पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नई ऊर्जा, नई शक्ति:800 से अधिक स्थानों पर दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना

भोपाल7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
न्यू मार्केट में प्रतिमा स्थापित कर आरती करते श्रद्धालु।
  • पहले दिन मंदिरों व पंडालों में शैलपुत्री स्वरूप की आराधना
  • कोविड प्रोटोकॉल के तहत हो रही पूजा-अर्चना

मां दुर्गा की उपासना के नवरात्र महापर्व पर पहले ही दिन महामारी का असर दिखाई दिया। सब कुछ पूर्व के सालों की तरह नहीं था। मंदिरों में भीड़ भी उमड़ी, आस्था और उत्साह भी बरकरार दिखाई दिया, पर संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए श्रद्धालु न तो हार-फूल प्रसाद चढ़ा सके और न अधिक देर रुक कर भक्ति में लीन हुए।

वहीं, झांकी पंडालों में देवी प्रतिमाओं की स्थापना और पूजा का सिलसिला शाम तक चलता रहा। शहर में 800 से अधिक स्थानों पर प्रतिमाओं की स्थापना की गई, परंतु पहला दिन होने से पंडालों में पहले जैसी रौनक नहीं दिखाई दी। दुर्गा उत्सव के सार्वजनिक रूप से मनाए जाने की खुशी लोगों के चेहरे पर दिखाई दे रही थी।

पूजा में सीमित श्रद्धालु
पहले दिन मां दुर्गा के प्रथम शैलपुत्री स्वरूप की पूजा की गई। लोगों ने माता से महामारी के खात्मे के लिए भी प्रार्थना की। झांकी पंडालों में बहुत कम लोगों के पहुंचने से पहले जैसी रौनक नहीं दिखाई दी।

इधर, गंगानगर कोटरा सुल्तानाबाद में माता काली की एक फीट ऊंची प्रतिमा बच्चों द्वारा बनाई गई, जिसे सबसे छोटे पंडाल में पं हरीश शुक्ला ने स्थापित की।

यहां पहले की तरह नहीं सजे पंडाल
न्यू मार्केट, बिट्‌टन मार्केट, वैशाली नगर कोटरा, टीला जमालपुरा, जवाहर चौक, करोंद, अशोका गार्डन समेत अधिकांश स्थानों पर इस बार पहले की तरह भव्य झांकी पंडाल नहीं सजाए गए हैं।

मंदिर में पानी-साबुन के भी इंतजाम
मंदिर परिसर में पानी व साबुन की व्यवस्था की गई थी। लोग मास्क भी लगाकर पहुंचे, पर कई लोगों ने पूजा के वक्त चेहरे से मास्क हटा रखा था। घट स्थापना व पूजा के साथ मंत्रजाप का सिलसिला चलता रहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें