• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • In This Government School, Apart From 25 Smart Class Rooms, E library And Hostel, Computer Lab, 2000 Books Will Also Be Available Here.

सीएम राइज योजना के तहत बना स्कूल:इस सरकारी स्कूल में 25 स्मार्ट क्लास रूम, ई लाइब्रेरी और हॉस्टल, कम्प्यूटर लैब के अलावा यहां 2000 पुस्तकें भी मिलेगी

भोपाल3 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबोलिया
  • कॉपी लिंक
जहांगीराबाद का रशीदिया मीडिल स्कूल - Dainik Bhaskar
जहांगीराबाद का रशीदिया मीडिल स्कूल

यह तस्वीर जहांगीराबाद के रशीदिया मीडिल स्कूल की है। सीएम राइज योजना के तहत यह स्कूल बनाया गया है। यहां हर क्लास रूम को स्मार्ट क्लास के कॉन्सेप्ट पर बनाया गया है। सभी क्लास रूम में इंटरएक्टिव बोर्ड लगाए गए हैं। प्राइमरी कक्षाओं के स्टूडेंट्स के लिए कलरफुल चाइल्ड फ्रेंडली फर्नीचर रखा गया है। ई लाइब्रेरी भी है, जिसमें नेशनल बुक ट्रस्ट से ली गई 2000 पुस्तकें हैं।

कंप्यूटर लैब भी एडवांस टेक्नोलॉजी से लैस है। यहां की बिल्डिंग और ग्राउंड शहर के कई प्राइवेट स्कूलों से भी बेहतर है। संयुक्त संचालक लोक शिक्षण आरएस तोमर कहते हैं कि भोपाल संभाग आयुक्त कवींद्र कियावत के आइडिया से कन्वर्जेंस मॉडल पर यह स्कूल बिल्डिंग बनाई और उसमें बाकी आधुनिक इंतजाम किए गए हैं।

सभी विभागों ने मिलकर जुटाई सुविधाएं

  • इस मॉडल के तहत बीडीए, स्मार्ट सिटी कंपनी, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी की पीआईयू और स्कूल शिक्षा विभाग ने मिलकर यह तमाम सुविधाएं जुटाई हैं। इन सबने मिलकर अभी तक इस पर करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च किए हैं। बिल्डिंग में ग्राउंड फ्लोर मिलाकर तीन फ्लोर हैं। इनमें 25 स्मार्ट क्लासरूम हैं।
  • तोमर ने बताया कि बिल्डिंग और इंतजाम देखकर वे पालक भी यहां पहुंचे, जिनके बच्चे प्राइवेट स्कूलों में पढ़ते हैं। पिछले 15 दिनों में ऐसे करीब 60 लोग पहुंचे। इसीलिए हमने क्लास फर्स्ट में एडमिशन के लिए 10 फ़ीसदी वेटिंग का निर्णय लिया है। आठवीं तक 320 बच्चों की स्ट्रैंथ हो चुकी है।
  • यहां हॉस्टल में भी कई आधुनिक सुविधाएं हैं। इसमें करीब 100 छात्रों के रहने की व्यवस्था रहेगी।

सुधार यहां से...दिल्ली के सरकारी स्कूलों में यह कवायद की गई
शैक्षणिक मामलों के जानकार रमाकांत पांडे के मुताबिक दिल्ली सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे कुछ बड़े एनजीओ की मदद से कई सुधार किए । वहां स्कूल एजुकेशन क्वालिटी एनहैंसमेंट प्रोग्राम के तहत क्वालिटी में सुधार किया गया है। टीचर्स के ऊपर मेंटोर को नियुक्त कर मॉनिटरिंग कराई गई। 2 साल पहले मध्य प्रदेश से स्कूल शिक्षा विभाग की टीम दिल्ली के स्कूलों का दौरा करने पहुंची थी।

खबरें और भी हैं...