अब बच्चों को खुराक की बारी:45 दिन में 2 से 17 साल तक के 2.50 करोड़ बच्चों को टीका लगाने की तैयारी

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: अजय वर्मा
  • कॉपी लिंक
शुरुआत 17 साल के बच्चों से होगी, सबसे आखिरी में 2 साल के बच्चों को लगेंगे टीके। - Dainik Bhaskar
शुरुआत 17 साल के बच्चों से होगी, सबसे आखिरी में 2 साल के बच्चों को लगेंगे टीके।

कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश में 2 से 17 साल तक के करीब 2 करोड़ 50 लाख बच्चों के टीकाकरण की तैयारी है। सबसे पहले बड़े बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा, यानी शुरुआत घटते क्रम 17 साल से शुरू होगी। सबसे अंत में 2 साल के बच्चों को टीका लगाया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के मुताबिक 2019 में भोपाल समेत प्रदेशभर में 9 महीने से 15 साल तक के बच्चों का टीकाकरण के लिए अभियान चलाया गया था। इस दौरान 45 दिन में 2 करोड़ 32 लाख 44 हजार बच्चों को मीजल्स-रूबेला के टीके लगाए गए थे। इस अभियान की सफलता को देखते हुए इसे कोरोना टीका अभियान में भी लागू किया जा सकता है। अभी केंद्र सरकार की गाइडलाइन का इंतजार चल रहा है। प्लान में संशोधन भी हो सकता है।

ऐसे लगेगा बच्चों को टीका

भास्कर Explainer- कौवैक्सीन और कैडिला के टीके की तैयारी

  • बच्चों के टीकाकरण क्या तैयारी है। कब से शुरू हो सकता है।

- तैयारी पूरी है। 2019 में भी बच्चों का टीकाकरण किया गया था। उसी प्लान को कोरोना टीकाकरण अभियान में भी लागू किया जा सकता है। केंद्र सरकार से गाइडलाइन आते ही हेल्थ वर्कर्स को स्पेशल ट्रेनिंग देना शुरू कर देंगे।

  • टीकाकरण की व्यवस्था क्या रहेगी?

- सबसे पहले टीकाकरण के इंतजाम स्कूलों, अस्पतालों, सीएचसी, पीएचसी सहित मेडिकल कॉलेजों में होगी।

  • बच्चों को कौन सी वैक्सीन लगाई जाएगी?

- देश में अभी बच्चों के लिए कौवैक्सीन और दूसरी जायडस कैडिला से टीकाकरण की तैयारी चल रही है। इनके परिणाम आने के बाद ही ये तय हो पाएगा कि कौन सी वैक्सीन बच्चों को लगाई जाएगी।

(डॉ संतोष शुक्ला, राज्य टीकाकरण अधिकारी)

खबरें और भी हैं...