• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Rani Kamlapati Station To Jabalpur Jan Shatabdi Vistadome Coach; Know Train Time Table, Stoppage, Route

ट्रेन में बैठकर निहारी कुदरत की खूबसूरती:जबलपुर जनशताब्दी में विस्टाडोम कोच; ट्रांसपेरेंट छत, 180 डिग्री तक घूमने वाली कुर्सियां

भोपालएक महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे

रानी कमलापति-जबलपुर जनशताब्दी एक्सप्रेस (12061) में विस्टाडोम कोच की फैसिलिटी मंगलवार से शुरू हो गई है। विस्टाडोम कोच के साथ ट्रेन शाम 5.40 बजे रानी कमलापति रेलवे स्टेशन से रवाना हुई। पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने ट्रेन को रवाना किया। मौके पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी मौजूद रहीं।

उधर, जबलपुर से रानी कमलापति आने वाली जबलपुर-रानी कमलापति जनशताब्दी एक्सप्रेस (12062) में जबलपुर स्टेशन से 17 अगस्त से विस्टाडोम कोच लगेगा। इस कोच की खासियत यह है कि इसकी छत ट्रांसपेरेंट है। बड़ी-बड़ी कांच वाली खिड़कियां और 180 डिग्री तक घूमने वाली कुर्सियां भी इस कोच को खास बनाती हैं। एक सीट का किराया रानी कमलापति स्टेशन से जबलपुर के बीच 1350 रुपए है।

चेन्नई में बने इस कोच में पैसेंजर्स को फ्री वाई-फाई फैसिलिटी है। कोच 44 सीटर है। रेलवे काउंटर या IRCTC की वेबसाइट पर रिजर्वेशन करा सकते हैं। ऑप्शन में विस्टाडोम चुनना होगा।

इस कोच को और कौन सी खूबियां खास बनाती हैं, जानिए...

  • कोच में एक ऑब्जर्वेशन लाउंज बनाया गया है। इसमें तीनों तरफ से कांच की बड़ी-बड़ी विंडो हैं। यहां खड़े होकर यात्री नजारों को और बेहतर तरीके से देख सकेंगे।
  • सबसे खास इसका ग्लास रूफ टॉप (छत) है। यह नैनो टेक्नोलॉजी से बनाया गया है। लाइट शुरू होते ही यह रूफ टॉप शीशे की तरह पारदर्शी हो जाएगा।
  • कोच की सीट 180 डिग्री तक घूम सकती है। दो सीट एक साथ जुड़ी हैं। इन्हें घुमाकर आप पीछे की ओर वाली सीट की तरफ भी मुंह कर सकते हैं। हर सीट में चार्जिंग पॉइंट दिया गया है।
  • फ्री वाई-फाई तो होगा ही, फिल्म और सॉन्ग्स भी प्ले किए जाएंगे। रेलवे के स्पेशल पैकेज और टूरिस्ट स्पॉट की भी जानकारी दी जाएगी।
  • दोनों तरफ ऑटोमैटिक स्लाइडिंग गेट हैं। गेट के पास ही मल्टी-टियर स्टील के रैक बनाए गए हैं। इसी में पैसेंजर को लगेज रखना होगा।
  • माइक्रोवेव ओवन, कॉफी मेकर और रेफ्रिजरेटर के साथ एक मिनी पेंट्रीकार है।
  • सुरक्षा के लिए कोच 6 CCTV कैमरे से लैस है। छत और खिड़कियों का कांच लैमिनेटेड ग्लास से बना है। इससे ये टूटेंगे नहीं।
  • फायर अलार्म लगे हैं। दो इमरजेंसी विंडो हैं। विंडो के ऊपर एक हैंडल दिया गया है। इसको खींचते ही रबर निकल जाएगी। इससे विंडो का ग्लास अंदर की तरफ गिर जाएगा और पैसेंजर्स को बाहर निकलने के लिए रास्ता बन जाएगा।

यही रूट क्यों चुना गया?

रानी कमलापति से जबलपुर का रूट इसलिए चुना गया, क्योंकि इस रूट पर जंगल, पहाड़ और भरपूर हरियाली है। जंगली जानवर भी देखने को मिल जाते हैं। पचमढ़ी, समरधा के जंगल, सतपुड़ा टाइगर रिजर्व इसी रूट पर है। बुधनी के पास मिडघाट का जंगल है। यहां ट्रेन 360 डिग्री तक घूमती है। होशंगाबाद से पिपरिया के बीच झरने बहते हैं। पैसेंजर्स ट्रेन के गेट पर खड़े होकर नजारे देखते हैं। ऐसे में विस्टाडोम कोच में लोग सेफ रहकर खूबसूरत वादियों को निहार सकते हैं।

यहां होगा स्टॉपेज

जबलपुर से रानी कमलापति स्टेशन के बीच यह ट्रेन होशंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, गाडरवाड़ा, करेली, नरसिंहपुर, श्रीधाम, मदन महल में रुकेगी।

ट्रेन का टाइम टेबल

रानी कमलापति से यह ट्रेन शाम 5.40 बजे रवाना होती है। जबलपुर स्टेशन पर यह रात 10.55 बजे पहुंचती है। इसी तरह जबलपुर से यह सुबह 5.30 बजे चलकर रानी कमलापति स्टेशन सुबह 11 बजे पहुंचती है।