MP में दूसरे डोज के लिए अभियान:एनएचएम डॉयरेक्टर ने दूसरा डोज लगाने के लिए कार्ययोजना बनाने और 18 अक्टूबर से क्रियान्वयन करने सभी सीएमएचओ को दिए निर्देश

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मध्य प्रदेश में अब दूसरे डोज के लिए अभियान - Dainik Bhaskar
मध्य प्रदेश में अब दूसरे डोज के लिए अभियान

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की गंभीरता कम करने के लिए वैक्सीनेशन अभियान जारी है। पहला डोज 90% पात्र आबादी को लगने के बाद अब दूसरे डोज पर सरकार का फोकस है। हालांकि दूसरा डोज लगाने के लिए लोग आगे ही नहीं आ रहे है। इसको लेकर मंगलवार को नेशनल हेल्थ मिशन की डॉयरेक्टर प्रियंका दास ने स्वास्थ्य विभाग के जिला अधिकारियों के साथ वीसी के माध्यम से बैठक की। इसमें एनएचएम डॉयरेक्टर ने दूसरे डोज लगाने के लिए 14 अक्टूबर तक कार्ययोजना बनाने और 18 अक्टूबर से उसका क्रियान्यन करने के निर्देश दिए।

एनएचएम डॉयरेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और जिला टीकाकरण अधिकारी को लक्ष्य पूर्ति के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश जारी करने के निर्देश दिए है। निर्देश में कहा है कि कोविड-19 टीकाकरण के लिये दूसरी डोज के लिये ड्यू और ओवरड्यू नागरिकों की सूची टीकाकरण केन्द्रवार और विकासखण्डवार प्रचलित कोविन पोर्टल पर उपलब्ध है। अधिकारी इस सूची के अनुसार जिनकी दूसरी डोज ड्यू है, उन्हें चिन्हित कर दूसरी डोज लगवाने के लिये सम्पर्क स्थापित करें। इसके लिए जिलों में कोविड-19 कमाण्ड कंट्रोल केन्द्र स्थापित किए जाएं।

नागरिकों से दूरभाष के माध्यम से सम्पर्क किया जाये। जिनकी दूसरी डोज ड्यू है, उन्हें डोज लगवाने को प्रेरित करने के लिये आशा कार्यकर्ताओं को सहयोगी बनायें। साथ ही स्थानीय स्तर पर मैदानी अमले के साथ आवश्यक समन्वय करें। कार्य-योजना में दूसरी डोज के कव्हरेज के लिये प्रमुख रूप से आवश्यक टीकाकरण केन्द्रों के स्थल, अग्रिम रूप से समयबद्ध टीकाकरण सत्रों को कोविन प्रणाली में प्रदर्शित करना, टीकाकरण टीमों, वैक्सीनेटर, वेरीफायर इत्यादि का आंकलन करना, प्रेरकों का चिन्हांकन कर उन्हें प्रशिक्षण देना और उन्हें दायित्वों से अवगत कराना आदि को आवश्यक रूप से शामिल करें।

69 लाख नागरिकों को दूसरी डोज पेडिंग

प्रदेश में कोरोना वैक्सीन के 6.56 करोड़ कुल डोज लगे है। इसमें पहला डोज 4.90 करोड़ और दूसरा डोज 1.65 करोड़ लोगों को लगा है। अभी 69 लाख लाेगों का दूसरा डोज पेंडिंग है।

खबरें और भी हैं...