नवरात्र में भीड़ बढ़ी तो 338 से 468 किए स्लॉट:भोपाल में एक दिन में 50 करोड़ के सौदे, इनमें ज्यादातर वे जिन्होंने पितृपक्ष में होल्ड करा दी थी रजिस्ट्री

भोपाल10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
08 दिनों में अब रोज 300 से ज्यादा रजिस्ट्री होने की अफसरों को उम्मीद। - Dainik Bhaskar
08 दिनों में अब रोज 300 से ज्यादा रजिस्ट्री होने की अफसरों को उम्मीद।
  • 36 की प्रति सब रजिस्ट्रार स्लॉट की संख्या, अब तक यह 26 ही थी

नवरात्र के पहले दिन ही रजिस्ट्री दफ्तर में प्रॉपर्टी के खरीदारों की भीड़ बढ़ गई। इसे देखते हुए प्रति सब रजिस्ट्रार स्लॉट की संख्या 26 से बढ़ाकर 36 कर दी गई। इससे भोपाल में एक दिन में 333 रजिस्ट्रियों के साथ 50 करोड़ से ज्यादा के सौदे हुए।

पहले दिन सबसे ज्यादा प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त बीडीए के प्रोजेक्ट में तैयार रेडी-टू-प्रजेशन वाली प्रॉपर्टी में हुईं, जबकि नए भोपाल में ज्यादातर लोगों ने फ्लैट और डुप्लेक्स खरीदी में निवेश किया है। प्रदेश में एक दिन में 3935 रजिस्ट्री हुईं, जिससे सरकार को 18 करोड़ से ज्यादा की आय हुई। पंजीयन विभाग के अफसरों ने बताया कि अब एक दिन में 468 रजिस्ट्री के स्लॉट ओपन कर दिए गए हैं।

अभी तक एक दिन में भोपाल में 13 सब-रजिस्ट्रार के पास 338 रजिस्ट्री के लिए स्लॉट थे। राज्य सरकार ने पिछले बार की तुलना में भोपाल में राजस्व का टारगेट 731 करोड़ से बढ़ाकर अब 860 करोड़ कर दिया है, जबकि अभी तक भोपाल को 400 करोड़ से ज्यादा का राजस्व स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन फीस से मिल चुका है।

ज्यादातर होल्ड रजिस्ट्रियां... नवरात्रि के मुहुर्त के चक्कर में बहुत सारे लोगों ने पितृपक्ष मेंे प्रॉपर्टी तो खरीद ली थी, लेकिन रजिस्ट्री होल्ड कर दी थी।

15681 रजिस्ट्री इस महीने अभी तक प्रदेश में हुई हैं

भोपाल में नवरात्रि के अगले आने वाले 8 दिनों में रोजाना 300 से लेकर 350 रजिस्ट्री होने की उम्मीद जताई जा रही है। इस महीने अभी तक प्रदेश में 15681 रजिस्ट्री हुई हैं।

पितृपक्ष के 15 दिनों में भोपाल में 3750 रजिस्ट्री

पंजीयन विभाग की मानें तो इस बार पितृपक्ष के 15 दिनों में भोपाल में 3,750 रजिस्ट्री हुईं। इस दौरान 18 से 20 करोड़ रुपए की आय हुई।

खबरें और भी हैं...