पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 'Panchhi', The First Poem Of 14 Years Of Greatness, Received High Flying, CM Read The Poem From The Stage And Honored The 8th Student

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छाेटा पैकेट बड़ा धमाल:14 साल की महती की पहली कविता ‘पंछी’ को मिली ऊंची उड़ान, सीएम ने मंच से पढ़ी कविता और किया 10वीं की छात्रा का सम्मान

भोपाल8 दिन पहलेलेखक: राजेश गाबा
पहली फोटो महती दीक्षित की कविता पंछी को सीएम श्निवराज सिंह चौहान ने अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया। दूसरी कविता में महती दीक्षित सम्मान के बाद।

कहते हैं प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती। यह बात भोपाल के कार्मल कॉन्वेंट स्कूल की कक्षा 10 में पढ़ने वाली 14 साल की महती दीक्षित पर बिल्कुल फिट बैठती है। उनकी बालिकाओं के साहसी होने पर लिखी कविता ‘पंछी’ को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मिन्टो हॉल में पुलिस विभाग के सम्मान कार्यक्रम में मंच से न केवल पढ़ा, बल्कि उसकी तारीफ करते हुए महती को तुलसी का पौधा भेंट कर सम्मानित किया। सीएम को यह कविता इतनी पसंद आई की उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर भी किया। दैनिक भास्कर ने महती और उसके पेरेंट्स से बात कर महती की पहली कविता और इसके लिखने के पीछे की प्रेरणा को जाना।

यह है महती की कविता ‘पंछी’

तू फूल नहीं फौलाद बन,

इस देश की आवाज बन।

न कोई झंझोड़ पाये पिंजरे में तुझे,

इस खुले आसमां की आजाद पंछी बन।

तू देख सपने बड़े,

न रुक उन लोगों को देख खड़े।

तू छलांग तो मार एक बार,

बिना इस दुनिया से डरे।

तू फूल नहीं फौलाद बन,

इस देश की आवाज बन।।

तू उम्मीद बन हर उस पीड़ित की,

जो आस लगाए हैं खड़े।

तू आग बन, तूफान बन,

मां दुर्गा का अवतार बन,

न किसी का अहसान बन,

तू फूल नहीं फौलाद बन,

इस देश की आवाज बन।।

ये ‘पंछी’ मेरी पहली कविता है। मेरे पापा और मम्मी दोनों आईपीएस ऑफिसर हैं। कविता मैंने सोचकर नहीं लिखी थी, लेकिन हम डेली लाइफ अपने आसपास देखते हैं, आब्जर्व करते हैं। उसी को ध्यान में रखकर मैंने सारे शब्द उपयोग किए। मुझे नहीं पता था कि वो पुलिस सम्मान समारोह की मैग्जीन में पब्लिश होगी। उसे अचानक सीएम शिवराज सिंह चौहान सर ने मंच से जब पढ़ा। मेरा नाम अनाउंस हुआ और मुझे पौधा देकर सम्मानित किया तो बड़ी खुशी हुई। इंस्पीरेशन भी मिली और आगे अच्छा लिखने की।

मिन्टो हॉल में सीएम शिवराज सिंह चौहान से सम्मान लेने के बाद फैमिली के साथ।
मिन्टो हॉल में सीएम शिवराज सिंह चौहान से सम्मान लेने के बाद फैमिली के साथ।

बेटी को दें पक्षियों की तरह उड़ने के लिए खुला आसमान

महती की मम्मी ए आईजी महिला अपराध शालिनी दीक्षित ने कहा कि सबसे पहली अपनी बिटिया को बधाई देना चाहती हूं। मुझे नहीं पता कब और कैसे उसने ऑब्जर्व किया। मैं पुलिस सेवा में होने के कारण देर से घर पहुंच रही थी। एक दिन बेटी ने मुझसे बोला कि मम्मी मैंने एक कविता लिखी है। यह एक इत्तेफाक था कि वह कविता ‘पंछी’ महिला अपराध जागरुकता से सुरक्षा सम्मान की बुकलेट में छपी और उसे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंच से पढ़ा और मेरी बिटियां को सम्मानित किया। बिटियां की कविता के माध्यम से सभी बालिकाओं और माता-पिता को मैसेज देना चाहती हूं कि बच्ची को एक हेल्दी एनवायरमेंट दें ताकि वह पंख फैलाकर आसमां में पक्षियों की तरह उड़ सकें। उसके साथ ही उनकी सेफ्टी के लिए अवेयर रहना है।

पहले बेटी की इस प्रतिभा का नहीं था पता

महती के पापा एडिशनल एसपी ट्रैफिक संदीप दीक्षित ने कहा कि एक महीने पहले मुझे कविता लिखकर दिखाई। मैंने पूरी कविता पढ़ी। इसके पहले मुझे इसकी प्रतिभा और लिखने की जानकारी नहीं थी। मैंने मेरे साथी जो लिखते हैं। उन्हें दिखाई तो उन्होंने बेटी की प्रशंसा की। मेरी बेटी की तरह और भी प्रतिभाएं बच्चों में हाेंगी। पेरेंट्स उसे पहचाने और बेटी को प्रोत्साहित करें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser