भोपाल के सबसे साफ 10 नंबर मार्केट की कहानी:खुद 3 सफाईकर्मी रखे, दो बार लगाते हैं झाड़ू; 50 लाख से मल्टीलेवल पार्किंग का प्लान

भोपाल3 महीने पहले

राजधानी भोपाल के 10 नंबर मार्केट ने सबसे साफ मार्केट का खिताब हासिल किया। यह न्यू मार्केट को पछाड़कर नंबर-1 रहा। अब इसे 50 लाख रु. बतौर पुरुस्कार मिलेंगे, जिनसे मार्केट में काम होंगे। अव्वल आने के लिए व्यापारियों ने खासी मेहनत की। खुद के खर्च पर 3 सफाईकर्मी भी रखें और दिन में दो बार झाड़ू लगवाई। महीने में एक बार पूरे मार्केट की पानी से धुलाई से लेकर डस्टबिन रखवाए तो रोको-टोको अभियान भी चलाया। पुरुस्कार में मिली राशि से एसोसिएशन का मल्टीलेवल पार्किंग बनवाने का प्लान है।

10 नंबर मार्केट शहर के प्रमुख बाजारों में से एक है। जहां हर रोज सैकड़ों लोग खरीदारी करने पहुंचते हैं। मार्केट में कुल 110 दुकानें हैं, जबकि आसपास इनकी संख्या 300 से ज्यादा है। दस नंबर नेहरू मार्केट व्यापारी संघ ने स्वच्छ सर्वेक्षण के चलते बाजार में कई इनोवेशन किए। इसकी बदौलत ही इसे राजधानी में नंबर-वन मार्केट का तमगा मिला।

ट्रॉफी और सर्टिफिकेट के साथ 10 नंबर मार्केट व्यापारी संघ के पदाधिकारी।
ट्रॉफी और सर्टिफिकेट के साथ 10 नंबर मार्केट व्यापारी संघ के पदाधिकारी।

ऐसे किए इनोवेशन और नंबर-वन बना
व्यापारी संघ के अध्यक्ष रामचंद्र पाटीदार ने बताया, भोपाल देश के साफ शहरों की दौड़ में शामिल हैं। इसलिए मार्केट ने भी इसमें सहभागिता निभाई। स्वच्छ सर्वेक्षण के चलते मार्केट में कई इनोवेशन किए। इनमें सफाईकर्मियों की अलग से तैनाती प्रमुख है। महासचिव हरीश चौथानी, उपाध्यक्ष अमृत गेहलोत ने बताया, नगर निगम एक समय सफाई करवाता है। चूंकि, रात में भी दुकानों से कचरा निकलता है। इसलिए 3 सफाईकर्मी रखें, जो नियमित रूप से दो बार सफाई करते हैं। जिनकी सैलरी व्यापारी संघ ही देता है। 15 हजार रुपए इसमें खर्च होते हैं। इसके बाद बाजार में दिन में तीन बार सफाई होती है।

  • मार्केट को महीने में एक बार पानी से पूरी तरह से धुलवाते हैं।
  • गीले-सूखे कचरे के लिए अलग-अलग डस्टबिन रखे गए।
  • पॉलीथिन मुक्त मार्केट है। प्रतिबंधित पॉलीथिन का उपयोग करने की सख्त मनाही।
  • त्योहार में मार्केट को नो-पॉर्किंग जोन में रखा जाता है। अंदर गाड़ियों की आवाजाही बंद रहती है।
  • समय-समय पर रोको-टोको अभियान चलाते हैं। ताकि, लोग सफाई के प्रति जागरूक हो सके।

50 लाख का इनाम मिलते ही मार्केट में जश्न
सबसे स्वच्छ बाजार का इनाम मिलते ही मार्केट में जश्न का माहौल है। व्यापारी संघ के पदाधिकारी शील्ड और सर्टिफिकेट के साथ दुकानों पर घूमे और व्यापारियों को बधाई दी। ढोल के साथ जश्न मनाया गया।

ट्रॉफी के साथ व्यापारी और संघ के पदाधिकारी।
ट्रॉफी के साथ व्यापारी और संघ के पदाधिकारी।

अब ये चाहते हैं व्यापारी
व्यापारी संघ को 50 लाख रुपए का इनाम मिला है। इस राशि से नगर निगम मार्केट में काम करवाएगा। अध्यक्ष पाटीदार, उपाध्यक्ष विनोद खटवानी, सह सचिव सुनील सचदेव ने बताया, मार्केट में सबसे बड़ी समस्या पॉर्किंग की है। सड़क की चौड़ाई काफी कम है। इस कारण ट्रैफिक की समस्या बनी रहती है। इसलिए इनाम में मिली राशि से मल्टीलेवल पार्किंग बनवाने की इच्छा है। ताकि, पॉर्किंग की समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाए। इसके लिए सरकारी जमीन भी मौजूद है। दुकानों की एक जैसी रंगाई-पुताई और खूबसूरती बढ़ाने के भी उपाय किए जाएंगे।

राजधानी का प्रमुख बाजार है 10 नंबर मार्केट। इसे स्वच्छता में मिला है पहला इनाम।
राजधानी का प्रमुख बाजार है 10 नंबर मार्केट। इसे स्वच्छता में मिला है पहला इनाम।

न्यू मार्केट को पछाड़कर नंबर-1 बना
10 नंबर मार्केट पिछली बार के अव्वल न्यू मार्केट को पछाड़कर नंबर-1 बना है। न्यू मार्केट इस बार पांचवें नंबर पर आया है। हालांकि, इसे लेकर आरोपों का दौर भी शुरू हो गया है। न्यू मार्केट के व्यापारियों ने सर्वेक्षण के पैमाने पर सवाल उठाए हैं। हालांकि, 10 नंबर मार्केट के पदाधिकारियों का कहना है कि जो पैमाने निगम ने चाहे थे, उन सभी पर हमारा मार्केट खरा उतरा। निगम की टीम कब आकर दावों की हकीकत देखकर चली गई, हमें नहीं मालूम। अगले कॉम्पिटिशन के लिए और कई इनोवेशन करेंगे। ताकि, हम लगातार अव्वल आ सके।

यह भी पढ़े:-

राजधानी को साफ रखने पर 3.17 करोड़ के अवॉर्ड:50 बाजारों के कॉम्पिटिशन में 10 नंबर मार्केट अव्वल, न्यू मार्केट की पांचवीं रैंकिंग; 38 कॉलोनियों को भी अवॉर्ड