• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Some Relief To Professor Mohanty; Vice Chancellor Said Now Only The Police Will Investigate, The Police And The Girl Students Kept Silence

भोपाल में लॉ यूनिवर्सिटी यौन शोषण मामला:प्रोफेसर मोहंती को राहत; कुलपति बोले- अब जांच सिर्फ पुलिस करेगी, छात्राओं ने भी साधी चुप्पी

भोपाल6 महीने पहले
शिकायत करने वाले छात्रों से लेकर पुलिस तक कुछ बोलने को तैयार है। - फाइल फोटो

यौन शोषण के आरोप में घिरे भोपाल की नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (NLIU) के प्रोफसर तपन रंजन मोहंती को कुछ राहत मिलती दिख रही है। यूनिवर्सिटी ने उनके खिलाफ जांच बंद कर दी है। कुलपति ने कहा कि क्योंकि अब एफआईआर हो चुकी है। आपराधिक मामला होने के कारण अब जांच पुलिस ही करेगी। इधर, मामले में मुख्यमंत्री से शिकायत करने वाले छात्र संगठन से लेकर पीड़ित छात्राओं तक ने चुप्पी साध ली। छात्रों का कहना है कि मामला बहुत ज्यादा संवेदनशील है, इसलिए वे इस पर कुछ भी नहीं बोलेंगे। इधर, पुलिस भी मामले में जानकारी देने से बचती नजर आ रही है।

यूनिवर्सिटी में अब जांच नहीं

कुलपति वी विजय कुमार ने बताया कि FIR दर्ज होने के पहले मामले की जांच की जा रही थी। मामला दर्ज होने के बाद अब जांच पुलिस करेगी। पुलिस शिकायतकर्ताओं के बयान ले रही है। इस मामले में अब पुलिस ही ज्यादा जानकारी दे सकती है।

अब तक सिर्फ 4 छात्राएं सामने आईं

लॉ यूनिवर्सिटी के छात्र संगठन के छात्रों ने 11 मार्च को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रोफेसर मोहंती के खिलाफ शिकायत की थी। उन्होंने दावा किया था कि 100 ज्यादा छात्राएं शिकायतें कर रही हैं। पुलिस जब यूनिवर्सिटी छात्राओं के बयान लेने पहुंची, तो छात्राओं ने बयान देने से मना कर दिया था। कुछ दिनों बाद सिर्फ दो छात्राओं की शिकायत भोपाल के महिला पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गई। अब सामने आया है कि दो और छात्राओं ने बयान दिए हैं। हालांकि पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

यह शिकायत है मोहंती के खिलाफ

छात्रों ने बताया कि 8 मार्च को जनरल बोर्ड की मीटिंग थी। इस मीटिंग में यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और मोहंती के साथ सभी स्टूडेंट्स भी शामिल थे। मीटिंग के दौरान छात्राओं ने यौन शोषण का मुद्द उठाया। इसमें किसी का नाम नहीं लिया गया था। छात्राओं ने बताया कि उन्हें प्रोफेसर द्वारा अश्लील मैसेज और वीडियो भेजे जाते हैं। कुछ पूर्व छात्रों ने भी इस तरह के यौन शोषण से प्रताड़ित किए जाने की पुष्टि की। जनरल मीटिंग में किसी का नाम नहीं लिया गया।

मोहंती का आर्टिकल बना मुद्दा

छात्र ने नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर बताया था कि मोहंती ने मीटिंग के बाद महिलाओं को लेकर एक आर्टिकल प्रकाशित किया। इसमें उनके द्वारा महिला ससक्तिकरण की बात कही। इससे छात्राओं को गुस्सा आया कि वे बाहर खुद को पाक साफ बता रहे हैं, जबकि वे खुद महिलाओं का सम्मान नहीं करते। उनका यौन शोषण करते हैं। 10 मार्च को कुलपति और रजिस्ट्रार की मौजूदगी में मोहंती के सामने छात्राओं ने शिकायत की। प्रोफेसर मोहंती पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाया गया। उन्होंने कुलपति वि विजय कुमार के कहने पर इस्तीफा लिखा।

खबरें और भी हैं...