सस्ते टेंडर, महंगा नुकसान:ज्यादा सस्ते टेंडर का नतीजा- भानपुर ब्रिज पर 3 फीट चौड़ा गड्‌ढा, बावड़िया ब्रिज भी उधड़ा

भोपाल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भानपुर ब्रिज के हाल, लोहे की जालियां आने लगी हैं नजर - Dainik Bhaskar
भानपुर ब्रिज के हाल, लोहे की जालियां आने लगी हैं नजर

भानपुर ब्रिज की इस तस्वीर को जरा गौर से देखिए। बीच सड़क पर करीब 3 फीट चौड़ा गड्‌ढा, जालियां तक नजर आने लगी हैं। 7 करोड़ रुपए की लागत से 17 साल पहले बने इस ब्रिज के मेंटेनेंस का काम पीडब्ल्यूडी के पास है, जो इससे बेपरवाह है। इस जानलेवा गड्ढे से बचते-बचाते यहां से गुजरने वाले कई वाहन चालक जख्मी भी हुए हैं। अब विभाग का दावा है कि बरसात खत्म होते ही इसे ठीक करवा दिया जाएगा। कुछ ऐसा ही हाल 14 फरवरी 2020 को शुरू हुए बावड़ियाकलां आरओबी का भी है।

बिलो टेंडर पर बनाए गए इस ब्रिज के निर्माण की खामियों को अब तक जांच में नहीं लिया गया है। पीडब्ल्यूडी ने बीती 10 अगस्त को एसओआर से 10% से भी ज्यादा कम दर पर टेंडर लेने वाले कॉन्ट्रेक्टर और निर्माण एजेंसी को अब दोगुनी परफॉर्मेंस गारंटी देने के आदेश जारी कर दिए हैं। ये आदेश 10 अगस्त से पहले खराब निर्माण कर चुके कॉन्ट्रेक्टर और निर्माण एजेंसी पर लागू नहीं होंगे। इसलिए 14 फरवरी 2020 को लोगों के लिए शुरू किए गए बावड़ियां ब्रिज बनाने वाली एजेंसी पर भी इस आदेश का प्रभाव नहीं पड़ेगा। विभागीय सूत्रों का दावा है कि ऐसे कई निर्माण हैं, जिन्हें इस आदेश का फायदा मिलेगा।

एक नजर में भानपुर ब्रिज

  • लागत 7.22 करोड़
  • लंबाई 337 मीटर
  • चौड़ाई 13 मीटर बनकर तैयार हुआ: 2005

ट्रैफिक के लिहाज से बावड़िया ब्रिज की ये हैं खामियां
1. विद्या नगर सर्विस रोड होते हुए ब्रिज पर जाने के लिए यदि चार पहिया वाहन राइट आर्म (चढ़ने वाला) पर पहुंचता है तो उसे यूटर्न लेना बेहद मुश्किल है।
यह हो रहा : इसके लिए उसे एक बार वाहन रिवर्स लेना होगा, तभी ब्रिज पर जाने के लिए मुड़ सकेगा।

2. विद्या नगर ब्रिज से उतरने वाले ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए मंडीदीप से आने वाली सड़क के डिवाइडर को तोड़ दिया गया है।
यह हो रहा : ब्रिज से उतरने वाले वाहन टूटे हुए डिवाइडर से जैसे ही हाईवे पर आते हैं तो मंडीदीप की ओर से आने वाले ट्रैफिक की रफ्तार प्रभावित होती है।

3. पुलिस ने पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर्स को ब्रिज पर डिवाइडर बनाने की सलाह दी थी।
यह हो रहा : डिवाइडर न बनने के कारण ही वाहन चालक लेफ्ट और राइट आर्म से भी आवागमन कर रहे हैं।

रेलवे के हिस्से में हैं गड्‌ढे... पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर ब्रिज संजय खांडे ने बताया कि बावड़िया ब्रिज पर गड्ढे वाला हिस्सा रेलवे के पास है। हमने उनसे कई बार निवेदन किया, पर नहीं सुधारा गया। भानपुर ब्रिज के मेंटेनेंस का काम हमारे पास है। बारिश खत्म होते ही इसे ठीक करवा लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...