भूतेश्वर मंदिर का मामला:सिंधिया पर आरोप-मंदिर से बेदखली का दबाव बना रहे, अधिकारियों की मिलीभगत से इस जमीन को बेचा

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ज्योतिरादित्य सिंधिया। - Dainik Bhaskar
ज्योतिरादित्य सिंधिया।
  • लॉकडाउन के दौरान एसडीएम कार्यालय ने मंदिर को सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के नाम दर्ज कर दिया है

ग्वालियर के भूतेश्वर मंदिर के पुजारी परिवार ने राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया व उनके वकील अंकुर मोदी  पर मंदिर से बेदखल करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। पुजारी स्वर्गीय शंभूनाथ शर्मा की पत्नी चंद्रवती शर्मा ने मंगलवार को भोपाल में कहा कि भूतेश्वर मंदिर 1935 से माफी औकॉफ विभाग के अधीन है। इससे 19 बीघा जमीन लगी है। सिंधिया ने अधिकारियों की मिलीभगत से इस जमीन को बेच दिया है। लॉकडाउन के दौरान एसडीएम कार्यालय ने मंदिर को सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के नाम दर्ज कर दिया है।

मंदिर सिंधिया ट्रस्ट की संपत्ति

मैं किसी चंद्रवती शर्मा को नहीं जानता हूं। भूतेश्वर मंदिर सिंधिया ट्रस्ट की संपत्ति है, इससे जुड़े केस में मैं वकील रहा हूं।  
- अंकुर मोदी, अतिरिक्त महाधिवक्ता
भूतेश्वर मंदिर सिंधिया देव स्थान ट्रस्ट की संपत्ति है। शर्मा परिवार 10-12 साल पहले केस हार चुका है। कानून के जरिए किराएदारों और कब्जेदारों को खाली कराने की प्रक्रिया चल रही है।

- राणा करणसिंह, सचिव, सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट

खबरें और भी हैं...