• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Youth Got Married After Driving Away The Teacher's Daughter, The Father Got The Son in law's Birth Chart Removed From The School And Lodged An FIR

ब्याह रचाने 20 से बन गया 22 का:टीचर की बेटी को भगाकर शादी की, लड़की के पिता ने बर्थ सर्टिफिकेट निकलवा लिया; दामाद पर केस

भोपालएक वर्ष पहले

भोपाल में 20 साल के लड़के ने गर्लफ्रेंड से शादी करने के लिए खुद को 22 साल का बता दिया। उसने मार्कशीट में उम्र में हेराफेरी करा ली। लड़की के पिता टीचर हैं। उन्होंने स्कूल से दामाद का बर्थ सर्टिफिकेट निकलवाया। पता चला कि शादी के वक्त उसकी उम्र 20 साल थी। दस्तावेज जुटाकर दामाद के खिलाफ रातीबड़ थाने में केस दर्ज कराया। आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

गुनगा इलाके के पोलीखेड़ी गांव के रहने वाले टीचर की 22 साल की बेटी ने गीतांजलि कॉलेज (गौतम नगर) से 2020 में ग्रेजुएशन किया है। 23 नवंबर 2020 को वह बेटी को लेकर कॉलेज TC (ट्रांसफर सर्टिफिकेट) लेने आए थे। उन्होंने पुलिस को बताया कि बेटी को कॉलेज के गेट पर छोड़कर किसी काम से चले गए। 1 घंटे बाद लौटे तो बेटी नहीं मिली। गौतमनगर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। दूसरे दिन पता चला कि इमला चौकी इलाके में रहने वाले लोकेश मेहर ने बेटी को भगाकर उसके साथ रातीबड़ इलाके की एक संस्था में शादी कर ली है।

टीचर की शिकायत पर पुलिस ने युवक-युवती को बरामद कर लिया। दोनों ने मर्जी से शादी करने की बात कही। बालिग होने पर पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया था।

बर्थ सर्टिफिकेट ने खोली पोल

लड़की के पिता ने शादी कराने वाली संस्था से लोकेश के दस्तावेज लिए। लोकेश ने शादी के लिए जो मार्कशीट लगाई थी, उसमें उसका जन्म 1 फरवरी 1998 दर्ज है। इस हिसाब से 2020 में शादी के वक्त उसकी उम्र 22 साल थी। लड़की के पिता लोकेश के स्कूल हराखेड़ा पहुंचे। मार्कशीट की असल कॉपी निकलवाई। डेट ऑफ बर्थ 1 फरवरी 2001 मिली। इस हिसाब से शादी के वक्त उसकी उम्र 20 साल थी। लोकेश इस स्कूल में 2012 से 2017 तक पढ़ा है। बर्थ सर्टिफिकेट में यही उम्र लिखी थी।

शिकायत पर पुलिस ने जांच की तो पता चला कि लोकेश ने शादी के लिए नई मार्कशीट बनवाई है। इसमें उम्र बढ़ाकर लिखा दी। पुलिस ने अब जाकर आरोपी पर केस दर्ज कर लिया है।

प्राइवेट स्कूल के प्रिंसिपल ने बनाई मार्कशीट
लोकेश ने मार्कशीट प्राइवेट स्कूल से बनवाई थी। पुलिस ने मार्कशीट बनाने वाले उमेद सिंह राठौर को भी आरोपी बनाया है। फिलहाल, प्रिंसिपल की तलाश में पुलिस जुटी है। लोकेश अभी पत्नी के साथ ही भोपाल में रह रहा है। वह निजी काम करता है। पुलिस को पता चला कि दोनों की दोस्ती स्कूल में पढ़ाई के दौरान हुई थी। इसके बाद दोनों का प्रेम-प्रसंग चलने लगा।

खबरें और भी हैं...