पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • STP Construction In 44 Places In The State, Neither Permission For Construction Nor Construction Was Taken

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कचरे के ट्रीटमेंट प्लांट में उलझन:प्रदेश में 44 जगह एसटीपी निर्माण, न कहीं बनाने की मंजूरी ली गई और न ही चलाने की

भोपाल13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मप्र में शहरी कचरे के निपटारे के लिए बन रहे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) नई उलझन में घिर गए हैं। बड़े शहरों भोपाल-इंदौर के साथ 44 जगहों पर इनका निर्माण तो शुरू कर दिया, लेकिन न इसकी मंजूरी ली और न ही चलाने की। निर्माणाधीन संस्था के साथ अनुबंध में तय किया था कि मप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से इसे बनाने व चलाने की स्वीकृति संबंधित नगर निगम, नगर पालिका, नगर पालिका परिषद व नगर परिषद खुद लेंगी, लेकिन सभी जगहों पर उन्होंने यह काम भी निर्माण एजेंसियों पर थोप दिया।

भोपाल में दो स्थानों पर काम जारी, शाहजहांनी पार्क का रुका

भोपाल में प्रोफेसर कॉलोनी, जामोनियाछीर व शाहजहांनी पार्क में एसटीपी बनना है। इसमें शाहजहांनी पार्क की लोकेशन शिफ्ट कर दी गई है। अभी प्रोफेसर कॉलोनी और जामोनियाछीर का काम जारी है। शाहजहांनी पार्क का काम रुक गया है। इसके अलावा बड़े-छोटे तालाब, कालियासोत और शाहपुरा में एसटीपी बनना है। भोपाल ने आवेदन नहीं किया। यही हाल इंदौर का भी है।

अब कार्रवाई की तैयारी- विभागीय सूत्रों का कहना है कि 44 में से 39 जगहों पर तो बोर्ड में आवेदन ही नहीं किया गया। जहां यह स्थिति है, वहां निकायों पर कार्रवाई की तैयारी कर ली गई है। नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव ने निकायों से कहा कि वे तय समय में आवेदन देकर अनुमतियां ले लें।

आवेदनों की यह है स्थिति खरगौन, उज्जैन, सतना, जबलपुर, इंदौर, गुना, दतिया, भोपाल, नीमच, रतलाम, कटनी, सिंगरौली, सतना, रीवा, भिंड और सागर में आवेदन निकायों द्वारा नहीं किया गया। ग्वारियर में 4 जगहों के लिए आवेदन दे दिया है। सीहोर के जुनियावाड़ा में निर्माण हो चुका। मंजरी बाकी है।

जिम्मेदार बोले- वैधानिक प्रक्रिया पूरी कर रहे
नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव ने कहा कि जितनी जिम्मेदारी कॉन्ट्रैक्टर की है, उतनी ही निकायों की है। इसलिए वैधानिक प्रक्रिया पूरी कर रहे हैं। मास्टर प्लान से इसका सीधे कोई जुड़ाव नहीं है। बड़े शहरों में एसटीपी और छोटे में एसएसटीपी बन रहे हैं। जहां तक डिजाइन की मंजूरी का सवाल है तो विभाग के इंजीनियर प्रोजेक्ट तैयार करते हैं। जब बोर्ड में बनाने की मंजूरी के लिए जाते हैं, उनके मापदंडों से परीक्षण हो जाता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें