• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • My Focus Is Only The Student, I Will Take The Class Myself; I Will Also Open The Complaint Box Daily

कार्यभार संभाला:मेरा फोकस सिर्फ स्टूडेंट, खुद क्लास लूंगा; रोजाना कम्प्लेंट बॉक्स भी खुद ही खोलूंगा

भोपाल6 दिन पहलेलेखक: गिरीश उपाध्याय
  • कॉपी लिंक
बीयू के नवनियुक्त कुलपति प्रो. एसके जैन ने संभाला कार्यभार, बोले- पढ़ाने से लेकर जॉब दिलाने तक की चिंता करेंगे - Dainik Bhaskar
बीयू के नवनियुक्त कुलपति प्रो. एसके जैन ने संभाला कार्यभार, बोले- पढ़ाने से लेकर जॉब दिलाने तक की चिंता करेंगे

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (बीयू) के नवनियुक्त कुलपति प्रो. एसके जैन ने कार्यभार संभाल लिया है। प्रो. जैन ने कहा कि बीयू का कुलपति बनने से पहले 7-8 बार यहां आया हूं। ज्यादा लोगों से इंटरेक्शन तो नहीं हुआ, लेकिन जितना आब्जर्व किया, उसको लेकर इतना जरूर है कि विवि की अकादमिक और प्रशासनिक सहित स्टूडेंट्स फैसिलिटी में सुधार की आवश्यकता है।

इस पर फोकस्ड होकर काम करेंगे। मेरी वर्किंग के केंद्र में स्टूडेंट्स रहेंगे। यही हमारे मुख्य स्टेक होल्डर हैं। विद्यार्थियों से उनकी कक्षाओं में जाकर चर्चा करूंगा। उनसे जानूंगा कि वे विवि से क्या चाहते हैं। स्टूडेंट्स के पास आउट होने से पहले कैंपस प्लेसमेंट कराकर जॉब उपलब्ध कराने की भी चिंता विवि करेगा। इसलिए कर्मचारियों, शिक्षकों और संबद्ध कॉलेजों से अलग-अलग स्तर पर चर्चा कर पूरा रोडमैप तैयार करेंगे। दैनिक भास्कर ने विवि और स्टूडेंट्स से जुड़े कुछ मुद्दो पर बात की और जाना कि आगे वे किन-किन मुद्दों पर काम करने वाले हैं...

आपका कार्यकाल चार साल का है। पहले वर्ष के लिए क्या टारगेट है।
मेरा पहला टारगेट नैक प्रत्यायन कराना है। मैंने इसके इंजार्च फैकल्टी से चर्चा की है। पूर्व से विवि जो तैयारी कर रहा है, उसकी समीक्षा करेंगे। कमियां सुधारेंगे, लेकिन इसी सत्र में हम नैक असेसमेंट जरूर कराएंगे। चाहे परिणाम जो भी आए।

सीनियर फैकल्टी लगातार रिटायर्ड हो रही है। 50% से ज्यादा पद खाली हैं। फैकल्टी की भर्ती का क्या प्लान है?
जल्द से जल्द भर्ती के लिए राजभवन और राज्य शासन स्तर पर चर्चा करूंगा। विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा देनी है तो शिक्षकों की नियुक्ति करनी होगी।

छात्र पढ़ें और शिक्षक पढ़ाएं, ऐसा माहौल बनाने के लिए क्या करेंगे?
मैं खुद क्लास लूंगा। मैं विवि कैंपस में उपलब्ध रहूंगा तो सबसे पहले छात्रों को पढ़ाने के लिए भी उपलब्ध रहूंगा। एक पीरियड तो रोजाना पढ़ाऊंगा ही। मैं गणित विषय पढ़ाता हूं। इसके अलावा विशेषज्ञों के लेक्चर कराएंगे। इसमें इंडस्ट्री के लोग भी शामिल करेंगे। हमारा फोकस होगा कि ऐसा क्वालिटी रिसर्च हो समाज के लिए उपयोगी हो। इसके लिए हर विभाग की समीक्षा कर कमियों का दूर करेंगे। हर शिक्षक की अकाउंटेबिलिटी तय होगी।

छात्र अपनी शिकायत आप तक पहुंचा सकें। इसके लिए क्या सिस्टम होगा?
अगले सप्ताह में स्टूडेंट्स को वाट्सएप नंबर और ईमेल उपलब्ध कराया जाएगा। मेरे कार्यालय के बाहर कंप्लेंट बॉक्स लगेगा। जिसे मैं ही रोज खोलूंगा। विद्यार्थियों से मैं सीधे संपर्क में रहूंगा।

नई शिक्षा नीति का क्रियान्वयन प्रभावी रूप से कैसे कराएंगे?
नई शिक्षा नीति एक बड़ा टॉस्क है। इसके सफल क्रियान्वयन के लिए एवं इसकी निगरानी के लिए हम विश्वविद्यालय स्तरीय टॉस्क फोर्स बनाएंगे। इसके लिए न सिर्फ यूटीडी बल्कि संबद्ध संस्थानों के शिक्षकों से सतत संवाद करेंगे। नई शिक्षा नीति के अनुकूल अकादमिक माहौल बनाने के लिए टीम वर्क के साथ काम करेंगे।