पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • MLA Arif Akeel Writes To CM Demanding Investigation, Accuses Police Of Assaulting Women For Closing Tea Shop In Night Curfew

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काजी कैंप मामला गरमाया:विधायक आरिफ अकील ने सीएम को पत्र लिखकर की जांच की मांग, नाइट कर्फ्यू में चाय की दुकान बंद कराने पहुंची पुलिस पर महिलाओं से मारपीट का आरोप

भोपाल9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
काजी कैंप में पुलिस पर महिलाओं के साथ मारपीट के आरोप में विधायक आरिफ अकील ने सीएम को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच की मांग की। - Dainik Bhaskar
काजी कैंप में पुलिस पर महिलाओं के साथ मारपीट के आरोप में विधायक आरिफ अकील ने सीएम को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच की मांग की।
  • शनिवार रात काजी कैंप में नाइट कर्फ्यू में चाय की दुकान बंद कराने पहुंची पुलिस पर फेंक दी थी खौलती चाय, तीन पुलिसकर्मी हो गए थे घायल

भोपाल के काजी कैंप में नाइट कर्फ्यू में चाय की दुकान बंद कराने के मामले में अब राजनीति शुरू हो गई है। भोपाल उत्तर से विधायक आरिफ अकील ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। बता दें शनिवार रात को नाइट कर्फ्यू में चाय की दुकान बंद कराने पहुंची पुलिस पर दुकान संचालक और उसके बेटों ने हमला कर दिया था। इसमें तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। इसके बाद आरोपी के परिवार का एक वीडियो सामने आए था। जिसमें महिलाओं ने पुलिस पर मारपीट करने और तोड़फोड करने का आरोप लगाया था। अब इस मामले में विधायक ने सीएम से कहा कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच किसी वरिष्ठ अधिकारी से कराई जाए और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। साथ ही इस मामले में चाय दुकानदार जहीर और उसके बेटों के अलावा महिलाओं के खिलाफ दर्ज किए गए केस को तत्काल वापस लिया जाए। अकील ने पत्र में लिखा कि यदि लॉकडाउन का पालन नहीं हो रहा था तो पुलिस को केस दर्ज करना था। उन्हें जेल भेजा जाता और अदालत की कार्यवाही की जाती, लेकिन पुलिस का तात्कालिक सजा देने का रवैया ही इस घटना का कारण बना है।

अकील ने लिखा है कि पुलिस जवानों द्वारा लोगों से झूमा-झटकी और मारपीट के दौरान उनके हाथ पर गर्म चाय गिरी है, न कि किसी दुर्भावना से उन्हें चोटिल करने का अपराध किया गया है। पुलिस की गुंडई का सारा काला चिट्ठा उस चाय दुकान में लगे हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद था, जिसको पूरी तरह से तोड़फोड़ कर जवानों ने सारे सबूत नष्ट कर दिए हैं। अकील ने लिखा है कि पुलिसिया जुल्म की इंतहा यह है कि बिना किसी महिला पुलिस की मौजूदगी में उन्होंने महिलाओं पर लाठियां बरसाना शुरू कर दीं। जिसमें शाहीन नूर, शादमा और उज्मा बुरी तरह से घायल हुई हैं, जिनका मेडिकल चैकअप कराया गया है। इस बीच पुलिस की दरिंदगी का नजारा यह है कि उन्होंने 12 साल की बच्ची कशिश को भी बेरहमी से पीटा है।

अब अदालत जाने की तैयारी

महिलाओं को पुलिस, सियासत, आयोगों से किसी तरह की राहत नहीं मिल रही है। इसको लेकर अब महिलाएं अदालत जाने की तैयारी कर रही है। जहां पीड़ित महिलाएं इंसाफ और दोषी पुलिसकर्मियों के लिए सजा की मांग करेंगी।

यह है मामला

भोपाल के काजी कैंप में नाइट कर्फ्यू के दौरान पुलिस को गली नंबर-4 में रात 11 बजे चाय की दुकान खुली होने की सूचना मिली थी। जिसे बंद कराने पहुंची तीन पुलिसकर्मियों पर दुकान पर बैठे लोगों ने हमला कर दिया था। इसमें से एक पुलिसकर्मी पर दुकान संचालक और उसके बेटे ने खौलती चाय फेंक दी। इसमें एएसआई समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। पुलिस ने 16 आरोपियों पर मामला दर्ज किया था। वहीं, दूसरी तरफ आरोपी के परिजनों ने पुलिस पर घर में घुसकर महिलाओं के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया था।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

और पढ़ें