पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Palm Trees Are Being Planted On Boulevard Street By Cutting Trees Like Mango, Banyan And Neem

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पर्यावरण की बजाय खूबसूरती पर फाेकस:आम, बरगद और नीम जैसे पेड़ काटकर बुलेवर्ड स्ट्रीट पर दो करोड़ खर्च करके लगा रहे पाम ट्री

भोपालएक महीने पहलेलेखक: मनोज जोशी
  • कॉपी लिंक
तस्वीर उसी बुलेवर्ड स्ट्रीट की। - Dainik Bhaskar
तस्वीर उसी बुलेवर्ड स्ट्रीट की।
  • सिया की शर्ते नहीं मानी, वन विभाग से भी नहीं ली राय
  • माता मंदिर से जवाहर चौक तक ऐसे ही हैं हालात

माता मंदिर से जवाहर चौक तक निर्माणाधीन बुलेवर्ड स्ट्रीट के सेंट्रल वर्ज और साइड में हरियाली के नाम पर दो करोड़ रुपए खर्च करके पाम ट्री और दूसरी विदेशी प्रजातियों के पेड़- पौधे लगाए जा रहे हैं। खूबसूरत दिखने वाले यह पेड़- पौधे भोपाल की जलवायु और पर्यावरण के अनुकूल नहीं हैं।

स्मार्ट सिटी कंपनी को स्टेट इन्वायर्नमेंट इंपेक्ट असेसमेंट अथॉरिटी (सिया) ने इस शर्त के साथ डेवलपमेंट की अनुमति दी है कि यहां देसी प्रजातियों के ही पौधे लगाए जाएंगे। इसमें वन विभाग की सलाह भी ली जाना हैै। सिया की अनुमति में इस बात का भी जिक्र है कि कुल प्लानिंग एरिया 138.5 हेक्टेयर (342 एकड़) का 17% यानी 23.53 हेक्टेयर (58.14 एकड़) क्षेत्र में पौधरोपण करना होगा।

टीटी नगर- यहां हर घर-आंगन में लगे थे पेड़ ही पेड़

इस लोकेशन पर 342 एकड़ एरिया में लगभग 6000 पेड़ लगे थे। पूरे क्षेत्र में 2000 से अधिक मकानों के आंगन और अन्य खुली जगह पर आम, नीम, पीपल, बड़, अमरूद समेत अन्य प्रजाति के पेड़ लगे हुए थे। 2016 में बीडीए की टीटी नगर रीडेंसीफिकेशन स्कीम के लिए सीपीए द्वारा की गई सर्वे की रिपोर्ट बताती है कि इस क्षेत्र में 30 सेमी से अधिक गोलाई वाले 6000 पेड़ हैं।

सीपीए ने 15 फरवरी 2016 को बीडीए को 100 पेज की रिपोर्ट सौंपी थी। रिकाॅर्ड पर लगभग 1000 पेड़ काटने की अनुमति ली गई है, लेकिन मौके पर जिस तरह से पेड़ सूख रहे हैं और काटे जा रहे हैं उसको देख कर लगता है कि अब तक दो से ढाई हजार पेड़ नष्ट किए जा चुके हैं।

बुलेवर्ड स्ट्रीट: 400 से ज्यादा पाम ट्री

लगभग 1.6 किमी लंबी बुलेवर्ड स्ट्रीट के सेंट्रल वर्ज पर 400 से ज्यादा फॉक्स टेल पाम ट्री लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही बुलेवर्ड के दोनों साइड पेड़ों की दो-दो लेन और लगाई जाएगी। इनमें भी ज्यादातर विदेशी प्रजातियों के ही पेड़ होंगे। किनारों पर लगने वाले पेड़ छायादार होंगे।

सिया की शर्त थी: 17 प्रजाति के पौधे लगाएंगे

सिया ने कंपनी को पर्यावरण अनुमति में शर्त रखी है कि नीम, महानीम, गुलमोहर, मौलश्री, करंज, पुत्रंजीवा जैसी 17 प्रजातियों के पौधे लगाए जाएंगे। यह भी लिखा है कि कंपनी को कम से कम दो मी. ऊंचाई के 30 हजार पेड़ लगाना होंगे। इसके लिए प्रोजेक्ट कम्पलीट होने का इंतजार नहीं करना होगा।

पाम ट्री तो बेहतर नहीं है

यह पाम ट्री देखने में भले ही खूबसूरत लग रहे हैं, लेकिन भोपाल के पर्यावरण के हिसाब से इनका रोपण उचित नहीं है। पाम ट्री समुद्र के किनारे लगाए जाते हैं। टीटी नगर का एरिया शहर के लिए लंग्स की तरह काम करता है, यहां की हरियाली पूरे शहर की आबो-हवा को ठीक रखती है। यहां खूबसूरती नहीं पर्यावरण को ध्यान में रख कर काम किया जाना चाहिेए।

- डॉ. सुदेश वाघमारे, पर्यावरण विशेषज्ञ

लगाएंगे 30 हजार पेड़

बुलेवर्ड स्ट्रीट का पौधरोपण सिया की शर्त के अतिरिक्त है। सिया ने जो 23.53 एकड़ में 30 हजार देसी प्रजातियों के पेड़ लगाने की शर्त लगाई है उसके लिए हमने अलग साइट सिलेक्ट की हैं। उसका पालन किया जाएगा।

-आदित्य सिंह, सीईओ, स्मार्ट सिटी कंपनी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें