• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • There Is No Supply In 40% Of The Area, People Wandering For Water; Corporation's Tankers Also Broke

पानी को तरसा भोपाल:40% हिस्से में सप्लाई नहीं, गड्‌ढों में भरा पानी तक ले गए लोग; टैंकरों ने भी जवाब दे दिया

भोपालएक महीने पहले
  • रविवार सुबह सुधरेगी सप्लाई

राजधानी भोपाल की करीब 10 लाख आबादी दूसरे दिन शनिवार को भी पानी के लिए तरस गई। नर्मदा लाइन से जुड़े 125 इलाकों में आज भी पानी की सप्लाई नहीं हुई। दोपहर 2 बजे तक टॉवर खड़े हुए, लेकिन लाइन नहीं जोड़ी गई। ऐसे में टंकियां नहीं भर पाएगी और सप्लाई नहीं की जाएगी। इसलिए रविवार को ही लोगों को पानी मिलने की संभावना है। पानी के लिए निगम के टैंकर भी खाली है। जलस्रोतों में पानी नहीं होने से निगम टैंकर नहीं भरवा पा रहा है। इस कारण 100 से ज्यादा शिकायतें पेंडिंग हो गई हैं। इधर, शनिवार को पूरे दिन लोग पानी को लेकर तरस गए।

एलआईसी कार्यालय बी-सेक्टर पिपलानी भेल खजूरीकलां रोड के पास लोग गड्‌ढों से पानी भरने को मोहताज हो गए। इस इलाके में भी पानी नहीं पहुंचा। दूसरी ओर नगर निगम की हेल्पलाइन पर पानी से जुड़ी कुल 100 से अधिक शिकायतें पहुंचीं। इसके अलावा हर वार्ड से लोग पानी के टैंकर के लिए अफसरों से संपर्क करते रहे, लेकिन निगम के टैंकर ही खाली हो गए। जलस्रोतों में पानी ही नहीं बचा। अहमदपुर स्थित पंप हाउस भी खाली हो गया तो टंकियों में भी पानी नहीं था। इस कारण निगम वार्डों में टैंकर भी नहीं पहुंचा पाया।

पानी के लिए इस तरह से भी मशक्कत करते नजर आए लोग। एलआईसी कार्यालय बी-सेक्टर पिपलानी भेल खजूरीकलां रोड के पास दिखा ऐसा नजारा।
पानी के लिए इस तरह से भी मशक्कत करते नजर आए लोग। एलआईसी कार्यालय बी-सेक्टर पिपलानी भेल खजूरीकलां रोड के पास दिखा ऐसा नजारा।

इस कारण आई मुसीबत

आंधी-तूफान के कारण गुरुवार को जहानपुर के पास 132 केवीए लाइन के पांच टॉवर गिर गए थे। इस कारण हिरानी स्थित पंप हाउस पर बिजली सप्लाई बाधित हो गई और नर्मदा लाइन से जुड़े इलाकों में पानी की सप्लाई ठप हो गई। पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी ने लाइन सुधारने के लिए 36 घंटे का शटडाउन लिया था, जो शनिवार दोपहर में पूरा हो गया, लेकिन काम पूरा नहीं हो सका है। दोपहर 2 बजे तक टॉवर तो खड़े कर दिए गए, लेकिन लाइन जोड़ने में समय लग रहा है। शाम तक काम चलता रहा। ईई सीएस कावलकर ने बताया, रविवार सुबह से सप्लाई शुरू कर देंगे।

जहानपुर के पास टॉवर खड़े करने और लाइन जोड़ने का काम चल रहा है। बिजली कंपनी की 5 टीमों में करीब 450 अधिकारी-कर्मचारी इस काम में लगे हैं।
जहानपुर के पास टॉवर खड़े करने और लाइन जोड़ने का काम चल रहा है। बिजली कंपनी की 5 टीमों में करीब 450 अधिकारी-कर्मचारी इस काम में लगे हैं।

रातभर पानी की जुगाड़
शहर के सुभाषनगर, अन्नानगर, बावड़ियाकलां, अशोका गार्डन, जहांगीराबाद, बरखेड़ी, बाग उमराव दूल्हा, अरेरा कॉलोनी, गौतम नगर, टीला जमालपुरा, नारियलखेड़ा, नवीन नगर, शहनशाह गार्डन, एमपी नगर, रायसेन रोड के इलाके, होशंगाबाद रोड की कॉलोनियां समेत 125 से ज्यादा इलाकों में गंभीर जलसंकट खड़ा हो गया। शुक्रवार से ही लोग पानी को तरस गए। गर्मी में पानी की खपत भी बढ़ गई। इस कारण लोग रातभर पानी की जुगाड़ करते रहे। वहीं, शनिवार सुबह से फिर पानी की तलाश शुरू कर दी। लोग मोटरसाइकिल, मैजिक, ऑटो से पानी की जुगाड़ करते हुए देखे जा रहे हैं। वहीं, ट्यूबवेल समेत निजी जलस्रोतों पर भी भीड़ लगी हुई है।

