पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Now Multi Purpose Yoga Workers Will Reach Home On Your Demand, 331 Experts Will Be Prepared In The First Phase

डिप्लोमा कोर्स:अब आपकी डिमांड पर घर पहुंचेंगे मल्टी पर्पज योग वर्कर, पहले चरण में तैयार किए जाएंगे 331 विशेषज्ञ

भोपाल16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभी जो योग की ट्रेनिंग दे रहे, उन्हें संस्कृत बोर्ड के प्लेटफॉर्म से जोड़ा जाएगा

यदि आपको घर बैठे योग, न्यूट्रीशियन, फिजियोथैरेपी, डाइटीशियन, नेचरोपैथी के जानकार की जरूरत है तो वह पूरी हो सकेगी। अब ऐसे विशेषज्ञ मप्र संस्कृत बोर्ड तैयार करेगा। इसके लिए बोर्ड द्वारा एक साल का डिप्लोमा कोर्स करवाया जाएगा। सितंबर से कोर्स शुरू होगा। इस कोर्स को करने के बाद संबंधित व्यक्ति उसे रोजगार के रूप में अपना सकेगा। संस्कृत बोर्ड के डायरेक्टर पीआर तिवारी ने बताया कि पहले चरण में 331 विशेषज्ञ तैयार किए जाएंगे।

अब योग, न्यूट्रीशियन जैसे विशेषज्ञों की पड़ने लगी है जरूरत

कोरोना संक्रमण के बाद वर्तमान में योग, न्यूट्रीशियन, फिजियोथैरेपी आदि करने वाले विशेषज्ञों की जरूरत पड़ने लगी है। इस कमी को दूर करने के लिए मप्र संस्कृत बोर्ड द्वारा एक साल के डिप्लोमा कोर्स के दौरान इन सारी विधाओं को एक ही प्लेटफॉर्म पर कोर्स के रूप में युवाओं को पढ़ाकर तैयार किया जाएगा। जो भी युवा इस कोर्स को कर लेंगे, बोर्ड की वेबसाइट पर उनके नाम, कॉन्टेक्ट नंबर, उनकी फीस आदि की जानकारी भी आम लोगों को उपलब्ध होगी। इनसे लोग उनकी सेवाएं सीधे संपर्क कर ले सकेंगे। अधिकारियों का कहना है कि एक साथ कई विशेषज्ञताओं वाला यह पहला डिप्लोमा कोर्स होगा, जिसके कई तरह के फायदे आवेदक को मिलेंगे।

पुरानों लोगों को जोड़ा जाएगा

विभिन्न विश्व विद्यालयों द्वारा योग, नैचरोपैथी, डाइटिशियन आदि के अलग-अलग कोर्स करवाए जाते हैं। लेकिन ऐसे लोगों के पास ऐसा प्लेटफॉर्म नहीं होता। पहले से कोर्स कर चुके ऐसे लोगों को भी संस्कृत बोर्ड अपने प्लेटफॉर्म से जोड़ेगा।

फीस भी कम ही लगेगी

वर्तमान में विभिन्न विश्वविद्यालयों द्वारा अपने यहां योग या डाइटिशियन जैसे कोर्स 30 से 35 हजार रुपए में करवाए जाते हैं। जबकि, संस्कृत बोर्ड यह कोर्स 18 हजार रुपए में ही एक साल के दौरान करवाएगा, जिसमें एक साथ कई विधाएं शामिल रहेंगी।

लिया जाएगा फीडबैक... इस कोर्स को करने के बाद जो लोग अपने क्लाइंट को रोज योग डाइटिशियन समेत अन्य सेवाएं देंगे, उनका फीडबैक भी मप्र संस्कृत बोर्ड द्वारा लगातार लेने की व्यवस्था की जाएगी।

खबरें और भी हैं...