• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • There Is A Possibility Of Death Due To The Use Of Medicine Used For Anesthesia, Death Due To This Medicine Within 30 Seconds To 1 Minute

कार में मृत मिले डॉक्टर का मामला:एनेस्थीसिया के लिए उपयोग की जाने वाली दवा के सेवन से मौत की आशंका, इससे 30 सेकंड से 1 मिनट में मौत

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टर दीपक वर्मा की सोमवार को कार में लाश मिली थी। - Dainik Bhaskar
डॉक्टर दीपक वर्मा की सोमवार को कार में लाश मिली थी।

अरेरा कॉलोनी स्थित नर्मदा अस्पताल की पार्किंग में खड़ी कार में डॉक्टर दीपक वर्मा की संदिग्ध मौत के मामले में हबीबगंज पुलिस जांच में जुटी है। पुलिस को आशंका है कि डॉक्टर की मौत एनेस्थीसिया के लिए उपयोग की जाने वाली इंजेक्शन से हुई होगी। उनकी कार में पुलिस को इंटेंसिव केयर के दौरान मरीजों को एमरजेंसी एयरवे मैनेजमेंट की सुविधा के लिए उपयोग की जाने वाली दवा भी मिली थी। आशंका है कि यही दवा लेने से मौत हुई होगी। टीआई बीएस प्रजापति ने बताया कि पुलिस को अभी पीएम रिपोर्ट नहीं मिली है। रिपोर्ट के बाद ही मौत की असल वजह का खुलासा हो सकेगा।

हमीदिया अस्पताल में एनेस्थीसिया एक्सपर्ट डॉक्टर यशवंत धावले बताते हैं कि उक्त ड्रग्स बहुत ही खतरनाक होता है। इसके सेवन के बाद यदि मरीज को ऑक्सीजन सपोर्ट नहीं दिया गया, तो 30 सेकंड से 1 मिनट के अंदर मौत हो जाती है। यह दवा एनेस्थीसिया एक्सपर्ट की सहमति के बाद ही अस्पताल से दी जाती है। बिना डाॅक्टर की अनुमति के इसकी बिक्री पर प्रतिबंध है। बड़ा सवाल यह कि डाॅक्टर को यह दवा कहां से मिली। इसे लेकर भी पुलिस जांच कर रही है।

बता दें कि मूलत: होशंगाबाद के रहने वाले दीपक वर्मा ई-7 अरेरा कॉलोनी में बेटा-बेटी और पत्नी के साथ रहते थे। सोमवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अस्पताल के स्टाफ ने कार में उनका शव मिलने की सूचना पुलिस को दी थी।

अस्पताल जाने का कहकर घर से निकले
डॉक्टर वर्मा रविवार शाम अस्पताल जाने का कहकर घर से निकले थे। सोमवार सुबह भी नहीं लौटे, तो परिवार ने स्टाफ से उनके बारे में बात की। इसी बीच, अस्पताल के एक कर्मचारी की नजर डॉ. वर्मा की कार पर पड़ी, जो अस्पताल की पार्किंग में ही खड़ी थी। कर्मचारी पास जाकर देखा, तो डाॅक्टर वर्मा का शव कार के अंदर मिला। डाॅक्टर वर्मा के पास वार्ड मेडिकल ऑफिसर के अलावा ओटी स्टाफ से समन्वय की जिम्मेदारी थी।

खबरें और भी हैं...