पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • In The Settlement Camp Of Lease mutation Cases, Traders Are Paying Rent For Years, Yet The Corporation Is Giving 1 1 Lakh Dues

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शिविर:लीज-नामांतरण के मामलों के निपटान शिविर में व्यापारी बाेले- बरसों से किराया दे रहे फिर भी निगम बता रहा 1-1 लाख बकाया

भोपाल10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
व्यापारियों ने यह भी कहा- 5 साल का किराया माफ करें - Dainik Bhaskar
व्यापारियों ने यह भी कहा- 5 साल का किराया माफ करें
  • निगम उपायुक्त शुक्ला ने कहा- रसीद दिखा दीजिए, बकाया कम हो जाएगा

‘हमने दुकानों का नगद किराया जमा किया,  लेकिन नगर निगम के रिकार्ड में हर दुकान पर लगभग एक- एक लाख रुपए बकाया हैं। यह राशि हम कहां से जमा करें। यही नहीं 2014 से 2019 तक तो वहां टंकी को गिराने का काम चला। इस दौरान हमारा व्यवसाय ठप ही रहा। पांच साल का किराया माफ किया जाना चाहिए।’

यह बात मंगलवार को शाहजहांनाबाद पुरानी अदालत के पास पानी की टंकी के नीचे बनी 20 दुकानों के व्यापारियों ने कही। यह व्यापारी नगर निगम द्वारा आयोजित लीज नवीनीकरण व नामांतरण आदि के मामले निपटाने के लिए आईएसबीटी में आयोजित शिविर में पहुंचे थे। शाहजहांनाबाद के व्यापारी रतन सचदेवा ने कहा कि दुकानें 1982 में आवंटित हुईं थीं। पहले किराया प्रतिमाह 60 रुपए था, अब यह 800 हो गया है। 2015 तक निगम नगद ही किराया ले रहा था। इस दौरान किराए की वसूली और खाते में उसे दर्ज करने में काफी गड़बड़ी हुईं हैं। इस पर उपायुक्त विनोद शुक्ला ने व्यापारियों से कहा कि रसीदें दिखाने पर राशि को बकाया में से कम कर दिया जाएगा। व्यापारियों से बुधवार को वार्ड कार्यालय में आवेदन देने को कहा है।

लीज नवीनीकरण और नामांतरण के 1500 मामले
राजधानी में नगर निगम के लीज नवीनीकरण और उसके नामांतरण से जुड़े करीब डेढ़ हजार मामले लंबित हैं। कई मामले ऐसे हैं जिनमें मूल आवंटी ने दुकान किसी अन्य को बेच दी। अब वो व्यक्ति अपने नाम से ट्रांसफर कराना चाहता है। इसके अलावा मूल आवंटी के निधन के बाद उसके परिजन के नाम ट्रांसफर के भी मामले लंबित हैं।

एक माह के भीतर हो जाएगा सबका निपटारा
उपायुक्त शुक्ला ने कहा कि मंगलवार को शिविर में करीब 125 आवंटी आए थे। यहां आए लीज नवीनीकरण के मामले एक सप्ताह में निपट जाएंगे। नामांतरण में विज्ञापन जारी करके 15 दिन में  दावे- आपत्ति लिए जाते हैं। लेकिन कुल मिलाकर एक माह के भीतर सबका निपटारा हो जाएगा। जो शिविर में नहीं आए वे वार्ड कार्यालय जाकर आवेदन दे सकते हैं।

संपत्तिकर... 5 हजार मामलों में आपत्ति

लीज की तरह संपत्तिकर के खातों में नामांतरण व आपत्तियों  के लिए भी निगम शिविर लगाएगा। संपत्ति कर  के बिल में आपत्ति के शहर में पांच हजार से अधिक मामले हैं। यदि यह निपट जाएं तो निगम को 150 करोड़ रुपए की आय हो सकती है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें