उपचुनाव-2021:शिवराज बोले- निक्कर पहनने वाले नेतृत्व कर रहे हैं तो कमलनाथ को दिक्कत हो रही

भोपाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम की रैगांव में चुनावी सभा तो वीडी शर्मा ने पृथ्वीपुर में फहराया ध्वज। - Dainik Bhaskar
सीएम की रैगांव में चुनावी सभा तो वीडी शर्मा ने पृथ्वीपुर में फहराया ध्वज।

एक लाेकसभा और तीन विधानसभा सीटों के उपचुनाव में भाजपा अब पूरी ताकत झोंकने जा रही है। दशहरा के दिन विजय संकल्प ध्वज फहराकर इसकी शुरुआत की गई है। अब मुख्यमंत्री शिवराज और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ प्रदेश के केंद्रीय मंत्रियो की ताबड़-तोड़ सभाएं होंगी। शुक्रवार को रैगांव में शिवराज सिंह ने और पृथ्वीपुर में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ध्वज फहराया।

रैगांव में सीएम ने कहा कि निक्कर पहनने वाले सक्षम नेतृत्व कर रहे तो कांग्रेस नेता व पूर्व सीएम कमलनाथ को दिक्कत हो रही है। कांग्रेस ने वर्षों राज किया, लेकिन गरीबों के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस गरीब-गरीब तो करती रही, लेकिन गरीबी कभी दूर नहीं की। आचार संहिता होने के कारण मैं कोई घोषणा नहीं कर सकता लेकिन दिल में संकल्प है कि क्षेत्र की तस्वीर बदलेगी।

तोमर, सिंधिया व प्रहलाद जुटेंगे

सीएम के साथ अब केंद्रीय मंत्री भी चुनाव में जुटेंगे। प्रहलाद पटेल 21 से सभाएं लेंगे। नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया की तारीखें तय की जा रही हैं। वीरेंद्र खटीक शुक्रवार से ही सक्रीय हैं।

कमलनाथ पजामा पहनकर तो पैदा नहीं हुए होंगे : कैलाश विजयवर्गीय

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हाल ही में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा को लेकर कहा था कि वे जब निक्कर पहनते थे मैं राजनीति में आ गया था। इस बयान पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कमलनाथ ने भी बचपन में चड्‌ढी पहनी ही होगी। वह पजामा पहनकर तो पैदा नहीं हुए होंगे।

विजयवर्गीय शुक्रवार को विजयादशमी के दिन शहर में रोड शो करने आए थे। रोड शो के बाद लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कांग्रेस एक पुरानी पार्टी है। उनके नेता भी पुराने हैं। उन्हें अपनी मर्यादा में रहना चाहिए। हम किसी पर भी ऐसी टिप्पणी ना करें कि जब मिले तो आंख से आंख ना मिला सकें।

चारों उप चुनाव क्षेत्रों में कमलनाथ के दौरे कल से, दिग्विजय 22 से 27 के बीच पहुंचेंगे

खंडवा लोकसभा समेत रैगांव, पृथ्वीपुर और जोवट विधानसभा उप चुनाव क्षेत्रों में पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के दौरे रविवार से शुरू हो रहे हैं। इस दौरान नाथ मंडल, सेक्टर और बूथ स्तर के पदाधिकारियों की बैठकें लेगें और जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह 22 से 27 अक्टूबर के बीच उप चुनाव वाले क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं की बैठकें लेंगे और जनसभाओं को भी संबोधित करेंगे। वहीं, कांग्रेस ने चारों उप चुनाव क्षेत्र में पूर्व मंत्रियों और विधायकों की टीम सक्रिय है। कमलनाथ रविवार को पृथ्वीपुर विधानसभा में जेरोन पहुंच रहे हैं।

नाथ 18 अक्टूबर को खंडवा लोकसभा सीट के अंतर्गत धूलकोट और उसके बाद मांधाता विधानसभा में जनसभा को संबोधित करेंगे। 19 अक्टूबर को नाथ सतना जिले की रैगांव विधानसभा के अंतर्गत सिंहपुर पहुंचेगें। वहां कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे। प्रदेश अध्यक्ष 20 अक्टूबर को खंडवा लोकसभा सीट के अंतर्गत देवास जिले की बागली विधानसभा के अंतर्गत पुंजापुर और बाद में खंडवा के पंधाना में जनसभा को संबोधित करेंगे।

खंडवा लोकसभा सीट पर 6 मतदान केंद्रों पर छह हजार वोटरों को डराने वाले दबंग

खंडवा लोकसभा क्षेत्र में चार जिलों (खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर और देवास) की कुल 8 विस सीटें शामिल हैं। लोकसभा की बुरहानपुर, नेपानगर और बड़वाह विधानसभा में 2-2 यानि कुल छह वल्नरेबल (जहां दबंग लोग मतदाताओं को प्रभावित कर सकते हैं) मतदान केंद्र हैं। इन केंद्रों पर छह हजार मतदाताओं को दबंग प्रभावित कर सकते हैं।

प्रशासन ने दबंगों की सूची बनाकर उनकी निगरानी शुरू कर दी है। वहीं निर्वाचन आयोग के आदेश पर इस बार 10 की जगह हर विस क्षेत्र में कुल मतदान केंद्रों के 50 फीसदी बूथों पर वेबकास्टिंग के जरिए वोटिंग की निगरानी की जाएगी। सबसे ज्यादा क्रिटिकल मतदान केंद्र पंधाना में 99 हैें। बागली विस क्षेत्र में सबसे कम केवल 48 क्रिटिकल मतदान केंद्र हैं।

​​​​​​​भीकनगांव में कंप्यूटर बाबा बाेले- भाजपा से साधु-संत भी परेशान... भीकनगांव. कंप्यूटर बाबा शुक्रवार को यहां पहुंचे। उन्होंने कहा भाजपा अधर्मी पार्टी है। इसकी वजह से लोगों से लेकर साधु-संत भी परेशान हैं। प्रदेश में अपराध बढ़ गए हैं। आदिवासी नेता गनसिंह भाजपा में शामिल : बुरहानपुर. लोकसभा उप चुनाव से पहले आदिवासी नेता गनसिंह पटेल शुक्रवार को पूर्व मंत्री अंतरसिंह आर्य की मौजूदगी में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए।

खबरें और भी हैं...