• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Madhya Pradesh Coronavirus News; Bhopal Update | Coronavirus Victims 40 Dead Bodies Cremated In Bhopal Bhadbhada Shamshan Ghat

जलती चिताएं बता रहीं सच:भोपाल में पहली बार 112 मौतें, सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ 4, पहली बार इतने संक्रमितों का अंतिम संस्कार

भोपाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर भोपाल के भदभदा विश्राम घाट की है, गुरुवार को यहां एकसाथ कोरोना संक्रमितों की 40 से ज्यादा चिताएं जलती नजर आईं। - Dainik Bhaskar
यह तस्वीर भोपाल के भदभदा विश्राम घाट की है, गुरुवार को यहां एकसाथ कोरोना संक्रमितों की 40 से ज्यादा चिताएं जलती नजर आईं।

मध्यप्रदेश के भोपाल की यह तस्वीर गुरुवार शाम 7 बजकर 10 मिनट की है। जगह है शहर का भदभदा विश्राम घाट। इस सुलगती तस्वीर में गिनने जाएंगे तो एक साथ 40 से ज्यादा चिताएं जलती नजर आएंगी। सब की सब कोरोना संक्रमितों की...। श्मशानों में हालात ऐसे कि अब जगह कम पड़ गई है। लकड़ियां खत्म होने को हैं। लकड़ियां जमाते दाह संस्कार करने वालों के हाथों में छाले पड़ चुके हैं और शवों के अंतिम संस्कार के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है।

सरकार, आप कोरोना संक्रमितों के आंकड़े नहीं छिपाते तो शायद आज हम भोपाल वालों को अपनों की इतनी चिताएं नहीं जलाना पड़तीं। शायद, हमारे अपने यूं कब्र में दफन न किए जा रहे होते। पहले संक्रमितों के आंकड़े छिपाए और फिर मौतों के। आज न अस्पतालों में जगह है, न ही श्मशानों में। मरीजों को लेकर परिजन दर-दर भटक रहे हैं। शायद यही वजह है कि श्मशान आज सुलगकर अपना सच खुद चीख-चीखकर बता रहे हैं।

पांच दिन में 356 संक्रमितों का अंतिम संस्कार
गुरुवार को भोपाल में 112 कोरोना संक्रमितों का अंतिम संस्कार हुआ। भदभदा में 72, सुभाष नगर में 30 दाह संस्कार हुए और झदा कब्रिस्तान में 10 शवों को दफन किया गया, लेकिन सरकारी आंकड़ों में भोपाल में आज भी सिर्फ 4 मौतें दर्ज की गईं। पिछले पांच दिनों में 356 संक्रमितों का अंतिम संस्कार भोपाल में हुआ, लेकिन सरकारी आंकड़ों में इसकी संख्या सिर्फ 21 ही बताई गई। तो श्मशानों में ये शव किसके हैं? ये तस्वीर बेहद भयावह है, इसलिए सिर्फ एक बात- अब तो संभल जाइए...।

मध्यप्रदेश में 24 घंटे में 10 हजार से ज्यादा संक्रमित मिले
राज्य में गुरुवार को 10,166 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 3,970 लोग रिकवर हुए और 53 की मौत हो गई। अब तक यहां 3.73 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3.13 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। 4,365 मरीजों की जान चली गई। 55,694 मरीजों का इलाज चल रहा है।

खबरें और भी हैं...