परदेसी परिंदे:साइबेरिया, रशिया, यूरोप, चीन से आए प्रवासी पक्षी

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बड़ा तालाब | फोटो: अिनल दीक्षित - Dainik Bhaskar
बड़ा तालाब | फोटो: अिनल दीक्षित

शांत वातावरण और विशाल भोजवेटलैंड... हर साल हमारा शहर प्रवासी पक्षियों को यहां आने का न्यौता देता है। इस बार भी दिसंबर की शुरुआत से ही हजारों की संख्या में माइग्रेटरी बर्ड्स भोपाल आ पहुंचीं हैं। यही वजह है कि बड़े तालाब, कलियासोत डैम और केरवा की तरफ ज्यादा प्रवासी पक्षियों को देखा जा सकता है।

रेड क्रेस्टेड पोचार्ड, यूरेशियन विजन,कॉमन टील, कॉमन पोचार्ड, पिनटेल नाम के यह पक्षी साइबेरिया, रशिया, यूरोप, चीन और मंगोलिया से भोपाल पहुंचे हैं।

एक्सपर्ट मो. खालिद के मुताबिक, इन साइबेरिया, चीन, रशिया में दिसंबर से ही बर्फबारी शुरू हो जाती है, तापमान इतना गिर जाता है कि वॉटर बॉडीज जम जाती हैं। यही वजह है कि यह बर्ड्स ऐसे इलाकों को अपना प्रवास क्षेत्र चुनती हैं, जो कम ठंडे हों और जहां उन्हें भोजन आसानी से मिल सके।

खबरें और भी हैं...