पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Now There Is No Sampling Of Crow pigeons, The Focus Will Be On The Chickens; 1200 Chickens Killed Due To Fear Of Becoming Infected

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू का खतरा:अब कौए-कबूतरों की सैंपलिंग नहीं, मुर्गियों पर ही रहेगा फोकस; संक्रमित होने की आशंका के चलते 1200 मुर्गियां मारीं

भोपाल3 दिन पहलेलेखक: राहुल शर्मा
  • कॉपी लिंक
सैनिटाइजर का छिड़काव, ताकि रोका जा सके संक्रमण - Dainik Bhaskar
सैनिटाइजर का छिड़काव, ताकि रोका जा सके संक्रमण
  • पशुपालन विभाग की सलाह- पोल्ट्री फार्म के कर्मचारी ही उनके पास जाएं, मुर्गियों को दूसरे पक्षियों के संपर्क मेंं न आने दें

प्रदेश में बर्ड फ्लू के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में अब जिन जिलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है वहां पर कौए और कबूतरों की मौत होने पर उनकी सैंपलिंग नहीं की जाएगी। उन्हें एहतियात के साथ दफन किया जाएगा।

केवल उन जिलों में फोकस रहेगा जहां अब तक बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है। भोपाल जैसे शहरों में जहां बर्ड फ्लू के मामले आए हैं वहां केवल पोल्ट्री पर फोकस रहेगा। संक्रमित हाे चुकी या संक्रमित हाेने की संभावना वाली करीब 1200 मुर्गियां मार दी गई हैं।

प्रदेश में 2006 में मिला था बर्ड फ्लू का पहला केस

प्रदेश में बर्ड फ्लू का सबसे पहला मामला 2006 में सामने आया था। इस दौरान प्रदेश में लगभग साढ़े पांच हजार मुर्गियों को मारा गया था। इसके बाद 2018 में ग्वालियर के जू में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी। यहां चिड़ियों के सैंपल पाॅजिटिव पाए गए थे। 2019 में भी भिंड जिले में बर्ड फ्लू के मामले सामने आए थे और करीब 220 मुर्गियों को मारा गया था।

अब तक भेजे जा चुके 346 सैंपल

अब मुर्गियां मरने पर ही बर्ड फ्लू वाले जिले में सेंपल भेजे जा रहे है, ऐसा क्यों ?
जहां बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है वहां के सैंपल बार-बार भेजने से लैब पर लोड बढ़ता है। मुर्गी मरने पर भेज रहे हैं ताकि पोल्ट्री को बचाया जा सके।

अब तक कितने सैंपल भेजे जा चुके हैं?
अब तक 346 सैंपल भेजे जा चुके हैं। भोपाल के दो नमूने हाल में भेजे गए थे निगेटिव आए हैं।

क्या एहतियात बरती जा रही है?
तालाब, डैम आदि क्षेत्रों में जो पक्षी आते हैं, उन पर पशुपालन, वन विभाग नजर रखे हुए है।

जांच के लिए भेजे गए सैंपल: बैरसिया में 3 मुर्गियों समेत 7 पक्षियों की मौत, करोंद में भी कबूतर मरे

राजधानी में पक्षियों के मरने का सिलसिला जारी है। बुधवार को बैरसिया क्षेत्र में सात पक्षियों की मौत हुई। इनमें तीन पालतू मुर्गी हैं। इनके सैंपल जांच को भेजे गए हैंं। करोंद इलाके में भी पांच कबूतरों की मौत हुई है। बैरसिया के विभिन्न क्षेत्रों में पक्षियों का सीरो सर्विलांस के तहत सैंपल लिए जा रहे हैं। डॉ. राजेश तुलसियानी ने बताया कि यहां तीन पालतू मुर्गियां मरी हैं।

इनमें से कोई भी पोल्ट्री फार्म की नहीं है। लोगों ने घर पर पाली हुई थी। ऐसी संभावना है कि यह किसी बर्ड फ्लू से प्रभावित पक्षी के संपर्क में आई हों और बाद मेंं संक्रमित होकर मर गईं। इनके अलावा दो कबूतर भी मरे हैं। भैंसोदा में एक बगुला की भी मौत हुई है जिसे दफना दिया गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser