पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Kiteman Lakshmi Narayan Khandelwal's Kite Wearing A Kite Of Gold In The Neck, Ears And Fingers Of Kiteman Lakshmi Narayan Khandelwal In Bhopal, Makes New Kite Gold Jewelery On Sankranti Every Year

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजधानी के काइटमैन:बचपन से पतंगबाजी का शौक था, उसी को बनाया बिजनेस; पहले चांदी अब गोल्ड की पतंगों को आभूषण के रूप में पहनते हैं खंडेलवाल

भोपाल13 दिन पहलेलेखक: राजेश गाबा
काइटमैन लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल गले में, कान में और हाथ में पहली गोल्ड की पतंग के साथ।

राजधानी में एक काइटमैन हैं, जो गोल्ड की पतंगों को गले, कान और अंगुलियों में पहनते हैं। भोपाल में एक छोटी सी दुकान में पतंग का होलसेल व्यापार करने वाले लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल की पहचान पतंग बेचने के लिए नहीं, बल्कि पतंगों के आभूषणों को पहने के लिए है। पुराने भोपाल के इतवारा क्षेत्र में लक्ष्मी टॉकीज के पास लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल की दुकान है। वे पिछले 50 साल से पतंग बेचते आ रहे हैं लेकिन पतंग के प्रति उनका ऐसा लगाव है कि वे गोल्ड की पंतगों को आभूषण के रूप में पहनते हैं।

10 साल की उम्र में लगा पतंगबाजी का शौक
काइटमैन लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल बताते हैं कि वे 50 साल से पतंग उड़ाते आ रहे हैं। जब वे 10 साल के थे, तब उन्हें पतंग का ऐसा शौक चढ़ा कि आज तक नहीं उतरा। काइटमैन बताते हैं कि बचपन से ही उन्हें पतंग उड़ाने का बेसब्री से इंतजार रहता था। हर साल मकर संक्रांति का इंतजार रहता था कि कब त्योहार आए और वे पतंग उड़ाए। काइटमैन ने बताया कि पतंग के प्रति दीवानगी को उन्होंने अपना पेशा बना लिया। उन्होंने पतंग का थोक और फुटकर व्यापार शुरू कर दिया। इसके बाद पतंगों से काफी ज्यादा लगाव होने के कारण उन्होंने सोचा कि क्यों न पतंग को गहना बनाकर पहना जाए।

हर साल संक्रांति पर बनवाते हैं न्यू काइट ज्वैलरी

काइटमैन ने बताया कि पहले उन्होंने चांदी की पतंग के ज्वैलरी बनवाने से शुरुआत की। इसके बाद समय का पहिया बढ़ा और उन्होंने गोल्ड पतंग बनवाना शुरू कर दिया। अब ये परंपरा बन गई है कि हर साल संक्रांति आने से पहले गोल्ड की छोटी या बड़ी पतंग बनवाकर वे पहनते हैं।

12 तोला गोल्ड की हैं पतंगों की ज्वेलरी

काइटमैन लक्ष्मी नारायण ने अपने गले में गोल्ड की दो बड़ी पतंगें पहनी हुई है, इसके अलावा पतंग बनी हुई चार अंगुठियां, दो कान की बालियां और एक चकरी पहनी हुई है। ये सभी ज्वेलरी करीब 10 से 12 तोला की है, जिसकी कीमत करीब 5 से 6 लाख रुपए है।

2021 संक्रांति के लिए तैयार है नई ज्वैलरी

काइटमैन लक्ष्मी नारायण ने बताया कि इस साल संक्रांति के लिए उन्होंने 2 तोला गोल्ड का पतंग सहित चकरी और मांजे का निर्माण कराया है, जिसमें पेंडल के रूप में पतंग बनी हुई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser