पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • That's Why Every Year More Than 50 Thousand Admissions In This, Preparations To Increase 10% Seats This Year.

बीएड में रोजगार के अवसर ज्यादा:इसलिए इसमें हर साल 50 हजार से ज्यादा दाखिले, इस साल 10 % सीटें और बढ़ाने की तैयारी

भोपाल8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनसीटीई से जुड़े कोर्सेस में हर साल भर जाती हैं 90 फीसदी सीटें, बीएड में 98 फीसदी से ज्यादा एडमिशन

प्रदेश में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से संबंधित पाठ्यक्रमों में दाखिलों का क्रेज बरकरार है। रोजगार के ज्यादा अवसर होने के कारण इस कोर्सेस में हर साल बहुत कम सीटें खाली रहती हैं। स्थिति यह है कि हर साल करीब 90 फीसदी से ज्यादा सीटें भर रही हैं। इस बार भी इसकी सीटों में करीब दस प्रतिशत की बढ़ोतरी की तैयारी है।

एनसीटीई के पाठ्यक्रमों में मुख्य रूप से बीएड, बीपीएड, एमपीएड, एमएड, बीए एमएड , बीए बीएड , बीएलएड जैसे पाठ्यक्रम शामिल हैं। इनमें सर्वाधिक सीटें बीएड की हैं। इसी में सबसे ज्यादा एडमिशन भी होते हैं, लगभग सभी सीटें हर साल भर जाती हैं। स्थिति यह है कि इन पाठ्यक्रमों में 2019 में 87.06 फीसदी सीटें भरी थी, 2020 में यह बढ़कर 93.46 फीसदी हो गईं।

इंजीनियरिंग के 55% व अन्य को 50%अंक की पात्रता

बीएड में प्रवेश के लिए यूजी अथवा पीजी में विज्ञान, सामाजिक विज्ञान अथवा मानविकी विषयों में 50 प्रतिशत अंकों के साथ इसके अलावा इंजीनयरिंग अथवा तकनीकी में 55 प्रतिशत अंकों के साथ या अन्य समकक्ष परीक्षा पास छात्र प्रवेश के लिए पात्र होंगे। एससी-एसटी छात्रों को नियमानुसार पांच प्रतिशत की छूट रहेगी। गौरतलब है कि एनसीटीई के पाठ्यक्रमों में सबसे ज्यादा दाखिले बीएड में होते हैं।

बीएड का क्रेज अब भी है बरकरार

खास बात यह है कि रोजगार से जुड़े पाठ्यक्रम होने की वजह से बीएड में सबसे ज्यादा दाखिले होते हैं। नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर्स एजुकेशन के पाठ्यक्रमों में सर्वाधिक 98.29 फीसदी दाखिले केवल बीएड में हुए हैं।

दो किस्तों में दी जा सकेगी फीस

कोरोना के कारण निर्धारित प्रवेश शुल्क की आधी फीस प्रवेश की प्रारंभिक प्रक्रिया के समय और शेष आधी राशि प्रवेशित कॉलेज में दो किस्तों में डिजिटल माध्यम से जमा करने की सुविधा दी है।

छात्रों का रुझान बढ़ा इसलिए बीएड की सीटें बढ़ाने की चल रही है तैयारी

सबसे ज्यादा प्रवेश बीएड में ही होते हैं। इसमें रोजगार के अवसर भी अधिक हैं। इसके अलावा एनसीटीई के अन्य पाठ्यक्रमों में छात्रों का रुझान रहता है। इस बार भी पाठ्यक्रमों की सीटें बढ़ाने के संबंध में तैयारी चल रही है। -डॉ. धीरेंद्र शुक्ला, ओएसडी, उच्च शिक्षा

खबरें और भी हैं...