• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Leaders Arrested Across The State; From Railway Station To Buses In Bhopal, Police Deployed At Intersections

भोपाल में OBC महासभा का प्रदर्शन:भीम आर्मी के चंद्रशेखर समेत अब तक डेढ़ हजार लोग हिरासत में, रात 10 बजे दिल्ली होंगे रवाना

भोपाल5 महीने पहले

मध्यप्रदेश में ओबीसी आरक्षण को लेकर चल रहे प्रदर्शन को लेकर पुलिस अब भी सतर्क है। सीएम हाउस की तरफ जाने वाले समेत अन्य सभी रास्ते भी 9 घंटे बाद शाम करीब 5 बजे खोल दिए गए। इससे पहले रेलवे स्टेशन और बसों में चेकिंग चलती रही। महासभा का दावा है कि भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने एयरपोर्ट से हिरासत में लिया है। डेढ़ हजार लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर अलग-अलग थानों में रखा है।

भीम आर्मी के चंद्रशेखर आजाद रात 10 बजे फ्लाइट से दिल्ली रवाना होंगे। इससे पहले वह शहर में दाखिल नहीं होंगे। पुलिस अब भी उन पर एयरपोर्ट पर भी नजर रखे है।

ओबीसी महासभा के सीएम हाउस के घेराव की धमकी के बाद से ही पुलिस अलर्ट थी। शहर में प्रवेश करने वाले रास्तों पर बैरिकेड्स लगाकर चेकिंग की। शहर में प्रवेश करने वाले ओबीसी महासभा के कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। काफी को वापस कर दिया गया।

सीहोर तरफ से भोपाल आ रहे लोगों को खजूरी थाने में रोका गया। सभी को हिरासत में लेकर सीहोर भेजा गया। कार्यकर्ताओं ने थाने में की नारेबाजी भी की। इसके पहले सुबह न्यू मॉर्केट पर ओबीसी संगठनों के नेताओं ने डेरा डाल दिया। कार्यकर्ता जुटने लगे। इसकी भनक लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को हटाया। महासभा का आरोप है कि पुलिस ने उनके साथ मारपीट की है। मोबाइल छीन लिए गए।

भोपाल में ये रास्ते बंद रहे

  • रोशनपुरा चौराहा को चारों तरफ से पुलिस ने बेरिकेड्स लगा कर बंद कर दिया था।
  • माता मंदिर की तरफ से आने वाली सड़क को अपैक्स बैंक के पास बैरिकेडिंग की गई।
  • जवाहर चौक की तरफ से आने वाले रास्ते को रंगमहल के पास रास्ता बंद किया गया।
  • बड़े तालाब की तरफ जाने वाले रास्ते को बाणगंगा और जहांगीराबाद की तरफ से आने वाले रास्ते को मालवीय नगर के पास बंद किया। सभी रास्तों को शाम को खोल दिया गया।

एक दिन पहले ही ओबीसी संगठनों ने 27% आरक्षण पंचायत चुनाव में बहाल करने की मांग की। इस मांग को लेकर मुख्यमंत्री निवास घेराव की बात कही थी। कार्यकर्ताओं को भोपाल कूच करने के लिए कह दिया। इसके बाद सरकार सक्रिय हुई। पुलिस ने प्रदेशभर में ओबीसी संगठन से जुड़े नेताओं पर नजर रखी। उन्हें बाहर नहीं निकलने दिया।

सीएम आवास जाने वाले रास्तों पर तगड़ी सुरक्षा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के बंगले की तरफ जाने वाले सभी रास्तों पर बैरिेकेड्स लगा दिए गए थे। पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। आने-जाने वाले को रोका गया।

OBC महासभा तीसरा मोर्चा बनाकर लड़ेगा चुनाव:राष्ट्रीय महासचिव ने कहा- सांसद-विधायक सपोर्ट नहीं कर रहे हैं, ये सिर्फ वोट मांगते हैं; सरकार बोली- राजनीति कर रहे