनुमान है कि इस बार प्रदेश में 825 करोड़ ली. पेट्रोल-डीजल बिकेगा, जबकि पिछले साल 730 करोड़ ली. बिका था। - Dainik Bhaskar
तेल कंपनियों का अनुमान है कि इस बार प्रदेश में 825 करोड़ ली. पेट्रोल-डीजल बिकेगा, जबकि पिछले साल 730 करोड़ ली. बिका था।

मप्र सरकार ने दिवाली के दिन पेट्रोल पर 4% वैट (अब 29%) और एडिशनल टैक्स 2 रु./ली. (अब 2.5 रु.) घटा दिया है। डीजल पर वैट 4% (अभी 19%) तो एडिशनल टैक्स 50% घटाया है। इससे कुल मिलाकर मप्र में पेट्रोल 11.60 रु. और डीजल 17.02 रु. प्रति लीटर सस्ता हुआ है। यह पेट्रोल का 5 महीने जबकि डीजल का 6 महीने का सबसे निचला स्तर है।

अब बात सरकार की कमाई की। मप्र में पेट्रोल 9.76% तो डीजल 15.77% सस्ता हुआ है, बावजूद इसके सरकार की कमाई इस वित्त वर्ष में पिछले साल की तुलना में करीब 2 हजार करोड़ रुपए ज्यादा रह सकती है। दरअसल, पिछले वित्त वर्ष में पेट्रोल-डीजल से सरकार को 11,900 करोड़ रु. मिले थे।

इस वित्त वर्ष यानी 2021-22 में 31 अक्टूबर तक वह कुल गैर जीएसटी राजस्व से 8326 करोड़ रु. (इसमें पेट्रोल-डीजल का हिस्सा 7500 करोड़ रु.) कमा चुकी है। जबकि लक्ष्य के मुताबिक इस अवधि तक 6659 करोड़ रु. ही कमाने थे। अर्थव्यवस्था पर कोविड का असर कम होने से राज्य में पेट्रोल-डीजल की बिक्री इस साल बीते एक दशक में सबसे ज्यादा हो रही है।

तेल कंपनियों का अनुमान है कि इस बार प्रदेश में 825 करोड़ ली. पेट्रोल-डीजल बिकेगा, जबकि पिछले साल 730 करोड़ ली. बिका था। दोनों पर वैट और एडिशनल टैक्स में कटौती से सरकार को अगले पांच महीने में 2100 करोड़ रु. का नुकसान हो सकता है, लेकिन करीब 100 करोड़ ली. पेट्रोल-डीजल ज्यादा बिकने से उसकी कमाई का अनुमान 13900 करोड़ रु. हो जाएगा, जो कि पिछले साल के मुकाबले 2000 करोड़ रु. ज्यादा है।

खबरें और भी हैं...