• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • One third Of The State Covered With Fog, Visibility 50 To 1000 Meters; Lowest Fog In Indore, Rewa And Shahdol Divisions

कोहरे से ढंका मध्यप्रदेश:विजिबिलिटी 50 से 1000 मीटर रही; इंदौर, रीवा और शहडोल संभाग में रहा सबसे कम कोहरा

भोपाल8 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबोलिया
  • कॉपी लिंक

पूरा मध्यप्रदेश रविवार को नए साल के पहले घने कोहरे के आगोश में रहा। भोपाल से 432 किमी दूर ग्वालियर, 320 किमी दूर जबलपुर, 372 किमी दूर खजुराहो तक घना कोहरा छाया रहा। भोपाल में सुबह विजिबिलिटी 50 मीटर रह गई थी। राजधानी में नए साल का यह पहला सबसे घना कोहरा था।

सुबह 5:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक लगातार 7 घंटे राजधानी कोहरे से ढंकी रही। घने कोहरे का असर यह हुआ कि भोपाल में इंडिगो की दिल्ली फ्लाइट कैंसिल कर दी गई। अहमदाबाद फ्लाइट 1 घंटे 22 मिनट , हैदराबाद फ्लाइट 1 घंटे 19 मिनट और मुंबई फ्लाइट 3 घंटे 25 मिनट देरी से पहुंची। बेंगलुरु फ्लाइट को इंदौर डायवर्ट करना पड़ा।

उधर, पश्चिमी उत्तरप्रदेश के ऊपर चक्रवाती घेरा बनने से उत्तरी हवा शीत लहर का रूप अपना चुकी है। प्रदेश में सबसे ठंडी रात भिंड (गोहद) की रही। यहां पर 2.3 डिग्री सेल्सियस पारा रहा। प्रदेशभर में ऐसी ठंड अगले दो-तीन दिन और बनी रह सकती है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि चक्रवाती घेरा बना जरूर है, लेकिन अब उत्तर की तरफ से आने वाली हवा को कम बल मिल रहा है। इससे अगले 24 घंटे बाद अंतर दिखाई देगा। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से दिन-रात के तापमान में 2 से 3 डिग्री तक की बढ़ोत्तरी हो जाएगी। इस दौरान सर्दी से थोड़ी राहत मिलेगी।

कोहरे के दौरान प्रदेश में कहां कितनी रही विजिबिलिटी

  • गुना 100 मीटर
  • भोपाल 50 मीटर
  • शाजापुर 50 से 200 मीटर
  • रतलाम 200 से 500 मीटर
  • राजगढ़ 500 मीटर
  • उज्जैन 500 से 1000 मीटर
  • दतिया 1000 मीटर
  • इंदौर 1000 मीटर
  • होशंगाबाद 1000 मीटर
  • सागर 50 मीटर से कम
  • टीकमगढ़ 50 से 200 मीटर
  • दमोह 200 से 500 मीटर
  • छतरपुर 200 से 500 मीटर
  • (नौगांव)
  • ग्वालियर 600 मीटर
  • जबलपुर 200 से 500 मीटर
  • खजुराहो 500 मीटर
  • मंडला 500 से 1000 मीटर
  • नरसिंहपुर 1000 मीटर
  • सतना 1500 मीटर
  • घने कोहरे की यह है वजह

मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया पिछले दिनों हुई बारिश के कारण प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में नमी सौ फीसदी रही। हवा की रफ्तार भी बहुत कम थी। इस कारण इतने बड़े इलाके में कोहरा छाया।

यहां रहा सीवियर कोल्ड डे
भोपाल, ग्वालियर, दतिया, छतरपुर, शिवपुरी, अशोकनगर, रायसेन, विदिशा, सिवनी, खजुराहो, शाजापुर राजगढ़ और सीहोर।

इन शहरों में रहा कोल्ड डे
उज्जैन, गुना, दमोह, सागर, मंडला, नीमच , मंदसौर, खंडवा, बालाघाट।

इन शहरों में चली शीतलहर
रतलाम, मंदसौर, नीमच, सागर, छतरपुर, भिंड, ग्वालियर व शिवपुरी।