• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Infection Increased By 7000% In A Month, If The Brakes Are Not Applied, There Will Be A Second Wave like Peak In MP In 56 Days

भास्कर एनालिसिस:एक महीने में 7000% बढ़ा संक्रमण, ब्रेक नहीं लगाया तो 56 दिन में MP में दूसरी लहर जैसा पीक आएगा

भोपाल13 दिन पहलेलेखक: जयकिशन शर्मा
  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश में कोरोना का ग्राफ धीरे–धीरे बढ़ रहा है। यह बढ़ोतरी पड़ोसी राज्यों की तुलना में भले कम है, लेकिन खतरनाक है। 8 दिसंबर 2021 को राज्य में 14 कोरोना केस थे। ये 6 जनवरी को 1033 हो गए हैं। यानी, एक महीने में 7278.57% ज्यादा। रोजाना 242% की दर से प्रदेश में कोरोना फैल रहा है। पिछली बार 25 अप्रैल 2021 को कोरोना पीक पर था, तब 13,601 केस मिले थे।

242% की गति से ही यह संक्रमण फैलता रहा, तो 56 दिन बाद तीसरी लहर का पीक आ सकता है। लेकिन जिस रफ्तार से पड़ोसी राज्यों में कोरोना फैल रहा है, उसी तरह MP में भी कम्यूनिटी स्प्रेड हुआ तो करीब 30 दिन में पीक आ जाने की आशंका है।

न्यू ईयर फेस्ट के 7 दिन में भीड़ बढ़ी, लेकिन टेस्टिंग 14% घट गई... नतीजा- संक्रमण दर बढ़ती गई, 5 जिले हाई रिस्क पर... शुक्र है- वैक्सीनेशन बढ़ा है

5% पॉजिटिविटी रेशो यानी कम्यूनिटी स्प्रेड, पड़ोसी राज्य संभल नहीं पाए... उनसे सबक लेने का यही वक्त
उज्जैन को छोड़कर बाकी जिलों में टेस्ट पॉजिटिविटी रेशो 5 फीसदी से कम है। पड़ोसी राज्यों की बात करें, तो राजस्थान में 3 जिलों जयपुर (8.75%), जोधपुर (7.70%) और भीलवाड़ा (6.73%) में पॉजिटिविटी रेशो 5 फीसदी से ज्यादा है। छत्तीसगढ़ में दुर्ग (9.45%), राजगढ़ (9.02%), कोरबा (7.83%), रायपुर (7.53%), जशपुर (7.27%), सुकमा (5.96%) और बिलासपुर (5.46%) का भी यही हाल है... मध्य प्रदेश को इस स्थिति से बचना होगा।

सोर्स- जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी, स्टेट हेल्थ बुलेटिन

इस लापरवाह तस्वीर को आज और अभी से बदल दीजिए, नहीं तो हालात बिगड़ जाएंगे

भोपाल में जिला कांग्रेस की बैठक में ज्यादातर नेता बिना मास्क के बैठे रहे।
भोपाल में जिला कांग्रेस की बैठक में ज्यादातर नेता बिना मास्क के बैठे रहे।
खबरें और भी हैं...