खड़गे बोले- बकरीद पर बचेंगे, तब मोहर्रम में नाचेंगे:PM का फेस बनने के सवाल पर मुहावरे में दिया जवाब

भोपाल3 महीने पहले

भोपाल आए कांग्रेस अध्यक्ष पद के प्रत्याशी मल्लिकार्जुन खड़गे से जब मीडिया ने ये सवाल किया कि अध्यक्ष बनने के बाद आप पीएम का चेहरा भी बनेंगे क्या? इस पर खड़गे ने मुहावरे में जवाब देते हुए कहा - बकरीद पर बचेंगे, तब मोहर्रम में नाचेंगे। उनके इस जवाब पर वहां ठहाके लगे।

खड़गे ने कहा- आज मैं यहां संगठन के लोगों से मिलने आया हूं, उनके सामने अपनी बात रखने आया हूं। यह संगठन का चुनाव है। कांग्रेस के संविधान के अनुरूप हम यह चुनाव लड़ते हैं। चिंतन शिविर, डेलिगेशन में जो निर्णय हुए थे, उसे प्रमुखता से लागू करूंगा। मैं सबसे जुड़ूंगा। विश्वास में लूंगा, उसके बाद ही निर्णय लूंगा। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करूंगा।

खड़गे ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC​​​​​) ​​दफ्तर पहुंचकर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और समर्थन मांगा। इस दौरान मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ, प्रदेश प्रभारी जेपी अग्रवाल के साथ उन्होंने बंद कमरे में करीब 45 मिनट बात की। वे कांग्रेस नेता और पीसीसी डेलीगेट्स से भी मिले। खड़गे जब मीडिया से बात करने पहुंचे तो यहां सेल्फी के लिए जमकर धक्का-मुक्की भी हुई।

भोपाल एयरपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष पद के उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा की।
भोपाल एयरपोर्ट पर कांग्रेस अध्यक्ष पद के उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा की।

भाजपा हमारे विधायकों को चुरा रही है
खड़गे ने भाजपा पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार संविधान नष्ट कर रही है, जहां-जहां भी कांग्रेस की सरकार आई, मोदी और शाह ने मिलकर हमारे विधायक चुरा लिए। कांग्रेस को जनता का सपोर्ट मिलने के बाद भाजपा ने संविधान के खिलाफ जाकर चोरी की। कांग्रेस की लड़ाई सड़क से लेकर संसद तक रहेगी।

भाजपा के खिलाफ लड़ना है
खड़गे ने कहा- भाजपा आज जो काम कर रही है, उसके खिलाफ लड़ना है। फिर चाहे वह बेरोजगारी हो या देश की आर्थिक स्थिति। देश में लोकतंत्र को बनाए रखने के लिए मैं चुनाव लड़ रहा हूं। आइडियोलॉजी की लड़ाई में समय या उम्र नहीं, बल्कि आपकी विचारधारा और मानसिकता मायने रखती है। कांग्रेस छोड़ रहे लोगों पर खड़गे ने कहा कि चुनाव के बाद इसके कारणों पर चर्चा होगी।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर पार्टी की मजबूती के लिए किए जाने वाले कार्यों की भी चर्चा की।
मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर पार्टी की मजबूती के लिए किए जाने वाले कार्यों की भी चर्चा की।

भाजपा की सरकार बड़ा चैलेंज
खड़गे ने कहा- हमारे सामने सबसे बड़ा चैलेंज है, भाजपा की सरकार। ये लगातार शक्तियों का दुरुपयोग कर रही है। राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की 6 सरकारें बनीं। वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व द्वारा मणिपुर, गोवा, कर्नाटक और मध्यप्रदेश में हमारी सरकार गिरा दी गई। एक तरफ आप कहते हो, हमारे पास जनाधार नहीं है। वहीं, दूसरी ओर जहां हमारी सरकार बनती है, उसे गिराने का प्रयास किया जाता है।

संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए मैं इस चुनाव में खड़ा हुआ हूं। हमारी लड़ाई सड़क से लेकर सदन तक है। मेरी यही इच्छा है कि यह संगठन का चुनाव ही रहे। हमें एक दूसरे के खिलाफ नहीं, बल्कि हम दोनों को मिलकर भाजपा के खिलाफ लड़ना है।

इस खबर को आगे पढ़ने से पहले आप पोल में भाग लेकर अपनी राय दे सकते हैं -

कमलनाथ पहले ही कह चुके, मेरा वोट खड़गे को जाएगा

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ने के लिए दिग्विजय सिंह ने भी नामांकन फॉर्म खरीदा था, लेकिन मल्लिकार्जुन खड़गे की उम्मीदवारी सामने आने के बाद दिग्विजय सिंह ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया और खड़गे के प्रस्तावक बने। उस समय प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि दिग्विजय सिंह ने मुझे फोन किया और बताया कि मैं फार्म नहीं भरूंगा, क्योंकि खड़गे जी भर रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा था कि मेरा वोट खड़गे जी को जाएगा। नाथ के इस बयान के बाद तय हो गया था कि मप्र से खड़गे को भारी सपोर्ट मिलेगा। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

17 अक्टूबर को भोपाल में होगी अध्यक्ष पद की वोटिंग
मप्र में इस बार कांग्रेस ने 504 डेलीगेट्स बनाए हैं। ये सभी डेलीगेट्स राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए वोट डालेंगे। 17 अक्टूबर को पीसीसी ऑफिस में राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए वोटिंग होगी। अध्यक्ष के चुनाव के उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीसीसी में करीब 45 मिनट बंद कमरे में कमलनाथ से चर्चा की।

इस बैठक में मप्र के प्रदेश प्रभारी जेपी अग्रवाल के साथ ही खड़गे के साथ भोपाल आए कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी और राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ भी मौजूद थे हालांकि पीसीसी के सभागार में जब खड़गे ने डेलीगेट्स से चर्चा की, उसमें कमलनाथ मौजूद नहीं रहे।

14 अक्टूबर को भोपाल में वोट मांगने आएंगे शशि थरूर
खड़गे के दौरे के बाद अब 14 अक्टूबर को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के उम्मीदवार शशि थरूर भोपाल आएंगे। थरूर पीसीसी में डेलीगेट्स से मिलकर अध्यक्ष पद के लिए वोट मांगेंगे।