• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • More Than 21 Thousand Idols Were Immersed By Crane At 7 Places, But No One Was Allowed To Get Into The Water.

भोपाल में अब तक का सबसे सुरक्षित गणेश विसर्जन:7 जगह क्रेन से 21 हजार से ज्यादा प्रतिमाएं विसर्जित, लेकिन किसी को भी पानी में नहीं उतरने दिया

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दो साल पहले खटलापुरा घाट पर गणेश प्रतिमा विर्जन के दौरान नाव डूबने से 11 लड़कों की मौत हो गई थी। इस हादसे से जिला प्रशासन ने सबक लिया। ये सबक रविवार को देखने को मिला। शहर के 7 बड़े स्थानों पर 21 हजार से ज्यादा छोटी-बड़ी गणेश प्रतिमाएं विसर्जित की गईं, लेकिन पुलिस और प्रशासन की सख्ती के चलते किसी भी व्यक्ति को पानी में नहीं उतरने दिया गया। चाहे छोटी हो या बड़ी, सभी प्रतिमाओं को जेसीबी मशीन की सहायता से विर्सजित किया गया। इसे भोपाल में अब तक का सबसे सुरक्षित गणेश विसर्जन माना जा रहा है।

10 दिन साथ रहे और घर में ही बस गए... 50 हजार से ज्यादा गणेश प्रतिमाओं का घरों में ही विसर्जन
अनंत चतुर्दशी पर रविवार को शहर के 7 विसर्जन स्थलों पर देर रात तक करीब 21 हजार छोटी-बड़ी और घरों में 50 हजार से ज्यादा गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन हुआ। प्रेमपुरा और खटलापुरा जैसे स्थानों पर निगमकर्मियों की मौजूदगी में प्रतिमा विसर्जित की गईं। शाहपुरा में अमले ने प्रतिमाएं पोकलेन मशीन पर रखकर गणेश प्रतिमाएं प्रवाहित कराईं।

शहर में पिछले कुछ वर्षों से घर में प्रतिमा विसर्जन का चलन बढ़ रहा है। खास तौर से पर्यावरण को लेकर सक्रिय और चिंतित लोग घरों में प्रतिमा विसर्जित कर रहे हैं। शहर का महाराष्ट्र समाज इस मामले में सबसे ज्यादा सक्रिय है। गौतम नगर, भेल, अवधपुरी, तुलसी नगर, शिवाजी नगर, जवाहर चौक, कोटरा सुल्तानाबाद, कोलार रोड और बावड़िया कलां सहित शहर के विभिन्न इलाकों में लोगों ने घर में ही प्रतिमा विसर्जित की।

खबरें और भी हैं...