तीसरी लहर में मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा:MP में 24 घंटे में सबसे ज्यादा 9 मौतें, इंदौर में 6 ने तोड़ा दम; 8 दिन में 56 लोग गंवा चुके जान

मध्यप्रदेशएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश में कोरोना के केस भले ही कम हो गए हों, लेकिन मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। जिसके बाद वे सभी दावे झूठे साबित हो रहे हैं, जिनमें कहा गया था कि तीसरी लहर जानलेवा नहीं होगी। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 9 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। इंदौर में सबसे ज्यादा 6 लोगों की मौत हुईं। तीसरी लहर में मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। बीते 8 दिनों में 56 संक्रमित जान गंवा चुके हैं।

1 जनवरी से 21 जनवरी के बीच प्रदेश में 29 मौतें हुई थीं। 21 जनवरी को 11 हजार 275 केस मिले थे। इसके बाद नए केसों में जरूर कमी आई, लेकिन मौत के आंकड़े बढ़ते गए। 22 से 29 जनवरी तक 56 संक्रमितों की मौत हो गई। यानी रोजाना औसत 8 लोगों ने कोरोना की वजह से दम तोड़ा। पिछले 24 घंटे में इंदौर में 6, उज्जैन, रतलाम और रायसेन में 1-1 मौत रिपोर्ट की गई है।

प्रदेश में कोरोना के 627 केस बढ़े, फिर 9 हजार पार

प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 9305 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। इससे पहले 27 जनवरी को 8678 केस मिले थे। यानी एक ही दिन में 627 केस बढ़ गए। 2 दिन से आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। इसके साथ ही मौतें भी हो रही हैं। इंदौर में केस घटे हैं, लेकिन मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। 3 दिन में 10 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। मौत के मामलों में इंदौर प्रदेश में पहले नंबर पर है।

ऑक्सीजन सपोर्ट वालों का आंकड़ा भी बढ़ा

प्रदेश में कोरोना केस और मौत के साथ ही अस्पताल में भर्ती और ऑक्सीजन सपोर्ट वाले मरीजों का आंकड़ा भी बढ़ने लगा है। करीब 1300 मरीज इस समय हॉस्पिटल में भर्ती है। इनमें से 500 से ज्यादा ऑक्सीजन सपोर्ट पर है।

ऐसे बढ़ी मौत की रफ्तार

प्रदेश में 1 से 21 जनवरी के बीच 29 संक्रमितों ने दम तोड़ा। इसके बाद केस घटने लगे, लेकिन मौत की रफ्तार बढ़ गई। 22 जनवरी को 8, 23 जनवरी को 6, 24 जनवरी को 7, 25 जनवरी को 8, 26 जनवरी को 6, 27 जनवरी को 7, 28 जनवरी को 5 और 29 जनवरी को 9 संक्रमित की मौत रिपोर्ट की गई।

भोपाल में फिर सबसे ज्यादा केस

बीते 24 घंटे में राजधानी भोपाल में फिर सबसे ज्यादा केस मिले हैं। यहां पर 1936 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। हालांकि मौत किसी की नहीं हुई। इंदौर में 1784, जबलपुर में 662 केस मिले। उधर सीहोर में 300, विदिशा में 253, ग्वालियर में 228 और होशंगाबाद में 199 केस मिले।

वहीं, बैतूल में 181, बालाघाट में 178, धार में 173, उज्जैन में 164, रायसेन में 160, खरगोन में 154, कटनी में 159, रीवा में 151, सिवनी में 131, रतलाम में 120, सागर में 115, दतिया में 115, छतरपुर में 110, खंडवा में 109 और सीधी में 102 संक्रमित मिले हैं।

सभी जिलों में नए संक्रमित मिले

प्रदेश के सभी 52 जिलों में नए संक्रमित मिले हैं। आगर में 61, अलीराजपुर में 28, अनूपपुर में 21, अशोकनगर में 86, बड़वानी में 74, भिंड में 20, बुरहानपुर में 6, छिंदवाड़ा में 77, दमोह में 94, देवास में 51, डिंडौरी में 40, गुना में 61, हरदा में 93, झाबुआ में 93, मंडला में 53, मंदसौर में 96, मुरैना में 50, नरसिंहपुर में 78, नीमच में 79, निवाड़ी में 42, पन्ना में 66, राजगढ़ में 88, सतना में 74, शहडोल में 70, शाजापुर में 80, श्योपुर में 41, शिवपुरी में 88, सिंगरौली में 38, टीकमगढ़ में 38 और उमरिया में 35 केस मिले।

खबरें और भी हैं...