हमीदिया में बनेगी डेडिकेटेड हीमोफीलिया फिजियोथेरेपी यूनिट:लॉज भोजपाल ने इक्विपमेंट्स के लिए दिया 2.75 लाख का चेक

भोपाल3 महीने पहले

वंशानुगत खून से जुडी बीमारी हीमोफीलिया से ग्रस्त मरीजों के दर्द को दूर करने के लिए हमीदिया अस्पताल में अब अलग फिजियोथैरेपी यूनिट बनाई जाएगी। विश्व स्तर के सामाजिक संगठन ग्रेंड लॉज ऑफ इंडिया के ग्रेंड मास्टर MW अनीस कुमार शर्मा ने लॉज भोजपाल की तरफ से हीमोफीलिया सोसाइटी भोपाल को 2 लाख 75 हजार रूपए का चेक भेंट किया। इस मौके पर लॉज भोजपाल के चीफ डॉ.सुनीत टंडन, गांधी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. अरविंद राय, डॉ.यग्नेश कुमार ठक्कर, विजय आठले, आदित्य मोदी जीएमसी के पैथोलॉजी विभाग की एचओडी डॉ. रीनी मलिक, हीमोफीलिया सोसाइटी भोपाल के सेक्रेटरी डॉ.आरके निगम, डॉ.वीके भारद्धाज, डॉ.रमेश माधव, डॉ.तपस्या तोमर के अलावा पैथौलॉजिस्ट, रिमुयोटोलॉजिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट और लॉज भोजपाल के पदाधिकारी मौजूद थे।

हमीदिया का हीमोफीलिया डे केयर सेंटर देश में सबसे अलग

ग्रेंड लॉज ऑफ इंडिया के ग्रेंड मास्टर अनीस कुमार शर्मा ने कहा कि यह अच्छी पहल है कि हीमाफीलिया के मरीजों के लिए अलग से डेडिकेटेड फिजियोथैरेपी यूनिट बनाई जाएगी। हमीदिया में देश का पहली हीमोफीलिया डे केयर यूनिट है जो मेडिकल कॉलेज में संचालित है। इस सेंटर में गंभीर बीमारी से पीडित मरीजों काे राहत मिलेगी।

24 घंटे चलेगी हीमोफीलिया फिजियोथैरेपी यूनिट

डॉ.सुनीत टंडन ने बताया कि अभी हमीदिया हॉस्पिटल में हीमोफीलिया का डे केयर सेंटर चल रहा है लेकिन मरीजों को कई बार फिजियोथैरेपी के इक्विपमेंट्स की कमी के कारण सुविधा नहीं मिल पाती थी। हीमोफीलिया सोसाइटी के सदस्यों ने इस परेशानी के बारे में बताया ग्रेंड लॉज भोजपाल ने अलग फिजियोथैरेपी यूनिट के उपकरणों के लिए 2 लाख 75 हजार रूपए का चेक भेंट किया है। उपकरण आने के बाद हमीदिया अस्पताल में हीमोफीलिया मरीजों को 24 घंटे फिजियोथैरेपी की सुविधा मिल सकेगी।

इन जिलों में सबसे ज्यादा हीमोफीलिया के मरीज

जिला

हीमोफीलिया के मरीज

जबलपुर

115

इंदौर

114

भोपाल

87

उज्जैन

60

सतना

22

विदिशा

21

दमोह

13

खबरें और भी हैं...