• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Lockdown Changed The Way Of Business, More Than Two And A Half Thousand Shopkeepers Of The City Started Online Home Delivery

आपदा में अवसर:लॉकडाउन नेे बदला व्यापार का तरीका, शहर के ढाई हजार से ज्यादा दुकानदारों ने शुरू कर दी ऑनलाइन होम डिलीवरी

भोपालएक वर्ष पहलेलेखक: भीम सिंह मीणा
  • कॉपी लिंक
ऑनलाइन डिलीवरी वालों में न्यू मार्केट, विजय मार्केट, दस नंबर, एमपी नगर, कोलार और बैरागढ़ के दुकानदार जुड़ रहे। - Dainik Bhaskar
ऑनलाइन डिलीवरी वालों में न्यू मार्केट, विजय मार्केट, दस नंबर, एमपी नगर, कोलार और बैरागढ़ के दुकानदार जुड़ रहे।

राजधानी में एक साल के भीतर पहले लाॅकडाउन और फिर कोरोना कर्फ्यू लगने से व्यापार का तरीका काफी हद तक बदल गया है। जनता अब तक अमेजन, फ्लिपकार्ट, टाटा क्लिक, मैक्स, फर्स्ट क्रॉय पर ही होम डिलीवरी के लिए निर्भर थे, लेकिन एक साल में शहर के भीतर ढाई हजार से अधिक दुकानदारों ने होम डिलीवरी की व्यवस्था शुरू कर दी। इनमें किराना स्टोर्स ने तो लॉकडाउन और कर्फ्यू में डिलीवरी के रिकॉर्ड बनाए हैं।

150 बड़े किराना स्टोर को खुद होम डिलीवरी के लिए नगर निगम ने अधिकृत किया था। जबकि शहर की 2500 मेडिकल स्टोर में से 300 ऐसी हैं, जिन्होंने बुजुर्गों और महिलाओं के लिए घर तक दवा पहुंचाने का इंतजाम कर दिया है।शहर में सभी कंपनियों के मिलाकर करीब 1400 दूध पार्लर हैं। इनसे 3 लाख परिवारों तक होम डिलीवरी की जाती है। सब्जी के बड़े बाजार बंद होने की वजह से यह भी होम डिलीवरी ही किए जा रहे हैं, यानी घर जाकर सब्जी बेची जा रही है। इनके अलावा स्टेशनरी इसमें एक नया नाम जुड़ गया है।

कवर्ड कैंपस के बाहर के दुकानदारों ने लोगों को वॉटसएप ग्रुप से जोड़ लिया है और मैसेज आते ही हर एक घंटे में डिलीवरी करने जाते हैं। खास बात यह है कि ऑनलाइन डिलीवरी वालों में शहर के न्यू मार्केट, विजय मार्केट, दस नंबर, एमपी नगर, कोलार और बैरागढ़ के दुकानदार जुड़ रहे हैं। जबकि जुमेराती, चौक बाजार, लोहा बाजार, हमीदिया रोड के व्यापार अब भी परंपरागत तरीके से ही संचालित किए जा रहे हैं।

अमेजन ने शहर की लोकल दुकानों को जोड़ा, यहीं से माल उठाकर भेज रहे घरों तक

  • 150 बड़े किराना स्टोर को खुद होम डिलीवरी के लिए नगर निगम ने अधिकृत किया था
  • 300 मेडिकल ने बुजुर्गों व महिलाओं के लिए घर तक दवा पहुंचाने का इंतजाम किया

दो लाख ऑर्डर पेंडिंग; एक तरफ लोकल दुकानदार ऑनलाइन ऑर्डर लेकर होम डिलीवरी सीख रहे हैं तो वहीं अमेजॉन और फ्लिपकार्ट पर दो लाख से अधिक ऑर्डर बुक हैं। दोनों ही कंपनियों की अभी होम डिलीवरी बंद है और लोगों ने सामान बुकिंग करके रखा है। इन ऑर्डर को करीब 2 हजार लड़के घरों तक पहुंचाएंगे। खास बात यह है कि अब अमेजन ने भोपाल लोकल की दुकानों को जोड़ लिया है और यहीं से माल उठाकर वे लोगों के घरों तक पहुंचा रही हैं। फिलहाल किराना और मेडिसिन डिलीवर करने की अनुमति इन्हें मिली हुई है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए जोड़ रहे ग्राहक

न्यू मार्केट; यहां 1290 दुकानें हैं और मिठाई, स्टेशनरी, किराना व मेडिकल मिलाकर करीब 122 दुकानें हैं। इनमें से 110 दुकानदारों ने वॉटसएप के जरिए अपने ग्राहक जोड़े हैं। न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ के सचिव अजय देवनानी ने बताया कि एक साल में दुकानदारी का ऑनलाइन ट्रेंड बढ़ रहा है। हमारे यहां 50 फीसदी से अधिक दुकानदारों के पास उनके नियमित ग्राहकों का डाटा है।
भेल क्षेत्र; इस पूरे इलाके में 15 बाजार हैं और इनमें 1400 दुकानें हैं। बरखेड़ा भेल क्षेत्र के अध्यक्ष रामबाबू शर्मा ने बताया कि किराना, मेडिकल, सब्जी, मिठाई की दुकानदारों ने ऑनलाइन डिलीवरी शुरू की है। इनमें भी जो नए लड़के हैं, वे ऐसा अधिक कर रहे हैं।
दस नंबर; दस नंबर बाजार व्यापारी संघ के अध्यक्ष राजकुमार बत्रा ने बताया कि पूरे बाजार में 400 दुकानें हैं और इनमें से मिठाई, नाश्ता, स्टेशनरी, किराना और मोबाइल वाले होम डिलीवरी कर रहे हैं।
जुमेराती; भोपाल किराना व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवान ने बताया कि जुमेराती और पुराने शहर के अन्य सभी बाजार में ऑनलाइन का चलन नहीं है। यहां 2 हजार दुकानें हैं। 50 दुकानें ही होम डिलीवरी करते हैं।

खबरें और भी हैं...