• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Robbers Of Indore Had Blackmailed The Medical Student By Making A Video, Threatening To Defame Them And Also Extorted Three Lakh Rupees

भोपाल में ओला कैब लूट में नया खुलासा:इंदौर के लुटेरे ने मेडिकल छात्रा से रेप का वीडियो बनाकर किया था ब्लैकमेल, बदनाम करने की धमकी देकर 3 लाख रुपए भी ऐंठे

भोपालएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार आरोपी रोशन और विवेक। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार आरोपी रोशन और विवेक।

भोपाल की मिसरोद पुलिस की गिरफ्त में आए ओला कैब लूटने के आरोपियों की जांच में नया खुलासा हुआ है। इंदौर से गिरफ्तार आरोपी रोशन खातनकर ने मेडिकल छात्रा के साथ दुष्कर्म कर उसका वीडियो बना लिया था। वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर वह छात्रा से पैसे ऐंठता रहा। छात्रा से वह करीब 3 लाख रुपए ले चुका है। छात्रा से उसने अपना सरनेम गलत बताया था। वह खुद को रोशन खत्री बताकर छात्रा से दोस्ती की थी।

पिपलानी पुलिस दुष्कर्म के मामले में भी आरोपी को अलग से गिरफ्तार करेगी। पुलिस को आशंका है कि आरोपी ने इस तरह से कई लड़कियों के साथ गलत किया होगा। इधर, मिसरोद पुलिस दोनों लुटेरों को शनिवार को घटना स्थल लेकर गई। रात में रोशन को पुलिस इंदौर लेकर जाएगी। पुलिस को अभी उससे रिवाल्वर बरामद करनी है। जिसे आरोपी इंदौर में छिपा कर रखा होना बता रहा है।

बता दें कि मिसरोद पुलिस ने 29 अगस्त को 11 मील के पास से ओला में अटैच कार को लूटने के आरोप में भोपाल निवासी विवेक पाठक और इंदौर निवासी रोशन खातनकर को शुक्रवार को गिरफ्तार किया था। रोशन ने पुलिस की पूछताछ में मेडिकल छात्रा के साथ दुष्कर्म करना कबूल किया था।

पुलिस के मुताबिक अवधपुरी इलाके में रहने वाली युवती मेडिकल की छात्रा है। दो साल पहले उसकी मुलाकात रोशन खत्री से हुई थी। 25 नवंबर 2019 को सच्चितानंद नगर स्थित एक होटल में पार्टी थी। इसमें रोशन और युवती भी शामिल हुई थी। जहां, आरोपी छात्रा को डरा-धमकाकर उसके साथ गलत काम किया। साथ ही छात्रा का वीडियो बना लिया।

इसके बाद इंदौर चला गया। कुछ दिन बाद आरोपी उसे वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा। उसने छात्रा से अलग-अलग किस्तों में करीब तीन लाख रुपए लिए। इसके साथ ही जब भी इंदौर से भोपाल आता छात्रा के साथ गलत काम करता था। परेशान होकर छात्रा ने 16 जुलाई 2021 को पिपलानी थाने में मामला दर्ज कराया था।

एफआईआर की भनक लगते ही कर लिया मोबाइल बंद

पिपलानी थाना में दुष्कर्म की एफआईआर की भनक लगने के बाद रोशन भोपाल से इंदौर से भाग गया था। वह इंदौर में भी अपने घर पर नहीं रहता था। मोबाइल भी बंद कर रखा था। पिपलानी पुलिस उसकी तलाश में दो बार इंदौर गई, लेकिन दोनों बार बैरंग लौटना पड़ा।

11 शहरों के 212 कैमरों के फुटेज खंगालने के बाद पकड़ाए

पुलिस ने लुटेरों को गिरफ्तार करने पुलिस की अलग-अलग सात टीमें बनाई थीं। टीमों ने 11 शहरों के करीब 212 कैमरों के फुटेज निकाल कार की लोकेशन ट्रैक की थी। फुटेज के आधार पर ही पुलिस रोशन के घर इंदौर तक पहुंची थी। आरोपी ने कार को घर के पीछे हिस्से में छिपाकर रखा था।