• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Relatives Of Corona Warriors Will Also Get Compassionate Appointment, So Far Rs 50 Lakh Has Been Given. Provision To Give

मुख्यमंत्री की घोषणा पर अब तक अमल नहीं:कोरोना योद्धा के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति भी मिलेगी, अब तक 50 लाख रु. देने का प्रावधान

भोपाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • मदद... मृतकों के परिजनों को एक लाख देने के नियम तक नहीं बने

राज्य सरकार कोरोना महामारी में मारे गए ऐसे अधिकारी-कर्मचारी जिन्हे कोरोना योद्धा घोषित किया था, उनके परिजनों को भी अनुकंपा नियुक्ति देगी। अभी तक सिर्फ इस योजना के तहत 50 लाख रुपए की राशि दिए जाने का प्रावधान है। राज्य सरकार ने इस साल 1 अप्रैल से 31 मई 2021 तक स्वास्थ्य कर्मी, स्थानीय निकाय कर्मचारी, पुलिस व राजस्व अमले को कोरोना वारियर माना है। सामान्य प्रशासन विभाग ने समस्त विभागों से कोरोना महामारी के दौरान मारे गए कर्मचारियों की जानकारी मंगवाई है।

वहीं, कोरोना से मारे गए मृतकों के पात्र सदस्यों को एक लाख रुपए की सहायता दिए जाने की मुख्यमंत्री की घोषणा पर अब तक अमल नहीं हुआ है। इस बारे में अभी तक नियम तैयार नहीं हुए है। इस मामले में शीघ्र ही उच्च स्तर पर फैसला लिया जाना है। यह योजना भारत सरकार की महामारी रोकथाम के लिए काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना पैकेज के अंतर्गत विशेष बीमा योजना पर आधारित है।

मौत... रिकॉर्ड में 1478 मौत जोड़ी, अब तक 10506 लोगों की जान गई

महाराष्ट्र और बिहार के बाद मध्यप्रदेश कोरोना से हुई मौतों को बढ़ाने वाला तीसरा राज्य हो गया है। सरकार ने प्रदेश में 10506 मौतें कोरोना से होना स्वीकार किया है, जिसमें 1478 मौतों की जानकारी सोमवार को सामने आई है। इससे पहले रविवार तक सरकार कोरोना से मौतों की जानकारी 9027 मानकर चल रही थी। दरअसल, स्वास्थ्य विभाग ने गत 26 जून को प्रदेश में कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान जिलों से निजी अस्पतालों और होम आइसोलेशन में इलाज के दौरान हुई मृत्यु की जानकारी बुलाई थी।

इसका जब सोमवार को मिलान किया गया तो कुल बैकलाग 1478 अतिरिक्त मृत्यु के प्रकरण सामने आए हैं। कोरोना से मौतों के नए मामले सामने आने के बाद जहां प्रदेश में कुल मौतों की संख्या 10506 हो गई है, जो 1.33 फीसदी है। यह आंकड़ा रविवार तक 9027 यानी 1.14 प्रतिशत था। बता दें कि कोरोना से मौतों के आंकड़ों पर सरकार पर सवाल उठते रहे हैं। कांग्रेस का आरोप है कि प्रदेश में संक्रमण से एक लाख से ज्यादा मौतें हुई है, लेकिन सरकार आंकड़े छिपा रही है।