रातभर लोग पानी की जुगाड़ करते रहे।
रातभर लोग पानी की जुगाड़ करते रहे।

कोलार लाइन फिर लीकेज, 50 मीटर दूर पानी को तर
नगर निगम ने इसी महीने नई कोलार लाइन शुरू की है, लेकिन वह भी लीकेज हो रही है। शुक्रवार देर रात बाग उमराव दूल्हा इलाके में लाइन फूट गई और करीब एक घंटे तक पानी बह गया। इससे कुछ दूर पर ही लोग पानी को तरस रहे थे, क्योंकि वह इलाके नर्मदा लाइन से जुड़े हैं।

बाग उमराव दूल्हा इलाके में फूटी नई कोलार लाइन।
बाग उमराव दूल्हा इलाके में फूटी नई कोलार लाइन।

कई लोग बने जलदूत
पानी के लिए भटक रहे लोगों के लिए कई युवा जलदूत बनकर आए हैं। बाग उमराव दूल्हा इलाके के अलमस अली ने बताया, उनके यहां ट्यूबवेल है। इसलिए लोगों को पानी दिया गया। रात 3 बजे तक लोग लाइन लगाकर पानी भरते रहे। शनिवार को भी पानी उपलब्ध करा रहे हैं।

भोपाल के ये इलाके पानी को तरसे

  • जोन- 3 के नारियलखेड़ा, टीला जमालपुरा क्षेत्र।
  • जोन- 6 के मानव संग्रहालय उच्च स्तरीय टैंक से जलप्रदाय किए जाने वाले क्षेत्र।
  • जोन- 8 के जहांगीराबाद, बरखेड़ी, बैंक कॉलोनी, वसुंधरा कॉलोनी का पूरा क्षेत्र।
  • जोन-9 के महाराणा प्रताप नगर, शिवाजी नगर, अरेरा हिल्स, राजीव नगर, अर्जुन नगर, सीआई कॉलोनी, बौगदा पुल, न्यू सुभाष नगर, अफजल कॉलोनी, मोमीनपुरा क्षेत्र।
  • जोन- 10 के बाल विहार, अशोका गार्डन, राजेंद्र नगर, सेमरा, उच्च स्तरीय टैंक, चांदबड़ क्षेत्र।
  • जोन- 11 के नवीन नगर, डी. ग्राउंड हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, जनता क्वाटर्स, शहनशा गार्डन उच्च स्तरीय टैंक से जलप्रदाय किए जाने वाले क्षेत्र।
  • जोन- 12 के गौतम नगर, रचना नगर, कस्तूरबा नगर, अशोका गार्डन, अशोक विहार, सेक्टर-ए व बी, अभिरूचि परिसर, पद्मनाभ नगर, ओल्ड सुभाष नगर, गोविंद गार्डन, विकास नगर, अन्ना नगर क्षेत्र।
  • जोन-13 के बावड़िया कला, मिसरोद, रोहित नगर, इंडस टाउन, सुरेंद्र पैलेस, नारायण नगर, आरआरएल, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, सेंर्चुरी अपार्टमेंट, साकेत नगर 9-ए, 9-बी, महेशमती, अरविंद विहार, बागमुगालिया एक्सटेंशन, लाहरपुर क्षेत्र।
  • जोन-14 के पिपलिया पेंदे खां, बरखेड़ा पठानी, आजाद नगर, शक्ति विहार, समन्वय नगर, अवधपुरी, खजूरीकला, न्यू शिव नगर, अलकापुरी, साकेत नगर 4-ए, बी व सी क्षेत्र।
  • जोन-15 के आनंद नगर, कोकता, ट्रांसपोर्ट नगर, बिजली कॉलोनी, गादियापुरा, जेपी कॉलोनी, अशोक विहार, मानव विहार, बाल विहार, सूर्या कॉलोनी, रत्नागिरी, कालीबाड़ी, 50 क्वाटर्स, 60 क्वाटर्स, 100 क्वाटर्स, सोनागिरी सेक्टर ए, बी व सी, प्रकाश नगर, इंद्रपुरी ए, बी व सी सेक्टर, सतनामी नगर, राजीव नगर ए-सेक्टर, अर्जुन नगर, भारत नगर, जेके रोड, नरेला संकरी, छत्तीसगढ़ लेबर कॉलोनी आदि।
  • जोन-16 के अयोध्या नगर, मीनाल रेसीडेंसी, गोविंदपुरा एरिया, कोलुआ, झील नगर, सेमरा, कैलाश नगर।
  • जोन-19 के कटारा हाउसिंग बोर्ड संपूर्ण क्षेत्र व छात्रावास आदि क्षेत्र।