पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Initiative Of The Residents ... If Someone Brought A Laptop From Home, Then Someone Made A Fan Arrangement, 6000 People With 45+ Vaccines In 46 Days

काेरोना को हराना है तो इनसे सीखे भोपाल:रहवासियों की पहल... कोई घर से लैपटॉप लाया तो किसी ने किया पंखे का इंतजाम, 46 दिन में 45+ वाले 6000 लाेगों को लगा टीका

भोपालएक महीने पहलेलेखक: प्रवीण पाण्डेय
  • कॉपी लिंक
दो रजिस्ट्रेशन डेस्क... सोसायटी में सेंटर शुरू करने को लेकर रहवासियों में इतना उत्साह था कि उन्होंने लैपटॉप, कुर्सियां, पंखें और पानी आदि का इंतजाम खुद किया। यहां दो रजिस्ट्रेशन डेस्क बनाई गई हैं। ताकि लोगों काे ज्यादा इंतजार न करना पड़े। - Dainik Bhaskar
दो रजिस्ट्रेशन डेस्क... सोसायटी में सेंटर शुरू करने को लेकर रहवासियों में इतना उत्साह था कि उन्होंने लैपटॉप, कुर्सियां, पंखें और पानी आदि का इंतजाम खुद किया। यहां दो रजिस्ट्रेशन डेस्क बनाई गई हैं। ताकि लोगों काे ज्यादा इंतजार न करना पड़े।
  • मिनाल रेसीडेंट वेलफेयर सोसायटी ने खुद उठाया जिम्मा, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को लग सके वैक्सीन

कोरोना को हराना है तो सरकार और जनता दोनों को मिलकर इससे लड़ना होगा। कुछ ऐसी ही मिसाल पेश की है भोपाल की मिनाल रेसीडेंट वेलफेयर सोसायटी के रहवासियाें ने। यहां 3500 परिवारों के करीब 15 हजार लोग रहते हैं। रहवासियों ने तय किया कि लोगोें को भीड़ वाली जगह पर न जाना पड़े और ज्यादा से ज्यादा को वैक्सीन लग जाए, इसलिए सोसायटी के मंदिर परिसर में ही 1 अप्रैल से वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया।

यहां अब तक 45 वर्ष से अधिक उम्र के 6000 लोगों को वैक्सीनेशन लग चुकी है। खास बात यह है कि वैक्सीन सेंटर पर सभी जरूरी व्यवस्थाओं को रहवासी ही संभाल रहे हैं। प्रशासन ने इन्हें सिर्फ वैक्सीन और मेडिकल स्टॉफ उपलब्ध कराया है। बाकी रजिस्ट्रेशन से लेकर वैक्सीनेट होने तक की जिम्मेदारी समिति के लोगों की है। वैक्सीन रोज सुबह 10 से शाम 5 बजे तक लगाई जाती है।

ये जिम्मेदारी भी; घर जाकर भी टीका लगा रहे
रहवासी समिति के संयोजक संजय वर्मा ने बताया कि सभी लोगों को वैैक्सीन लग सके, इसलिए समिति ने एसडीएम से संपर्क किया। एसडीएम ने सिर्फ वैक्सीन उपलब्ध कराने पर सहमति दी और बाकी व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सोसायटी के सदस्यों ने ली। दो रजिस्ट्रेशन डेस्क पर दो ऑपरेटर अप्वाइंट किए हैं, ताकि वैक्सीन लगवाने आए व्यक्ति का रजिस्ट्रेशन हो सके और उन्हें सर्टिफिकेट मिल सके। सोसायटी में कई ऐसे बुजुर्ग हैं, जो सेंटर नहीं आ सकते। ऐसे में समिति के लोग मेडिकल स्टाफ के साथ संबंधित व्यक्ति के घर जाकर वैक्सीन लगा रहे हैं। इसके अलावा ड्राइव इन वैक्सीनेशन की सुविधा भी है।

खबरें और भी हैं...