भोपाल में कोरोना से 1004वीं मौत:84 साल की महिला ने दम तोड़ा; 8 नए पॉजिटिव, इनमें 14 साल का लड़का और एम्स के डॉक्टर

भोपाल6 महीने पहले

राजधानी भोपाल में सोमवार को कोरोना से 1004वीं मौत हुई है। इससे पहले शहर में 25 नवंबर को एक मौत रिपोर्ट हुई थी। एक निजी अस्पताल में 84 वर्षीय कोरोना संक्रमित महिला की मौत हुई। वहीं, रविवार को भोपाल में 8 कोरोना संक्रमित मिले। इनमें एक 14 साल का बच्चा और एम्स का डॉक्टर भी संक्रमित मिला है। रिपोर्ट के अनुसार सभी की ट्रैवल हिस्ट्री मिली है।

रविवार को मिले संक्रमितों में 26 वर्षीय एम्स का डॉक्टर संक्रमित मिला है। बागसेवनिया इलाके का एक 14 वर्षीय बच्चा भी संक्रमित मिला है। पटेल नगर निवासी 40 वर्षीय महिला, अयोध्या नगर निवासी 29 वर्षीय महिला, खजुरी कला निवासी 70 वर्षीय पुरुष, अशोका गार्डन निवासी 30 वर्षीय महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा अवधपुरी निवासी एक ही परिवार की 30 वर्षीय और 72 वर्षीय महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें अधिकतर महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश की ट्रैवल हिस्ट्री वाले केस हैं।

भोपाल में रविवार को 5 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। अभी भोपाल में 71 एक्टिव केस हैं। 42 होम आईसोलेशन और 29 हॉस्पिटल में भर्ती हैं। शहर में अब तक 1 लाख 23 हजार 740 लोगों कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 1 लाख 22 हजार 666 ठीक हो चुके हैं।

भोपाल में टेस्टिंग कम, लेकिन केस ज्यादा

प्रदेश में पिछले 7 दिनों में कुल 3 लाख 93 हजार 102 कोरोना जांच की गई। इसमें 109 संक्रमित मिले। इसमें से 97 रिकवर हो गए। खास बात यह कि भोपाल, इंदौर और जबलपुर में सबसे कम टेस्ट भोपाल में किए गए, लेकिन यहां पर सबसे ज्यादा संक्रमित मिले। भोपाल में 32 हजार 818 जांच में 59 केस, इंदौर में 39 हजार 561 जांच में 30 संक्रमित, जबलपुर में 37 हजार 597 जांच में 9 पॉजिटिव मिले हैं।

1 नवंबर से अब तक के सैम्पल की जीनोम रिपोर्ट भी नहीं आई

भोपाल में अक्टूबर में भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट कुछ दिन पहले मिली है, लेकिन नवंबर से अब तक की रिपोर्ट अटकी हुई है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में ओमिक्रॉन की पहचान कर सरकार की 3T (टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट) करने की रणनीति कैसे सफल हो पाएगी। (यहां क्लिक कर पढ़िए पूरी खबर)

ये भी पढ़िए:-

टेस्टिंग तो दूर ट्रैकिंग ही नहीं:MP में 13 दिन में 1668 विदेशी आए, 883 का पता नहीं; हाईरिस्क कंट्री से आए 174 की जांच नहीं

रानी कमलापति स्टेशन पर कोरोना जांच न कराने के बहाने:कोई बोला- दोनों डोज लगे, किसी ने कहा- समय नहीं; कुछ तो लड़ने तक को तैयार

खबरें और भी हैं...