पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Home Minister Narottam Mishra Said – Shivraj Ji Is And Will Remain The CM. Whatsapp University Whose Degree Is Not Required To Become Vice Chancellor, The News Which Is Going Viral Is Fake

BJP ने नेतृत्व परिवर्तन की खबरों को फर्जी बताया:गुप्त बैठकों के बाद तेज हुईं अटकलों पर सफाई; नरोत्तम मिश्रा बोले- शिवराज ही हमारे CM, विजयवर्गीय ने कहा- मैं दौड़ में नहीं

भोपाल2 महीने पहले

मध्य प्रदेश भाजपा संगठन के नेताओं की आपसी मुलाकातों को लेकर लगाई जा रहीं अटकलों पर सोमवार को विराम लगता दिख रहा है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोशल मीडिया पर चल रही सत्ता और संगठन में परिवर्तन की खबरों को फेक बताया। मिश्रा ने कहा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमारे मुख्यमंत्री थे, हैं और रहेंगे। सोशल मीडिया पर चल रही खबरें फेक हैं। मिश्रा ने कहा कि वाट्सऐप ऐसी यूनिवर्सिटी है, जिसका वाइस चांसलर बनने के लिए डिग्री की जरूरत नहीं है, जो खबरें वायरल हो रही हैं, वह फर्जी हैं।

इसके बाद भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों को खारिज किया। उन्होंने कहा, प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के नेतृत्व में ही चलेगा। उन्होंने खुद को सीएम की दौड़ से बाहर बताते हुए कहा कि मैं अभी कहीं और लगा हूं।

बता दें, पिछले कुछ दिनों से मध्य प्रदेश में भाजपा संगठन और आरएसएस पदाधिकारियों का एक-दूसरे से मुलाकातों का दौर चल रहा था। इनमें बंद कमरे में बैठक हो रही थी। इसे लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग कयास लगाए जा रहे थे। इसकी शुरुआत कुछ दिन पहले भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से अचानक मुलाकात करने के बाद शुरू हुई। इसके बाद विजयवर्गीय ने सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल से भी दिल्ली में मुलाकात की।

BJP में सियासी अटकलों के 3 कारण:बंगाल से फ्री हुए विजयवर्गीय सहित नेताओं की बैठकें; होल्ड पर रखे गए सिंधिया का अचानक MP दौरा और दमोह चुनाव में हार ने पकाई ये 'खिचड़ी'

इन मुलाकातों के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने भी गृहमंत्री से बंद कमरे में मुलाकात की। इसके बाद बीडी शर्मा और संगठन के अन्य पदाधिकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी मुलाकात करने पहुंचे। नेताओं की मुलाकात का दौर भोपाल से लेकर दिल्ली तक चला। इसके बाद सत्ता और संगठन में बड़े बदलाव के कयास लगाए जाने लगे। एक दिन पहले राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल दौरे पर आने की खबर ने भी अटकलों को हवा दे दी।

इसके बाद सोशल मीडिया पर खबरें वायरल होने लगीं कि शिवराज सिंह चौहान केन्द्र में जाएंगे। उनकी जगह राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और प्रदेश अध्यक्ष और सांसद बीडी शर्मा के नाम मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल हैं। इसके बाद एक दूसरी खबर चलने लगी कि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने 30 विधायकों के साथ मुख्यमत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। हालांकि इन खबरों को भाजपा संगठन से जुड़े लोगों ने असत्य बताया। अब गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के बयान ने सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है।

भोपाल में नेताओं का जमावड़ा सामान्य है

नेताओं का भोपाल में जमावड़ा और सीएम का दिल्ली दौरे को लेकर कैलाश विजयवर्गीय का कहना था, यह सामान्य बात है, लेकिन पत्रकारों को रोजाना नई कहानी मिल रही है। आप रोज कहानियां लिखें, लेकिन किसी की बात में दम नहीं है। सिंधिया के भोपाल दौरे को लेकर विजयवर्गीय ने साफ कर दिया कि यह सामान्य आना जाना है।

BJP प्रदेश संगठन में परिवर्तन की अटकलें:सांसद ज्योतिरादित्य 9 जून को आ सकते हैं भोपाल; संगठन को लेकर मुख्यमंत्री से भी कर सकते हैं मुलाकात

खबरें और भी हैं...