पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Drug Store From Which Remdesivir Was Stolen; It Will Shift, May Go To The Basement Of Hamidia's D Block

कागजी कार्रवाई शुरू:जिस ड्रग स्टोर से रेमडेसिविर चोरी हुए; वह शिफ्ट होगा, हमीदिया के डी ब्लॉक के बेसमेंट में जा सकता है स्टोर

भोपाल7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वजह..ऊपर से गुजरी एचटी लाइन, हादसे की आशंका

हमीदिया अस्पताल के जिस ड्रग स्टोर से चार माह पहले 863 रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी हुए थे अब उसका स्थान परिवर्तन करने की तैयारियां की जा रही हैं। इसके लिए डी ब्लॉक में जगह देखी जा रही है। शिफ्टिंग के पीछे तर्क दिया जा रहा है कि वर्तमान में ड्रग स्टोर के ऊपर से बिजली की हाईटेंशन (एचटी) लाइन गुजरी हुई है। चूंकि, ड्रग स्टोर में करोड़ों रुपए की दवाएं हर वक्त रखी होती हैं। ऐसे में कभी आगजनी हुई तो ये दवाएं जलकर खाक हो सकती हैं। ऐसे में ड्रग स्टोर की शिफ्टिंग करने के लिए कागजी कार्रवाई शुरू की गई है।

अस्पताल प्रबंधन की ओर से ड्रग स्टोर की शिफ्टिंग के लिए करीब 20 दिन पहले प्रस्ताव तैयार किया गया था। आगे की कार्रवाई के लिए इसे डीन डॉ. जितेन शुक्ला को भेजा गया है। हालांकि, इस प्रस्ताव पर अब तक न तो कोई निर्णय हुआ है और ना ही इसे हाल ही हुई कार्यकारिणी समिति की बैठक के एजेंडे में ही शामिल किया गया था। फिलहाल अस्पताल की ओर से इस पर व्यक्तिगत तौर पर चर्चा की जा रही है।

शिफ्टिंग के पीछे के तर्क

  • एचटी लाइन से आगजनी की आशंका है, ऐसे में करोड़ों की दवाई जलकर खाक हो सकती है।
  • जगह कम है। दवाइयां निकालकर देने में बहुत समय लगता है।
  • खिड़कियां तक कार्टन से बंद रहती हैं। ऐसे में यहां बैठने वालों को हवा तक नहीं मिलती है, जिससे उनकी तबियत खराब हो रही है।
  • स्टोर दोनों ओर से खुला हुआ है, जबकि सुरक्षा के नाम पर मुख्यद्वार पर ही सिक्यूरिटी गार्ड तैनात है।

शिफ्टिंग पर सवाल

  • 5 साल पहले ड्रग स्टोर इस बिल्डिंग में शिफ्ट हुआ था, एचटी लाइन तब भी थी। हादसे की आशंका का ख्याल तब क्यों नहीं आया?
  • जब गर्मी पड़ रही थी तब किसी की तबियत खराब नहीं हुई। अभी तापमान कम होने के बाद अचानक तबियत क्यों खराब हो रही है?
  • रेमडेसिविर चोरी का मामला सामने आने के बाद से यहां सुरक्षा बढ़ाई जा चुकी है, फिर सुरक्षा पर सवाल क्यों?

डीन ऑफिस भेजा है प्रस्ताव

ड्रग स्टोर की शिफ्टिंग का प्रस्ताव 20 दिन पहले डीन ऑफिस भेजा है। हालांकि, अभी तक वहां से कोई रिप्लाई नहीं आया है। -डॉ. लोकेंद्र दवे, अस्पताल अधीक्षक

खबरें और भी हैं...