• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Now It Is Necessary To Audit In 10 Days; Action If Certificate Is Not Shown; Collector's Orders

भोपाल के आधे नर्सिंग होम-हॉस्पिटल में फायर सेफ्टी नहीं!:अब 10 दिन में ऑडिट करना जरूरी; सर्टिफिकेट नहीं दिखाया तो कार्रवाई

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल के करीब आधे नर्सिंग होम-हॉस्पिटल में फायर सेफ्टी के इंतजाम नहीं हैं। ऐसे में हमीदिया हॉस्पिटल जैसे हादसे दोबारा हो सकते हैं। भोपाल के नर्सिंग होम और हॉस्पिटल में 10 दिन के अंदर आग बुझाने और फायर ऑडिट जरूरी है। ऑडिट नहीं कराया और सर्टिफिकेट नहीं दिखाया, तो जिला प्रशासन ऐसे नर्सिंग होम और हॉस्पिटल संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करेगा। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने इस बारे में CMHO को आदेश जारी किए हैं।

बता दें कि हमीदिया की कमला नेहरू बिल्डिंग में नवंबर में आग लग गई थी। इससे कई नवजात बच्चों की मौत हो गई थी। हादसे ने राजधानी के अन्य हॉस्पिटल, नर्सिंग होम और कॉमर्शियल-रेसीडेंशियल बिल्डिंगों में फायर सेफ्टी को लेकर सवाल उठा दिए थे, क्योंकि जिस बिल्डिंग में घटना हुई थी, वहां आग बुझाने के माकूल इंतजाम नहीं थे।

इस कारण नवजात बच्चों को बचाया नहीं जा सका था। हालांकि हादसे के बाद निगम अफसर जागे। बिल्डिंगों में फायर ऑडिट कराने का दावा किया जा रहा था। बावजूद ऐसा नहीं हो पाया। एक महीना बीतने के बावजूद भोपाल के करीब 20% हॉस्पिटल और नर्सिंग होम ने ऑडिट नहीं कराया।

ऐसे पहुंच रहा आधा आंकड़ा
नगर निगम के आंकड़ों की मानें, तो अब तक करीब 410 संस्थाओं को फायर NOC जारी की गई है। इनमें 150 हॉस्पिटल और नर्सिंग होम शामिल हैं। वहीं, करीब 80 अस्पताल, नर्सिंग होम व अन्य बिल्डिंगें हैं, जिनकी NOC की प्रोसेस जारी है। यानी ये बिना NOC के ही चल रहे हैं। अब इन बिल्डिंगों में आग बुझाने के इंतजाम कितने हैं, यह बताना भी मुश्किल है।

7 महीने पहले ही हुआ था ऑडिट
बता दें कि करीब 7 महीने पहले ही नगर निगम ने अस्पताल, नर्सिंग होम और अन्य संस्थाओं का निरीक्षण किया था। यहां आग बुझाने के इंतजामों की हकीकत जानी गई थी। इनमें से कई संस्थाओं ने फायर ऑडिट रिपोर्ट दे दी। कई ने तो कागजों में ही आग बुझाने के उपकरण बता दिए, लेकिन हकीकत जुदा है। कमला नेहरू की जिस बिल्डिंग में आग लगी थी, उसने भी करीब 15 साल से NOC नहीं ली थी। बावजूद कार्रवाई नहीं की गई।

कंसल्टेंट ऑडिट कर जारी करते हैं NOC
नगर निगम ने हॉस्पिटल, नर्सिंग होम और कॉमर्शियल-रेसीडेंशियल बिल्डिंगों में फायर सेफ्टी की NOC जारी करने के लिए फायर कंसल्टेंट की नियुक्ति की है, जो तय पैमानों पर निरीक्षण कर ऑडिट करते हैं। इसके बाद NOC जारी करते हैं।

कलेक्टर ने दिए आदेश
कलेक्टर लवानिया ने सभी SDM और CMHO को निर्देश दिए हैं कि 10 दिन के अंदर अपने-अपने क्षेत्र में आने वाले सभी अस्पतालों एवं नर्सिंग होम्स की मौका जांच कर फायर सेफ्टी ऑडिट का प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने फायर सेफ्टी प्रमाण पत्र प्रस्तुत नहीं करने वालों को हिदायत दी है कि ऐसी संस्थाओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।