पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

छात्र ने सुसाइड किया:भोपाल में छात्र ने इमोशनल वीडियो बनाया और परिजन को भेजा; पूछने पर बोला- याद आ रही है, उसके बाद फांसी लगा ली

भोपाल5 दिन पहले
भोपाल में सुसाइड करने वाले विक्रम ने एक इमोशनल वीडियो बनाकर परिजनों को भेजा। - फाइल फोटो
  • भेल कॉलेज की सभी सीट भर जाने के कारण मानसिक तनाव में था
  • पढ़ाई के साथ जॉब भी करता था, पांच भाई बहनों में चौथे नंबर का था

भोपाल में बीकॉम फाइनल ईयर के एक छात्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इससे पहले उसने एक इमोशनल वीडियो बनाकर परिजन को भेजा। इस वीडियो में उसने दिल के आकार के चित्र बनाकर उसमें मम्मी, पापा, भाई और बहन को आई लव माई फैमिली लिखा। वीडियो मिलते ही परेशान परिजन ने उसे फोन किया, तो उसने कहा कि आप सबकी याद आ रही है। बस इतना ही है। बात होने के बाद स्टूडेंट ने फांसी लगा ली। वह भेल कॉलेज में सीट फुल जाने के कारण मानसिक तनाव में भी था।

इस तरह का एक वीडियो बनाकर विक्रम ने परिजन को भेजा।
इस तरह का एक वीडियो बनाकर विक्रम ने परिजन को भेजा।

मूलत: बैरसिया निवासी 24 वर्षीय विक्रम अहिरवार बीडीए कॉलोनी अवधपुरी में किराए के फ्लैट में रहता था। बैरसिया में रहने वाले उसके भाई राज करण ने बताया कि विक्रम बीकॉम फाइनल ईयर में था। उसने 12 सितंबर की रात करीब 11 बजे एक वीडियो भेजा था। इसमें उसने दिल का कोई टुकड़ा कभी गाना लगाकर उसमें मम्मी, पापा, भाई और बहन को आई लव माई फैमिली लिखकर भेज दिया था।

फोन बोला बस याद आ रही

भाई ने बताया कि मैंने उसे तुरंत फोन लगाया। वह बोला कि उसे सभी की याद आ रही है। बस ऐसे ही भेज दिया। वह हमेशा कोई न कोई वीडियो भेजता रहता था। ऐसे में हमें ज्यादा संदेह नहीं हुआ। मैंने भी ध्यान नहीं दिया। मंगलवार दोपहर बाद उसके फांसी लगाने की खबर अवधपुरी पुलिस ने दी। उसने कभी कोई परेशानी का जिक्र नहीं किया।

भेल कॉलेज की सीट फुल होने से तनाव था

विक्रम ने घर में बताया था कि भेल कॉलेज में एमकॉम की सभी सीटें फुल हो गई हैं। इस पर हमने उससे कहा था कि कोई परेशानी नहीं है। जो भी मिल जाए, ले लेना। वह अपने काम से काम रखता था। इसी साल परिजन उससे उसकी छोटी बहन की शादी करने के बारे में विचार कर रहे थे। वह परिजन को खेती के लिए ट्रैक्टर लेने के लिए कहता रहता था।

पढ़ाई के साथ नौकरी करता था

विक्रम यहां पर अकेला रहता था। वह बिजली कॉलोनी में चौकीदारी करता था। वह पीजी कोर्स करने के लिए तैयारी कर रहा था। उसने एडमिशन की बात को लेकर परिजन से चिंता भी जाहिर की थी। पुलिस ने पोस्टमाॅर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। मौके पर पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस ने युवक का मोबाइल फोन जब्त कर लिया है।

15 दिन पहले ही भोपाल आया था

अभी तक विक्रम घर पर ही था। एक सितंबर को वह पीजी का फार्म भरने की कहकर बैरसिया से भोपाल आ गया था। परिजन का कहना है कि पापा ने उसे पैसे भी दिए थे। अब इस बीच क्या हो गया। उन्हें तो समझ ही नहीं आ रहा है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें