पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Students Appeared In The Examination At 35 Centers In The Capital; From The Label Of The Sanitizer Bottle To The Girl's Earring, Watch, Ring Also Removed

नीट-2021 प्रवेश परीक्षा:राजधानी में सैनिटाइजर की बॉटल का लेबल से लेकर छात्राओं के कान की बाली, घड़ी, अंगूठी भी उतरवाई; 35 सेंटर पर 7 से 8 हजार छात्र बैठे

भोपाल10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
7 नंबर स्थित केन्द्रीय विद्यालय में बने सेंटर में परीक्षा देने जाते छात्र-छात्राएं - Dainik Bhaskar
7 नंबर स्थित केन्द्रीय विद्यालय में बने सेंटर में परीक्षा देने जाते छात्र-छात्राएं

मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने रविवार को नीट-2021 परीक्षा राजधानी के 35 सेंटर पर परीक्षा शुरू हुई। यहां पर 16 हजार परीक्षार्थी के रजिस्ट्रेशन थे, लेकिन 7 से 8 हजार छात्र-छात्राएं ही शामिल हुए। अधिकतर लोग अपने वाहनों से बच्चों को परीक्षा दिलाने पहुंचे थे। सेंटर पर कोविड प्रोटोकॉल को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। प्रत्येक सेंटर पर एक कोविड आईसोलेशन रूम, पीपीई किट की व्यवस्था की गई थी। जानकारी के अनुसार भोपाल में कोई कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी रिपोर्ट नहीं हुआ।

शहर के 7 नंबर स्टाप स्थित केन्द्रीय विद्यालय में सुबह ही छात्र-छात्राएं पहुंच गए थे। कई स्टूडेंट्स को उनके परिजन अपने वाहन से लेकर पहुंचे थे। दोपहर दो बजे से शुरू होने वाली परीक्षा के लिए छात्र-छात्राआं को कड़ी जांच के बीच सेंटर पर दो घंटे पहले ही प्रवेश दे दिया गया। यहां पर प्रवेश से पहले जैकेट और अतिरिक्त कपड़े पहने छात्रों से उतरवाए गए। छात्राओं की कान की बाली, चेन, अंगूठी भी बाहर रखवा दी गई। सुरक्षा का इंतजाम ऐसा कि सैनिटाइजर की बॉटल लेकर पहुंचे छात्र-छात्राओं से उस पर लगा कागज का लैबल भी हटवाया गया।

सेंटर पर छात्र का तापमान की जांच करता स्टाफ
सेंटर पर छात्र का तापमान की जांच करता स्टाफ

केन्द्रीय विद्यालय 7 नंबर पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने के लिए गोले बनाए गए। जहां एक-एक छात्र-छात्रा की थर्मल स्क्रीनिंग से जांच करा कर सेंटर में प्रवेश दिया गया। सेंटर पर करीब 12.15 बजे प्रवेश देना शुरू किया गया और 1.30 बजे सेंटर का गेट बंद कर दिया गया। अंदर ट्रांसपरेंट पानी की बॉटल, एडमिट कार्ड लेकर जाने की अनुमति थी। इसके लिए पहले से ही दिशा निर्देश जारी किए गए थे।

परीक्षा के कॉर्डिनेटर पीके पाठक ने बताया कि 35 सेंटर पर 7 से 8 हजार परीक्षा शामिल हुए। दिशा निर्देशों के अनुसार परीक्षा आयोजित की गई थी। कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन रखा गया। परीक्षा अच्छे से संपन्न हुई।

खबरें और भी हैं...