मिस अर्थ इंडिया रह चुकीं शान की पौधों से दोस्ती:भोपाल के आलोक, इरफान खान का प्रपोजल सुतापा के पास लेकर गए थे

भोपाल6 महीने पहलेलेखक: उत्कर्षा त्यागी

कहते हैं कि कुछ रिश्ते भगवान आपके लिए चुनता है और कुछ ऐसे रिश्ते भी होते हैं, जिन्हें आप खुद अपने लिए चुनते हैं। ऐसा ही कुछ रिश्ता है दोस्ती का। इसी दोस्ती के रिश्ते को मनाने के लिए हर साल अगस्त के पहले संडे को फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाया जाता है।

इसी मौके पर पढ़िए दोस्ती के किस्से, जानिए कौन है मिसेज यूनिवर्स जॉय 2022 का बेस्ट फ्रेंड और इरफान खान की लव-स्टोरी में कौन बना मैसेंजर...। साथ ही भोपाल की शान किसको मानती हैं अपना बेस्ट फ्रैंड।

इरफान खान-सुतापा सिकदर की लव-स्टोरी में मैसेंजर थे आलोक

भोपाल के रहने वाले आलोक चटर्जी एक्टर इरफान खान के नेशनल ड्रामा स्कूल (NSD) के साथी हैं। यहां से पास होकर इरफान मुंबई में फिल्मों से जुड़ गए और आलोक भोपाल आकर थिएटर करने लगे। आलोक बताते हैं कि NSD में इरफान के साथ 3 साल की जर्नी कैसे खत्म हो गई, पता ही नहीं चला। पुराने दिनों को याद कर आलोक कहते हैं कि दिल्ली के नेहरू पैलेस में एक चाणक्य सिनेमा था। वहां अक्सर हॉलीवुड की फिल्में लगा करती थी। वह और इरफान यहां अक्सर जाया करते थे।

आलोक ने बताया कि NSD का एक कैम्प मणिपुर के इम्फाल में लगा। यहां कैम्प में सिर्फ वेजिटेरियन खाना परोसा जाता था, मगर इरफान को नॉन-वैज खाना होता था। ऐसे में हम रात में सभी के सोने के बाद कैम्प से बाहर खाना खाने निकल जाते। उस समय इम्फाल का माहौल काफी संवेदनशील था। आर्मी गश्त करती रहती थी और रात के समय किसी को बाहर घूमने की आजादी नहीं थी। मगर, फिर भी इरफान और आलोक छिपते-छिपाते बाहर घूमने चले ही जाते थे।

आलोक कहते हैं कि जब इरफान को प्यार हुआ तो उनके और सुतापा के बीच बात उन्हीं के जरिए हुई थी। इसके बाद इरफान खान ने सुतापा सिकदर से शादी की थी।

भोपाल के रहने वाले आलोक चटर्जी एक्टर इरफान खान के नेशनल ड्रामा स्कूल (NSD) के साथी हैं।
भोपाल के रहने वाले आलोक चटर्जी एक्टर इरफान खान के नेशनल ड्रामा स्कूल (NSD) के साथी हैं।

शान सुहास नेचर को मानती हैं अपना सच्चा दोस्त

साल 2017 में शान सुहास कुमार ने मिस अर्थ इंडिया का खिताब जीता था। उस समय शान 25 साल की थीं। मिस अर्थ का खिताब उन प्रतिभागियों को दिया जाता है, जो एनवायरमेंट बचाने के लिए काम करने और इसके लिए जागरूकता बढ़ाने का काम करना चाहते हैं।

शान कहती हैं कि बचपन से ही उन्हें नेचर से लगाव है। उनके घर में हमेशा से पेड़-पौधे रहे ही हैं। वे जानवरों और खासकर के स्ट्रीट डॉग्स को अपना सच्चा दोस्त मानती हैं। अपने घर के पास रह रहे 6 कुत्तों की ये देखभाल करती हैं। शान कहती हैं कि ये डॉग्स बहुत प्यारे हैं। जब भी वो स्ट्रेस में होती हैं तो ये डॉग्स उनके लिए स्ट्रेस बस्टर का काम करते हैं। शान इन्हें बूजो, सफेदू, जोजो, छुटकी, बबलू और कुनकुन कहकर पुकारती हैं।

पौधों के लिए भी शान के मन में विशेष स्थान है। एक किस्से के बारे में बात करते हुए वो कहती हैं कि 2018 में उन्हें मैंगलोर के एक इवेंट में चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था। वहां उन्हें एक पौधा गिफ्ट किया गया। एयरपोर्ट पर सिक्यूरिटी चेक के लिए लगेज बेल्ट पर अपना सभी सामान रखना पड़ता है। शान ये देखकर घबरा गई कि उनके पौधे को कुछ हो न जाए। वहां खड़े एक गार्ड को शान की ये परेशानी उनके चेहरे पर दिख गई और उन्हें पौधा लगेज बेल्ट पर रखने से छूट दे दी गई।

शान का कहना है कि पौधे भी इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं।
शान का कहना है कि पौधे भी इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं।

बेटा है इनका बेस्ट फ्रेंड, मिसेज यूनिवर्स बनने के लिए किया था इंस्पायर

भोपाल की अमृता त्रिपाठी ने जुलाई में साउथ कोरिया की राजधानी सियोल जाकर मिसेज यूनिवर्स जॉय का खिताब जीत देश का नाम रोशन किया है। अमृता छतरपुर की रहने वाली हैं। कॉलेज के फाईनल इयर में ही शादी करके भोपाल आ गईं। शादी के बाद जब बेटा हुआ तो अमृता ने ठान लिया कि बेटे के साथ एक दोस्ती का रिश्ता कायम करेंगी, ताकि वो अपनी हर छोटी-बड़ी बात सबसे पहले अपनी मां यानी उनके साथ ही शेयर करे।

बेटा बड़ा हुआ तो मां से कई तरह के सवाल करता। एक दिन अमृता के बेटे सर्वज्ञ ने उनसे पूछा कि जब पापा ऑफिस जाते हैं तो आप क्यों नहीं जातीं। ये बात अमृता के मन में रह गई। 2021 में कोविड के कारण लॉकडाउन था, तो अमृता ने मिसेज इंडिया के लिए ऑनलाइन ऑडिशन में भाग लिया। अमृता इस प्रतियोगिता के टॉप 7 तक पहुंची और फाईनल में मिसेज मिडल ईस्ट एशिया का खिताब अपने नाम किया। इसके बाद 2022 में कोरिया में आयोजित मिसेज यूनिवर्स की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।

अमृता बताती हैं कि उनकी इस सफलता में उनके 9 साल के बेटे का विशेष योगदान है। उसी के सवालों के कारण उनके अंदर कुछ करने का जज्बा पैदा हुआ। इसके अलावा अमृता कहती हैं उनका बेटा एक दोस्त की तरह हमेशा उनका सपोर्ट करता है। सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए उनका बेटा ही उनकी फोटो खींचता है और रील बनाता है। अमृता के बेटे सर्वज्ञ भी मां को अपना अच्छा दोस्त मानते हैं। सर्वज्ञ कहते हैं कि वो मां के साथ सब कुछ शेयर करते हैं। सर्वज्ञ अक्सर अमृता के साथ ही खेलते हैं और घूमने-फिरने जाते हैं।

अमृता अपनी सक्सेस के पीछे 9 साल के बेटे का सपोर्ट मानती हैं।
अमृता अपनी सक्सेस के पीछे 9 साल के बेटे का सपोर्ट मानती हैं।