पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऐसी लापरवाही पड़ेगी भारी:प्रदेश में नए केस 98% तक कम, पर मौतें अप्रैल की तुलना में दोगुनी हो रहीं

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में साप्ताहिक संक्रमण दर अभी 0.03% है, भोपाल में 1.1%...क्योंकि यहां अब भी ऐसी फोटो आ रही हैं; तस्वीर लखेरापुरा की है। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में साप्ताहिक संक्रमण दर अभी 0.03% है, भोपाल में 1.1%...क्योंकि यहां अब भी ऐसी फोटो आ रही हैं; तस्वीर लखेरापुरा की है।
  • भोपाल में अब भी प्रदेश के 34% एक्टिव केस

मध्यप्रदेश के जिले कोरोना मुक्त होने लगे हैं। गुरुवार को भिंड-बुरहानपुर संक्रमण मुक्त हो गए। यहां एक भी एक्टिव केस नहीं है। 22 जिलों में कोई नया केस नहीं मिला, जबकि छह जिलों में ही 5 या इससे ज्यादा केस मिले हैं।

भोपाल को छोड़ बाकी जिलों में संक्रमण दर 1% से कम है, लेकिन राजधानी में प्रदेश के 34% (1015) एक्टिव केस हैं। लेकिन चिंता की बात ये है कि मौतों के आंकड़े भले ही कम हो गए हों, लेकिन रफ्तार अप्रैल वाली ही है। अप्रैल की शुरुआत में प्रदेश में हर दिन 2500 नए केस मिलने के साथ ही औसतन 16 मौतें हो रही थीं। अब 150 से कम केस मिल रहे हैं, लेकिन मौतें हर दिन 30 हो रही हैं।

यानी नए संक्रमित 98% तक कम होने के बावजूद मौतें दोगुनी हो रही हैं। गुरुवार को प्रदेश में 145, भोपाल में 42 और इंदौर में 34 नए मामले सामने आए। प्रदेश की साप्ताहिक संक्रमण दर 0.3% पर है, जबकि भोपाल जिले की 1.1% है।

भोपाल में मिला प्रदेश का पहला डेल्टा प्लस केस

बरखेड़ा पठानी स्थित आधारशिला कॉलोनी की 65 वर्षीय महिला में कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट मिला है। मप्र में यह पहला और देश का 7वां मामला है। महिला के बेटे ने बताया कि 23 मई को मां में संक्रमण की पुष्टि हुई। डॉक्टरों की सलाह पर घर पर ही इलाज लिया। 15-16वें दिन मां ठीक हो गईं, लेकिन 16 जून को बताया गया कि मां के सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग में डेल्टा प्लस वैरिएंट मिला है। स्वास्थ्य विभाग ने आसपास के घरों और 10 लोगों के सैंपल लिए। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अब 25 अन्य लोगों के सैंपल लिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...