पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Kamal Nath | Madhya Pradesh Minister Kamal Patel On Rahul Gandhi And Kamal Nath Apologize For Cheating

मध्यप्रदेश में किसान पर सियासत:मंत्री पटेल ने कहा- 24 घंटे में धोखाधड़ी करने के लिए राहुल गांधी और कमलनाथ माफी मांगे; कांग्रेस का पलटवार- मंत्री ने ब्लैक लिस्टेड के पक्ष में चिट्‌टी क्यों लिखी

भोपाल25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मंत्री कमल पटेल ने राहुल गांधी और कमलनाथ से माफी मांगने की शर्त रखी, तो कांग्रेस के भूपेंद्र गुप्ता ने मंत्री पर ही भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के गंभीर आरोप लगाए। - फाइल फोटो
  • भाजपा का आरोप- झूठ बोलकर किसानों को छला और वोट लिए
  • कांग्रेस का अरोप - विधानसभा में सरकार ने ही आंकड़े बता दिए

मध्यप्रदेश में उपचुनावों को लेकर कांग्रेस और भाजपा में आरोपों का घमासान जारी है। अब कृषि मंत्री कमल पटेल ने सीधे राहुल गांधी और कमलनाथ पर निशाना साधते हुए 24 घंटे में माफी मांगने की चेतावानी दी है। उन्होंने कहा कि किसानों से झूठ बोलकर वोट लिए गए। फिर धोखाधड़ी कर साजिश के तहत उनके साथ छल किया गया।

इस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा कि कृषि मंत्री ने ब्लैक लिस्टेड सोसायटी को सफेद सूची में लाने क्यों चिट्ठी लिखी है? किसानों को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोपी अफसर को प्रशस्ति पत्र दे रहे हैं। पटेल बताएं ये रिश्ता क्या कहलाता है?

कमल पटेल ने कहा मैं खुद एफआईआर करवाऊंगा

पटेल ने आरोप लगाए कि किसानों ने 2 लाख रुपए तक का कर्जा माफ होने का वायदा मिलाने के बाद कांग्रेस को वोट दिया था। सरकार बनते ही कमलनाथ ने सबसे पहला ऑर्डर दिया। इसमें कहा कि किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्जा माफ कर दिया है। सभी किसानों को प्रमुख सचिव डॉ राजेश राजा से आदेश निकलवा दिए गए। राहुल गांधी ने कहा था कि 10 दिन में अगर कर्जा माफ नहीं किया, तो मुख्यमंत्री बदल देंगे।

कमलनाथ ने दो घंटे में ही कर दिया। कर्जा माफी का प्रमाण पत्र प्राप्त करके किसान खुश हो गए। लेकिन उनके साथ धोखाधड़ी हुई। किसी भी किसान का दो तो क्या एक लाख रुपए तक का कर्जा माफ नहीं हुआ। इसके चलते किसानों ने बैंक की किश्त नहीं भरी और वे डिफाल्टर हो गए। उन पर ब्याज पर ब्याज चढ़ गया। आज लाखों किसान कर्ज में डूबे हुए हैं।

धोखा खाए हैं। मैं राहुल और कमलनाथ को 24 घंटे में काफी मांगने का समय देता हैं। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं, तो उनके खिलाफ धोखाधड़ी और साजिश रचने का मामला दर्ज कराऊंगा। कमलनाथ ने बजट का अधिकांश हिस्सा सिर्फ विज्ञापन में खर्च किया है।

जहां तक विधानसभा में अधिकारियों द्वारा जानकारी देने का सवाल है, तो यह आंकड़े कलेक्टर द्वारा दिए गए हैं। इसमें कहा गया है कि यह लिस्ट वह है जिनके कर्जा माफ होना है। इन्हें रिकॉर्ड में लिया गया है। इनके खातों में रुपए नहीं पहुंचे हैं। इसी को कांग्रेस प्रचारित कर रही है।

आखिर कमल पेटल ने चिट्‌ठी क्यों लिखी

कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने मंत्री पर ही गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि हरदा में एक किसान सूरज द्वारा जहर पी लेने और आत्महत्या का प्रयास करने के मामले में कमल पटेल के भ्रष्ट अफसरों से रिश्ते सामने आ गए हैं। ब्लैक लिस्टेड चोपड़ा सोसाइटी को वापस सर्वे सूची में लाने के लिए कलेक्टर पर दबाव बनाने पत्र लिखा था।

जिस भ्रष्ट अधिकारी ने किसानों की प्रताड़ना की और किसान आत्मघात के लिए मजबूर हुए, उस अधिकारी ने किसान के बाजू में खड़े होने के बावजूद उसे जहर पीने से नहीं रोका। ऐसे निर्दय अधिकारी के लिए भी पटेल ने प्रशस्ति पत्र जारी किया था। भूपेंद्र गुप्ता ने मांग की है कि मंत्री पटेल की आरोपियों के साथ सांठगांठ की किसान पुत्र मुख्यमंत्री जांच कराएं और ऐसे किसान विरोधी मंत्री को तत्काल बाहर का रास्ता दिखाएं।

मंत्री पटेल पर यह आरोप लगाए

  • ब्लैक लिस्टेड चोपड़ा समिति को ब्लैक लिस्ट की सूची से बाहर करने के लिए 14 अप्रैल 2020 को कलेक्टर हरदा को पत्र क्यों लिखा?
  • किसानों को प्रताड़ित करने के आरोपी असिस्टेंट रजिस्ट्रार अखिलेश चौहान को अगस्त 2020 में प्रशस्ति पत्र क्यों दिया?
  • मंत्री कमल पटेल बताएं कि चोपड़ा की समिति के वरिष्ठ प्रबंधक को बचाने में उनके क्या स्वार्थ जुड़े हुए हैं?
  • सौ से अधिक किसानों का चना का भुगतान बाकी क्यों है?

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें