• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Poisoned Merchant, Three Plots, Two Shops, One House Owner, Lost Family Like This Trapped In The Trap Of Moneylenders

भोपाल फैमिली सुसाइड केस में तीसरी मौत:बड़ी बेटी ने तोड़ा दम, दंपती की हालत गंभीर; व्यापारी के पास सवा करोड़ की प्रॉपर्टी

भोपाल7 महीने पहले

भोपाल में ऑटो पार्ट्स व्यापारी के परिवार के सामूहिक खुदकुशी मामले में संजीव जोशी की बड़ी बेटी ग्रीष्मा की भी शनिवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। हादसे के दिन उनके मां नंदनी और छोटी बेटी पूर्वी ने दम तोड़ दिया था। पांच लोगों के इस परिवार में अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है और केवल दो लोग संजीव जोशी और उनकी पत्नी बचे हैं। वे भी गंभीर अवस्था में मौत से लड़ाई लड़ रहे हैं। सूदखोरों से परेशान होकर सामूहिक खुदकुशी करने वाले संजीव जोशी के पास काफी संपत्ति है। वे इसे बेचकर अपना कर्ज चुकाना चाहते थे, लेकिन सूदखोरों ने उन्हें इतना समय ही नहीं दिया। पूरे मोहल्ले के सामने बार-बार उन्हें इतना जलील किया कि वे मानसिक रूप से परेशान हो गए और पूरे परिवार ने सामूहिक खुदकुशी जैसा कदम उठा लिया।

पता चला है कि संजीव जोशी के नाम पर तीन प्लॉट, दो दुकान और एक मकान हैं। उनके दोस्तों ने बताया कि सूदखोरों ने उन्हें इतना प्रताड़ित, अपमानित किया कि वह मानसिक तौर पर टूट गए। हंसता-खेलता परिवार देखते-देखते डिप्रेशन में चला गया। परिवार को सूदखोरों के जाल से बाहर निकलने के लिए कुछ समझ नहीं आ रहा था।

करीबी दोस्त राकेश सिंह ने बताया कि हाल में अशोका गार्डन की रहने वाली सूदखोर महिला बबली, पिंकी ने उन्हें इतना धमकाया कि उन्हें आनंद नगर वाला घर बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा। इसके लिए उन्होंने 36 लाख रुपए में घर का सौदा भी कर लिया था, लेकिन सूदखोर वक्त देने को राजी नहीं हुए। आखिरकार, जहर खाकर जिंदगी खत्म कर लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। अकेले भोपाल में ही उनके पास सवा करोड़ से अधिक की प्रॉपर्टी है।

मामले में पिपलानी पुलिस ने सभी चारों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। रानी, बबली, कमला और उर्मिला पर आत्महत्या के लिए उकसाने का केस किया गया है।

2 लाख रुपए का हर हफ्ते 10 हजार ब्याज
संजीव ने घर बनाने के लिए बैंक से लोन ले रखा है। हर महीने 35 हजार रुपए किस्त जाती है। कोरोना काल में दुकान से आमदनी नहीं होने पर उन्होंने बबली, राजू राय, लक्ष्मी राय, ममता शर्मा से कर्ज लिया। 2% ब्याज पर उन्होंने कर्ज लिया था। बाद में सूदखोर ब्याज बढ़ाते गए। हालात यह हो गए कि हर हफ्ते 10 हजार रुपए ब्याज मांगने लगे। बबली शर्मा 2 लाख रुपए के हर हफ्ते 10 हजार रुपए ब्याज ले रही थी, जबकि संजीव उसका पूरा पैसा अदा कर चुका था। बावजूद वह ब्याज मांग रही थी। वह अब उनसे 3 लाख 20 हजार रुपए और मांग रही थी।

बेटी की शादी का बहाना लेकर धमकाया संजीव से बबली ने कहा कि उसे बेटी की इसी माह शादी करनी है। इसके लिए वह पैसा देने का दबाव बनाती थी। नहीं देने पर गुंडों से वसूली करवाने की बात कहती थी। वह देर रात तक उनके घर में डेरा डाले रहती थी। घर के बाहर खड़े होकर मोहल्ले वालों को चीख-चीखकर बताती थी कि संजीव उसका कर्ज नहीं दे रहा। परिवार को इतना जलील करती थी कि सब उससे परेशान हो गए।

परिवार की प्रोफाइल

  • 1. संजीव जोशी: ऑटो पार्ट्स के व्यापारी। पिपलानी में बड़ी दुकान।
  • 2. नंदिनी जोशी (मां): निजी स्कूल में टीचर रहीं। घटना में मौत। पति का कई साल पहले निधन हो चुका है।
  • 3. अर्चना जोशी (पत्नी): तीन साल पहले तक खुद का निजी स्कूल चलाया। घर में किराने की दुकान।
  • 4. ग्रीष्मा जोशी (बड़ी बेटी): एलएनसीटी कॉलेज से बी.टेक कर रही थी। घटना के दूसरे दिन मौत।
  • 5. पूर्वी जोशी (छोटी बेटी): निजी स्कूल में 10वीं की छात्रा। घटना में मौत हो गई।

शिवराज बोले- घटना हृदयविदारक, सूदखोरों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सूदखोरों-साहूकारों द्वारा मनमाना ब्याज लिए जाने के ऑटो पार्ट्स व्यापारी परिवार का सामूहिक आत्महत्या का मामला हृदयविदारक और असहनीय है। उन्होंने अवैधानिक रूप से सूदखोरी का काम करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। सीएम ने अवैध तरीके से चल रही साहूकारी और सूदखोरी की गतिविधियों पर नियंत्रण के लिए निवास कार्यालय में अफसरों की बैठक बुलाई थी। मुख्यमंत्री ने साहूकारी अधिनियम और अनुसूचित जाति ऋण विनियम के प्रावधानों के संबंध पर चर्चा की।

ये भी पढ़ें

भोपाल सुसाइड मामले में खुलासा

जहर खाने वाले दंपती के बयान दर्ज

हमारी मौत पे कोई न आना आंसू बहाने

भोपाल में पूरे परिवार ने जहर पिया, 2 की मौत

खबरें और भी हैं...