पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पतंगों से सजे बाजार:बदला ट्रेंड; राजस्थान-गुजरात की तर्ज पर शहर में संक्रांति पर पतंगबाजी

भोपाल8 दिन पहलेलेखक: वंदना श्रोती
  • कॉपी लिंक
टीटी नगर स्थित अपेक्स बैंक तिराहे पर लगी पंतग की दुकान। - Dainik Bhaskar
टीटी नगर स्थित अपेक्स बैंक तिराहे पर लगी पंतग की दुकान।
  • तीन पीढ़ियों से पतंग बेच रहे दुकानदारों ने कहा- वक्त के साथ पतंग की वैरायटी में भी आया बदलाव

भोपाल में पतंग का बाजार मकर संक्रांति के लिए सजकर तैयार हो गया है। तीन पीढ़ियों से पतंग बेच रहे दुकानदारों का कहना है कि वक्त के साथ पतंग उड़ाने के समय में परिवर्तन आया है। पहले भोपालवासी दहशरे के समय पतंग उड़ाते थे, लेकिन अब गुजरात और राजस्थान की तर्ज पर मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने का क्रेज बढ़ा है।

अब मकर संक्रांति पर विभिन्न तरह के आयोजन होने लगे हैं। इसके लिए अब बकायदा प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जा रही हैं, जिसमें अच्छा खासा इनाम भी रखा जाता है। 6 साल पहले शहर में पतंग उड़ाने के वक्त में बदलाव होना शुरू हो गया था।

बाजार में 50 पैसे से लेकर 3 हजार रुपए तक की पतंग

बाजार में 50 पैसे से लेकर 3 हजार तक की पतंग बिक रही हैं। जापानी और कोरियाई मटैरियल से बनी पतंग 40फीट तक की हैं। इनकी कीमत एक से दो हजार रुपए तक है। वहीं कागज की पतंगों के अलावा प्लास्टिक की पतंग भी काफी बिक रही है। बारिश हाेने पर इनके फटने का डर नहीं रहता।

पहले बिकती थी 30 हजार पतंग, अब बिकती है डेढ़ लाख

तीन पीढ़ी से पतंग बेच रहे अन्नू भाई सलीम खान का कहना है कि उनके दादा नन्नू भाई पतंग वाले के नाम से प्रसिद्ध थे। वे बताते थे कि उनके समय में दशहरे पर एक सीजन में 10 हजार पतंगें उड़ती थीं। अन्नू के समय 40 से 50 हजार पतंग बिक जाती थीं। अब डेढ़ लाख से अधिक पतंग एक सीजन में उड़ती हैं। लोगों के पतंग के प्रति बढ़ते क्रेज को देखते हुए हमने पतंग का कारखाना ही डाल लिया। 25 से अधिक डिजाइन और मटेरियल की पतंग बनाता हूं।

हर साल बदलता है ट्रेंड

अपेक्स बैंक के पास पतंग बेचने वाले रकीब राइन ने बताया कि वे 40 साल से पतंग बेंच रहे हंै। पतंग में हर साल ट्रेंड बदलता है। अभी कोरोना स्लोगन वाली पतंगें काफी बिक रही हैं। आजाद मार्केट में 60 साल से पतंग बेच रहे सन्नाउल्ला खान ने कहा कि लोग फिल्मी डायलॉग व नाम वाली पतंग भी पसंद कर रहे हैं।

चाइनीज धागा बाजार गायब

इतवार चौराहे पर जावेद भाई की पतंग की दुकान है। उनका कहना है कि इस बार पूरे बाजार से चाइनीज धागा और मांजा गायब हैं। मांझा विक्रेता प्रेम अहिरवार बताते हैं कि वर्तमान में जो धागा है, वह कोलकाता का है। यह बाजार में एक रुपए ग्राम बिक रहा है। वही बरेली के धागे के साथ पतंग की दर 50 रुपए से 600 रुपए तक है।

यह सावधानी रखें- पतंग उड़ाते समय आप इन बातों का जरूर रखें ख्याल

  • बिना बाउंड्रीवाल वाली छत से कभी भी पतंग न उड़ाएं।
  • तेज मांझा से दूरी बनाए। ज्यादा तेज मांझा से गर्दन कटने का डर रहता है। ऐसे में पतंग का यह खेल आपके लिए हादसा बन सकता है। इससे पक्षी भी कई बार घायल हो जाते हैं।
  • बिजली के खंभों से दूर रहें। कई बार लोग पतंग उड़ाते हुए उत्साह में बिजली के खंभे के पास चले जाते हैं। इससे हादसा हो सकता है।
  • पतंग उड़ाते वक्त नजर ऊपर होती है, इसलिए कभी भी मुख्य सड़क पर पतंग न उड़ाएं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser