• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Dispute Started With The Captures Of Shah; When Arvind Bhadauria Jumped In The Middle, Yashodhara Said Thakur!, Don't Show Your Eyes... You Are Misbehaving With Me

मीटिंग में भिड़े मध्यप्रदेश के मंत्री:विजय शाह के कपड़ों से शुरू हुआ विवाद; बीच में कूदे अरविंद भदौरिया तो यशोधरा बोलीं- ठाकुर मुझे आंखें मत दिखाओ, तुम बदतमीजी कर रहे हो

भोपाल3 महीने पहले

मध्य प्रदेश में शिवराज के मंत्रियों में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। उनके बीच विवाद सामने आ रहे हैं। इसी राज्य में आने वाले तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट के उपचुनाव को लेकर बुलाई गई प्रभारी मंत्रियों की हाई-लेवल मीटिंग में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया और सहकारिता मंंत्री अरविंद भदौरिया के बीच जमकर बहस हुई।

यशोधरा को कहना पड़ा- ठाकुर! आंखें मत दिखाओ। तुम बदतमीजी कर रहे हो। इस पर भदौरिया ने भी पलटवार किया। हालात ऐसे हो गए थे कि यशोधरा उठकर कैबिनेट हॉल से बाहर चली गईं। जब लौटीं, तो चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को बीच-बचाव करना पड़ा।

विजय शाह के पहनावे से नाराज हुईं यशोधरा
विवाद की शुरुआत वन मंत्री विजय शाह के पहनावे के ढंग को लेकर हुई। शाह के कुर्ता-पायजामा पहनने के तरीके से यशोधरा नाराज हो गईं। जब यशोधरा और भदौरिया के बीच बहस हो रही थी, उस वक्त मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वहां नहीं थे। वे घटनाक्रम के करीब पंद्रह मिनट बाद वहां पहुंचे, तब तक स्थिति शांत हो गई थी। बैठक में प्रभारी मंत्रियों को अलग-अलग जवाबदारी देने पर बात हुई। मंत्रियों में कमल पटेल, विजय शाह, रामखेलावन पटेल, प्रेम सिंह पटेल, उषा ठाकुर समेत अन्य मंत्री मौजूद रहे

शुरुआत यहां से
विजय शाह ने कुर्सी पर बैठते समय कुर्ता झटकारा। इससे पायजामा और कुर्ता बेढंगा हो गया।

  • यशोधरा (विजय के ठीक पीछे बैठीं थीं) : ये क्या तरीका है, शाह जी। पीछे महिलाएं भी बैठीं हैं। उषा ठाकुर भी बैठी हैं।
  • विजय शाह : जी-जी।
  • अरविंद भदौरिया : विजय जी आप देखा करो, वो महाराजा हैं और आप राजा हो?
  • यशोधरा : आपको क्या बीच में बोलने की आदत है? उस दिन रेत के मसले पर भी बीच में बोल रहे थे।
  • भदौरिया : आप बोलने से नहीं रोक सकतीं। मैं भी तो अपनी बात रखूंगा, आप CM तो हैं नहीं।
  • यशोधरा (गुस्से में) : ठाकुर!, आंखें मत दिखाओ। तुम मुझसे बदतमीजी कर रहे हो।
  • भदौरिया (तेज आवाज में) : मैं सिर्फ अपनी बात कह रहा हूं और ये मेरा हक है।
  • विश्वास : आप सब शांत हो जाइए, यह सब ठीक नहीं लगता। यशोधरा कैबिनेट बैठक कक्ष से बाहर निकल गईं। थोड़ी देर बाद लौटीं।
  • विश्वास : आप दोनों कुछ नहीं बोलेंगे। बैठक शुरू करिए। (करीब पांच मिनट तक सब खामोश रहे)

पहले भी उलझ चुके हैं मंत्री
इससे पहले भी कैबिनेट और इसके बाद होने वाली अनौपचारिक कैबिनेट बैठकों में मंत्री किसी न किसी मसले पर मंत्री आपस में उलझ चुके हैं। अन्य मंत्रियों को बीच-बचाव का विवाद निपटाना पड़ा।